The Lallantop
Advertisement

Sandeshkhali: बंगाल में दूसरे दिन भी विरोध-आगजनी जारी, गांववालों ने TMC पर नए आरोप लगाए

Sandeshkhali Protest: इससे पहले ED ने फरार चल रहे आरोपी नेता के घर पर PDS घोटाले के सिलसिले में छापा मारा था.

Advertisement
west bengal sandeshkhali protest fire fisheries tmc shahjahan sheikh bjp majumdar
संदेशखाली में फिर बवाल (फोटो- ANI)
23 फ़रवरी 2024 (Updated: 23 फ़रवरी 2024, 14:30 IST)
Updated: 23 फ़रवरी 2024 14:30 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के संदेशखाली (Sandeshkhali Protest) में 22 फरवरी को जमकर हंगामा हुआ. दूसरे दिन भी विरोध प्रदर्शन जारी है. आगजनी और तोड़फोड़ की खबर सामने आई है. वहां नौ अलग-अलग इलाकों में धारा 144 भी लागू कर दी गई है. स्थानीय लोग कुछ TMC नेताओं की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं. उन पर महिलाओं के यौन उत्पीड़न और लोगों की जमीन हड़पने के आरोप हैं. इनमें सबसे पहला नाम है शाहजहां शेख (Shahjahan Sheikh) का.

खबर है कि ED ने शाहजहां शेख के खिलाफ जमीन हड़पने के मामले में नया केस दर्ज कर लिया है. संदेशखाली और अन्य इलाकों में ED की छापेमारी भी चल रही है. इससे पहले ED ने फरार चल रहे इस TMC नेता के घर पर PDS घोटाले के सिलसिले में छापा मारा था. 

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, 22 फरवरी को कई सारे लोगों ने मिलकर झुपखाली इलाके में एक फिशरी के गार्ड रूम में तोड़फोड़ की और आग लगा दी. इसके बाद उन्होंने वहीं बैठकर विरोध प्रदर्शन किया. आरोप लगाए कि शाहजहां शेख और उसके समर्थकों ने उनकी जमीन हड़प कर उस पर फिशरी बना ली. इसी घटना के बाद प्रशासन ने संदेशखाली की पांच ग्राम पंचायतों के तहत नौ क्षेत्रों में CRPC की धारा 144 लागू कर दी.

23 फरवरी को भी बेदमज़ुर इलाके में मछलीपालन तालाब किनारे बने गार्ड रूम में आगजनी की गई. हालांकि गांववालों का आरोप है कि TMC ने ही गार्ड रूम में आग लगाई ताकि वो गांववालों को फंसा सके. ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि शाहजहां के भाई शिराजुद्दीन ने उनकी 142 बीघा जमीन हड़प ली है. मौके पर पहुंची हंगामा शांत करने की कोशिश कर रही है. 

स्थानीय लोगों का दावा है कि आरोपी नेताओं का विरोध करने पर उन्हें टॉर्चर किया गया. कुछ ने बताया कि TMC नेताओं ने जो जमीन हड़पी है उनमें से ज्यादातर आदिवासी समुदाय की है. इस बीच राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग की एक टीम भी संदेशखाली पहुंची.

पश्चिम बंगाल के पुलिस महानिदेशक राजीव कुमार ने कहा है कि जो आरोपी हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने बताया कि जमीन हड़पने और अन्य मामलों के तहत शिकायतें दर्ज की गई हैं. मामले से जुड़ी एक रिपोर्ट मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) को भी सौंपी गई है.

इस बीच BJP प्रदेश अध्यक्ष सुकांता मजूमदार ने भी कुछ और  BJP नेताओं के साथ शाहजहां शेख की गिरफ्तारी की मांग करते हुए संदेशखाली पुलिस स्टेशन के बाहर विरोध प्रदर्शन किया. कुछ देर बाद पुलिस ने हिरासत में लेकर धमाखली पहुंचाया और फिर छोड़ दिया.

इस महीने की शुरुआत में भी स्थानीय लोगों ने TMC नेता शाहजहां शेख और उनके सहयोगियों उत्तम सरदार और शिबाप्रसाद हाजरा की गिरफ्तारी की मांग करते हुए उग्र प्रदर्शन किया था. उस वक्त शाहजहां के दोनों सहयोगियों को अरेस्ट कर लिया गया था. शाहजहां शेख अब तक फरार है. 

बता दें, उत्तर 24-परगना जिले में सुंदरबन डेल्टा में मौजूद संदेशखाली वही जगह है जहां इस साल की शुरुआत में ED अफसरों पर हमला किया गया था. उस वक्त ED की टीम पब्लिक डिस्ट्रब्यूशन सिस्टम में गड़बड़ी की जांच के सिलसिले में शाहजहां शेख के घर पर तलाशी लेने ही पहुंची थी.

वीडियो: सागरिका घोष को राज्यसभा टिकट मिला, तो राजदीप सरदेसाई समेत और बंगाल के पत्रकार क्या बोले?

thumbnail

Advertisement