The Lallantop
Advertisement

यूपी पुलिस कॉन्सटेबल भर्ती: पहले पेपर लीक से इंकार, अब जांच कमेटी बैठाकर सबूत की मांग

UP Police constable exam पर उठे विवाद के बीच UPPRPB ने नोटिस जारी कर अभ्यर्थियों से Paper Leak के सबूत मांगे हैं.

Advertisement
 UPPRPB invites evidence for paper leak questions
UPPRPB ने अभ्यर्थियों से Paper Leak के सबूत मांगे हैं.
font-size
Small
Medium
Large
22 फ़रवरी 2024 (Updated: 22 फ़रवरी 2024, 15:26 IST)
Updated: 22 फ़रवरी 2024 15:26 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड (UPPRPB) ने यूपी पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा में पेपर लीक के सबूत मांगे हैं(UP Police Constable Exam Paper Leak). बोर्ड ने नोटिस जारी इसकी जानकारी दी है. बोर्ड ने अपने नोटिस में कहा है,

"भर्ती परीक्षा के प्रश्नपत्रों के मामले में सोशल मीडिया में कई तरह की ख़बरें हैं. इस संबंध में अभ्यर्थी अलग-अलग जनपदों में आवेदन कर रहे हैं. अगर आप आवेदन देना चाहते हैं, तो सबूतों के साथ अपना प्रत्यावेदन Email ID - board@uppbpb.gov.in पर भेज दें. आवेदन का आख़िरी तारीख़ 23 फ़रवरी 2024 की शाम 6 बजे तक है."

यूपी पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा में लाखों अभ्यर्थियों ने पेपर लीक होने का आरोप लगाया है. इसके लिए अभ्यर्थी अलग-अलग ज़िलों प्रदर्शन कर नाराजगी जता रहे हैं. साथ ही, विधायकों, कलेक्टरों को अपनी मांगों का ज्ञापन सौंप रहे हैं. अभ्यर्थियों की मांग है कि Exam रद्द कर फिर से परीक्षा कराई जाए.

पेपर लीक को लेकर हो रहे हंगामे के बीच उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड ने आंतरिक जांच कमेटी गठित की थी. Uttar Pradesh Police Recruitment and Promotion Board (UPPRPB) की अध्यक्ष रेणुका मिश्रा ने बताया था कि सोशल मीडिया पर पेपर लीक की ख़बरों के बीच इंटरनल कमेटी गठित की गई है. कितने वायरल सवाल पेपर में आए, ये परीक्षा से पहले, बाद में या उस दौरान वायरल हुए. इन सभी तथ्यों की जांच की जाएगी.

ये भी पढ़ें - UP में RO-ARO पेपर लीक मामले में जांच के आदेश

हालांकि उससे पहले बोर्ड ने नोटिस जारी कर पेपर लीक की ख़बरों को निराधार बताया था. इस बारे में बोर्ड ने अपने ट्वीट में लिखा था कि प्रारंभिक जांच में पेपर लीक के बारे में सोशल मीडिया पर भ्रम फैलाया जा रहा है. बोर्ड और यूपी पुलिस द्वारा इनके सोर्स की गहन जांच की जा रही है. परीक्षा सुरक्षित और सुचारू रूप से जारी है.

बता दें, राज्य सरकार ने 60,244 पुलिस कॉन्स्टेबलों की भर्ती निकाली थी. भर्ती बोर्ड ने इसके लिए 17 और 18 फ़रवरी को परीक्षा ली. राज्य के 75 ज़िलों में क़रीब 48 लाख अभ्यर्थी इम्तेहान के लिए बैठे थे. परीक्षा के पहले दिन यानी 17 फ़रवरी से ही परीक्षा के पेपर लीक होने की खबरें सामने आने लगी थीं. 

वीडियो: यूपी पुलिस और यूपीपीएससी आरओ एआरओ पेपर लीक के खिलाफ हजारों छात्र सड़क पर उतरे

thumbnail

Advertisement