The Lallantop
Advertisement

इजरायल ने 2 लोगों को छुड़ाने को ताबड़तोड़ बम बरसा दिए, 37 आम फिलिस्तीनियों की जान चली गई

Israel-Hamas के बीच चल रहे युद्ध में अब इजरायल ने हवाई हमले किए हैं, इसमें रफ़ा (Rafah) के राहत कैम्प, मस्जिद और घर भी टूट गए हैं, क्यों इजरायल ने ऐसा अटैक किया? अमेरिका ने इससे पहले उससे क्या कहा था?

Advertisement
rafah air strike
रफ़ा एयर स्ट्राइक में 37 लोगों के मरने की ख़बर है. (फ़ोटो - AFP)
font-size
Small
Medium
Large
12 फ़रवरी 2024
Updated: 12 फ़रवरी 2024 11:13 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

इजरायल (Israel) ने एक स्पेशल अभियान में गाजा के दक्षिणी शहर रफ़ा (Rafah) से दो इजरायली बंधकों को छुड़वा लिया है. मगर गाजा (Gaza) के स्थानीय स्वास्थ्य अफ़सरों ने बताया कि इस ऑपरेशन के दौरान इजरायल ने जो हवाई हमले किए, उसमें 37 आम फ़िलिस्तीनी नागरिक मारे गए और दर्जनों घायल हैं.

सोमवार, 12 फरवरी को इजरायल की सेना ने जानकारी दी कि उन्होंने दक्षिणी गाजा पर कई हमले किए. इजरायल रक्षा बल, इजरायल की घरेलू शिन बेट सुरक्षा सेवा और रफ़ा में पुलिस की एक विशेष यूनिट ने एक संयुक्त अभियान में दो इजरायली नागरिकों - 60 वर्षीय फर्नांडो साइमन मार्मन और 70 वर्षीय लुईस हेयर - को मुक्त करा लिया है. हालांकि, उन्होंने ऑपरेशन के बारे में ज्यादा नहीं बताया.

न्यूज़ एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक़, इस ऑपरेशन में इजरायल की तरफ़ से विमान, टैंकों और जहाज भेजे गए थे. 37 ज़िंदगियों के नुक़सान के अलावा दो मस्जिदें, राहत कैम्प और कई घर टूट गए हैं.

ये भी पढ़ें - अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने हमास को ऐसा क्या कह दिया कि मांगनी पड़ी माफी?

हाल ही में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से फ़ोन पर बात की थी. कहा था कि नागरिकों की सुरक्षा के लिए एक योजना बनाए बिना रफ़ा पर हमला न करें. सहायता एजेंसियों का कहना है कि रफ़ा इजरायल के सैन्य आक्रमण से तबाह हुए इलाक़े में बचा हुआ आख़िरी पनाहगाह है. कई राहत कैम्प इसी इलाके में हैं. कहा जा रहा है कि मारे गए कुछ लोग भी राहत में रहते थे. 

इससे पहले भी जब-जब इजरायल ने गाजा पर हमला किया, तो कभी फ़िलिस्तीनियों के निकलने के लिए कोई योजना नहीं बताई थी. बस चेतावनी जारी कर दी, कि हमले करने वाले हैं.

दोनों बंधकों को छुड़ाने के लिए इजरायल ने हवाई हमले किए. रफ़ा में लोग सो रहे थे. बम धमाकों और इमारतों के गिरने की गूंज से लोग उठे. पूरे शहर में दहशत फैल गई.

ये भी पढ़ें - वो 6 मौक़े, जब इजरायल-हमास के बीच हुई भीषण 'जंग' में मारे गए हज़ारों निर्दोष लोग

इजरायली आंकड़ों के मुताबिक़, चरमपंथी समूह हमास ने 7 अक्टूबर को दक्षिणी इजरायल में लगभग 1,200 लोगों की हत्या कर दी थी और कम से कम 250 लोगों को अगवा कर लिया था. इसके जवाब में इजरायल ने गाजा पट्टी पर सैन्य हमला किया, जिसमें अब तक 28,000 से ज़्यादा फ़िलिस्तीनी मारे जा चुके हैं.

Israel-Hamas जंग ख़त्म कब होगी?

पिछले हफ्त़े, हमास ने 2 महीने के युद्धविराम का प्रस्ताव रखा था. इसके तहत, सभी बंधकों को रिहा कर दिया जाएगा, इजरायल गाजा से अपने सैनिकों को वापस ले ले और युद्ध की समाप्ति पर एक समझौता किया जाए. लेकिन प्रधानमंत्री नेतन्याहू ने हमास के प्रस्ताव को ख़ारिज कर दिया. रविवार, 11 फ़रवरी को आए एक इंटरव्यू में इजरायली प्रधानमंत्री ने कहा कि गाजा में अभी भी 132 इजरायली बंधक जीवित हैं और ये युद्ध को सही ठहराने के लिए 'काफ़ी' है.

thumbnail

Advertisement