The Lallantop
Advertisement

पहले से संकट में फंसे Paytm पेमेंट्स बैंक पर अब साढ़े 5 करोड़ का जुर्माना लगा

पेटीएम पेमेंट्स बैंक पर मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों में ये कार्रवाई हुई है. Paytm पेमेंट्स बैंक की कुछ यूनिट्स और नेटवर्क के ऑनलाइन गैम्बलिंग जैसे कामों से जुड़े होने का पता चला है.

Advertisement
RBI imposes penalty on paytm payments bank money laundering violation of more then 5 crore rupees
पेटीएम पेमेंट्स बैंक पर मनी लॉन्ड्रिंग रोकथाम कानून के तहत कार्रवाई. (तस्वीर- आजतक)
1 मार्च 2024
Updated: 1 मार्च 2024 24:41 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

रिजर्व बैंक की कार्रवाई का पहले से सामना कर रहे Paytm पेमेंट्स बैंक पर अब फाइनेंशियल इंटेलिजेंस यूनिट-इंडिया (FIU-IND) ने एक्शन लिया है. मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों में पेटीएम पेमेंट्स बैंक पर 5.49 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया गया है. FIU को पेमेंट्स बैंक के कुछ यूनिट्स और उनके कारोबार से जुड़ी कंपनियों के संबंध में अवैध गतिविधियों के बारे में जांच एजेंसियों से जानकारी मिली थी. इसमें ऑनलाइन जुए जैसी चीजों में शामिल होने की बात थी. FIU-IND ने रिजर्व बैंक सहित दूसरी एजेंसियों के एक्शन की समीक्षा के बाद ये फैसला लिया है.

क्या है पूरा मामला?

शुक्रवार, 1 मार्च को एक बयान में FIU-IND ने बताया कि कुछ अहम जानकारी के आधार पर पेटीएम पेमेंट बैंक की जांच शुरू की. FIU को ऑनलाइन गैम्बलिंग को ऑर्गेनाइज करने के अलावा सर्विस प्रोवाइड करने सहित कई अवैध काम में लिप्त कुछ संस्थाओं ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक से ट्रांजेक्शन किए हैं. इसके बाद FIU ने जांच के आधार पर प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA) के तहत पेटीएम पेमेंट्स बैंक पर जुर्माना लगाया है.

पेटीएम और पेटीएम पेमेंट बैंक के एग्रीमेंट खत्म

वहीं पेटीएम की पैरेंट कंपनी 'वन97 कम्युनिकेशंस लिमिटेड' और पेटीएम पेमेंट बैंक लिमिटेड (PPBL) ने आपसी सहमति से कई एग्रीमेंट खत्म करने का फैसला किया है. PPBL के खिलाफ कार्रवाई के बीच आपसी निर्भरता कम करने के लिए ग्रुप एंटिटीज के साथ कई इंटर-कंपनी एग्रीमेंट को भी खत्म करने की सहमित बनी है.

इसके अलावा शेयरहोल्डिंग एग्रीमेंट को सरल बनाने पर भी सहमति हुई है. वन 97 कम्युनिकेशंस लिमिटेड ने 1 मार्च को एक्सचेंज फाइलिंग में इसके बारे में जानकारी दी. इसका मतलब है कि पेटीएम पेमेंट्स बैंक और पेटीएम अलग इंडिपेंडेंट एंटिटी के तौर पर काम करेगी.

31 जनवरी को केंद्रीय रिजर्व बैंक (RBI) ने एक आदेश जारी किया था. इसके मुताबिक, पेटीएम पेमेंट बैंक लिमिटेड के ग्राहक खातों, वॉलेट और फास्टैग पर रोक लगा दी थी. 15 मार्च के बाद इन सबको स्वीकार नहीं किया जाएगा. हालांकि, पेटीएम ऐप, पेटीएम क्यूआर, पेटीएम साउंड बॉक्स और पेटीएम कार्ड मशीन काम करती रहेंगी. RBI ने बताया था कि बार-बार चेतावनी के बाद भी नियम-कानून का पालन करने में पेटीएम पेमेंट्स बैंक विफल रही.

ये भी पढ़ें-"क्या पेटीएम पर लिए एक्शन पर दोबारा सोचेंगे?" RBI गवर्नर ने ये जवाब दिया 

विजय शेखर शर्मा का इस्तीफा

पिछले महीने के अंत में पेटीएम के संस्थापक और सीईओ विजय शेखर शर्मा ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक के नॉन-एग्जीक्यूटिव चेयरमैन पद से इस्तीफा दे दिया था. बताया गया कि कुछ नए लोगों को बोर्ड में शामिल किया गया है. अब पेटीएम पेमेंट्स बैंक के भविष्य के कारोबार का नेतृत्व नया बोर्ड करेगा.

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement