The Lallantop
Advertisement

"महुआ मोइत्रा कर रहीं जासूसी"- एक्स बॉयफ्रेंड ने सीधे गृह मंत्रालय को लिख दी चिट्ठी

TMC नेता Mahua Moitra पर एक और आरोप लगा है. सुप्रीम कोर्ट के वकील Jai Anant Dehadrai ने कहा है कि मोइत्रा उनके फोन नंबर को ट्रैक कर उनकी लोकेशन का पता लगा रही हैं.

Advertisement
mahau moitra tmc leader ex boyfriend illegal surveillance jai anant dehadrai
महुआ मोइत्रा पर जय अनंत देहाद्राई की जासूसी कराने का आरोप लगा है. (फाइल फोटो: इंडिया टुडे)
font-size
Small
Medium
Large
3 जनवरी 2024
Updated: 3 जनवरी 2024 14:34 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

तृणमूल कांग्रेस की नेता महुआ मोइत्रा (TMC Leader Mahua Moitra) पर अपने एक्स बॉयफ्रेंड की जासूसी (illegal surveillance) करने का आरोप लगा है. सुप्रीम कोर्ट के वकील जय अनंत देहाद्राई (Jai Anant Dehadrai) ने इस संबंध में CBI और गृह मंत्रालय को चिट्ठी लिखी है. न्यूज एजेंसी ANI की रिपोर्ट के मुताबिक, देहाद्राई ने कहा है कि वो इस मामले में पीछे नहीं हटने वाले हैं.

जय अनंत देहाद्राई 'कैश फॉर क्वेरी' मामले में भी शिकायतकर्ता थे. इस मामले में महुआ मोइत्रा को संसद से निलंबित कर दिया गया था. देहाद्राई ने 3 दिसंबर को ANI को बताया,

"मैंने अपनी शिकायत CBI को दे दी है. ये एक बहुत ही गंभीर मामला है. ओडिशा के कुछ लोग हैं जो उन लोगों को पैसे से मदद कर रहे हैं, जिनके खिलाफ मैंने शिकायत दर्ज कराई है. ये लड़ाई थोड़ी खतरनाक है, लेकिन मैं पीछे नहीं हटूंगा.''

जय अनंत ने मोइत्रा पर आरोप लगाया कि वो पश्चिम बंगाल पुलिस में अपने संपर्कों का इस्तेमाल कर उनकी जासूसी करवा रही हैं. उन्होंने 29 दिसंबर को CBI डायरेक्टर प्रवीण सूद और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को एक पत्र लिखा. पत्र में लिखा गया है कि ऐसी आशंका है कि TMC नेता उनके फोन नंबर को ट्रैक कर उनके लोकेशन का पता लगा रही हैं. उन्होंने आरोप लगाया,

"मोइत्रा ने पहले भी पश्चिम बंगाल पुलिस के कुछ वरिष्ठ अधिकारियों से अपने संपर्क का दुरूपयोग किया है. ऐसा करके उन्होंने पहले भी कॉल डिटेल रिकॉर्ड (CDR) निकलवाया है. ताकि वो कुछ लोगों को स्टॉक कर सकें."

ये भी पढ़ें: जगदीप धनखड़ पर अब महुआ मोइत्रा का हमला, कहा- 'अपने ओहदे का...'

उन्होंने अपनी शिकायत में कहा कि मोइत्रा ने 2019 में सुहान मुखर्जी नाम के एक व्यक्ति को ट्रैक किया था. उन्होंने चिट्ठी में आगे लिखा,

“मोइत्रा ने मुझे पहले भी कई मौकों पर इस बारे में बताया था. मौखिक रूप से भी और लिखित रूप से. मोइत्रा ने 26 सितंबर 2019 को लिखित रूप से व्हाट्सएप पर बताया था कि वो अपने पूर्व प्रेमी सुहान मुखर्जी पर नजर रख रही हैं. क्योंकि उन्हें शक है कि सुहान का एक जर्मन महिला के साथ संबंध है.”

जय अनंत ने आगे आरोप लगाया,

"पश्चिम बंगाल पुलिस के अधिकारियों की मदद से मोइत्रा को मुखर्जी का पूरा कॉल रिकॉर्ड मिल गया था. मोइत्रा ने उन लोगों के बारे में एकदम सही जानकारी दी थी जो मुखर्जी के संपर्क में थे. साथ ही उन्होंने ये भी बताया था कि दिन के किस समय मुखर्जी की लोकेशन कहां थी."

अधिवक्ता ने आगे कहा कि मोइत्रा पहले भी उनको धमकी दे चुकी हैं. और कई बार उनको ऐसा लगा कि दिल्ली के बाहर कोई उनकी कार का पीछा कर रहा है. 

ANI की रिपोर्ट के अनुसार, इस मामले में TMC सांसद की प्रतिक्रिया भी आ गई है. उन्होंने सोशल मीडिया X (ट्विटर) पर एक पोस्ट किया है. उन्होंने लिखा,

“मैं गृह मंत्रालय से आग्रह करती हूं कि CBI का एक स्पेशल डायरेक्टर नियुक्त किया जाए. जो देश भर के हताश पूर्व प्रेमियों के शिकायत की जांच करेंगे.”

इससे पहले, 'कैश फॉर क्वेरी' मामले में मोइत्रा को संसद की एथिक्स कमेटी की रिपोर्ट के बाद लोकसभा से निष्कासित कर दिया गया था. जिसपर उन्होंने कहा था कि एथिक्स कमेटी ने जांच की तह तक पहुंचे बिना ही फैसला सुना दिया. इसे लेकर मोइत्रा सुप्रीम कोर्ट पहुंची थीं. इधर, सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में लोकसभा सचिवालय को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है.

ये भी पढ़ें: संसद सदस्यता रद्द होने के बाद महुआ मोइत्रा पर एक और आफत

वीडियो: दुनियादारी: जापान भूकंप के बाद क्या दिखा, सेना तैनात, दुनिया क्या सीख सकती है?

thumbnail

Advertisement