The Lallantop
Advertisement

अगले महीने सरकार बढ़ा सकती है महंगाई भत्ता, 1 मार्च से पहले ये जरूरी काम निपटा लें

अगले महीने बैंकों में कितने दिन अवकाश रहेगा? डीए यानी महंगाई भत्ते को लेकर क्या बदलाव होने जा रहा है?

Advertisement
new rule in march
केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता बढ़ना संभव. ( फोटो - इंडिया टुडे )
26 फ़रवरी 2024
Updated: 26 फ़रवरी 2024 23:17 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

फरवरी का महीना खत्म होने वाला है और मार्च की शुरुआत में महज चंद दिन बाकी हैं. एक मार्च से कई बदलाव होने जा रहे हैं. इनका सीधा असर आपकी पॉकेट और जिंदगी पर पड़ेगा. अगर अगले महीने आपको बैंक से जुड़ा कोई जरूरी काम है, तो समय रहते निपटा लें, क्योंकि अगले महीने कई दिन बैंकों में काम-काज नहीं होगा. इसी तरह मार्च में आधार कार्ड से जुड़ा एक नियम बदलने वाला है. अगले महीने बैंकों में कितने दिन अवकाश रहेगा? डीए यानी महंगाई भत्ते को लेकर क्या बदलाव होने जा रहा है? और मुफ्त में आधार अपडेट करने और पेटीएम फास्टैग को बंद करने की आखिरी तारीख क्या है?

सरकार बढ़ाएगी महंगाई भत्ता!

अगले महीने सरकारी कर्मचारियों को बड़ी खुशखबरी मिल सकती है. मोदी सरकार केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता बढ़ाने का एलान कर सकती है. उम्मीद जताई जा रही है कि सरकार मार्च में महंगाई भत्ते में 4 फीसदी का इजाफा कर सकती है. अगर केन्द्र सरकार ये फैसला लेती है तो कुल महंगाई भत्ता 50 फीसदी पहुंच जाएगा. ऐसे में सरकारी कर्मचारियों की सैलरी में बंपर उछाल देखने को मिलेगा.

केंद्रीय कर्मचारियों को मिलने वाले महंगाई भत्ते में साल में दो बार बदलाव किया जाता है. आमतौर पर सरकार पहला संशोधन जनवरी महीने में और दूसरा जुलाई में करती है. चूंकि जनवरी से अब तक मोदी सरकार ने डीए पर कोई घोषणा नहीं की है. ऐसे में माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव से पहले सरकार डीए बढ़ाने का एलान कर सकती है. इस फैसले से केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनभोगियों दोनों को बड़ा फायदा होगा. केंद्रीय कर्मचारियों को फिलहाल 46 फीसदी महंगाई भत्ता मिल रहा है.

डियरनेस अलाउंस होता क्या है?

हिंदी में इसे महंगाई भत्ता कहते हैं. अगर आपकी कमाई महंगाई की तुलना में कम बढ़ रही है तो इसका मतलब होता है कि आपकी कमाई घट रही है. इसे और खुलकर समझते हैं. मान लीजिए आप किसी बैंक की एफडी में अपना पैसा लगाते हैं और आपको इस पर महंगाई की दर से ज्यादा ब्याज या रिटर्न नहीं मिल रहा है तो इसका मतलब हुआ कि आपके निवेश किए गए पैसे कम होते जा रहे हैं. सरकार महंगाई के बोझ को कम करने के लिए अपने कर्मचारियों और पेंशनधारियों को महंगाई भत्ता और महंगाई राहत देती है. डीए सरकारी कर्मचारियों को दिया जाता है, जबकि डीआर यानी Dearness Relief पेंशनर्स को दिया जाता है. इससे पहले 2023 के अक्टूबर महीने में केंद्र सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों के डीए में 4 फीसदी की बढ़ोत्तरी का तोहफा दिया था.

महंगाई भत्ते का कैलकुलेशन कैसे होता है?

सातवें वेतन आयोग के महंगाई भत्ते की मौजूदा दर को मूल वेतन यानी Basic Pay से गुना करने पर महंगाई भत्ते की रकम निकाली जाती है. केंद्रीय कर्मचारियों के लिए डीए निकालने के लिए ताजा कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स फॉर इंडस्ट्रीयल वर्कर्स (CPI-IW) के आंकड़ों का इस्तेमाल किया जाता है. मिनिमम और मैक्सिमम बेसिक सैलरी के हिसाब से आपको डीए का हिसाब किताब समझाते हैं. मान लेते हैं अगर कर्मचारी की बेसिक सैलरी 18000 रुपये है. मौजूदा 46 फीसदी डीए के हिसाब से इस कर्मचारी को हर महीने 8,280 रुपये अलग से डीए के नाम पर मिलते हैं. वहीं इसमें 4 फीसदी की बढ़ोतरी के बाद अगर 50 फीसदी के हिसाब से गणना करें तो ये बढ़कर 9 हजार रुपये हो जाएगा.

अब बात करते हैं मैक्सिमम बेसिक सैलरी पर डीए में इजाफे की यानी 56,900 रुपये सैलरी की. मौजूदा दर यानी 46 फीसदी के हिसाब से डीए के मद में इसे हर महीने 26,174 रुपये मिल रहे होंगे. डीए 50 फीसदी होने पर यह रकम 28,450 रुपये हो जाएगी.

अगले महीने 14 दिन तक बैंक रहेंगे बंद

अगले महीने बैंक से जुड़ा कोई जरूरी काम है तो बिना देरी किये निपटा लें. क्योंकि मार्च में होली समेत कई छोटे-मोटे त्योहार हैं. इन त्योहारों की वजह से मार्च में 14 दिन बैंकों में काम काज नहीं होगा. अगले महीने होली, महाशिवरात्रि से लेकर गुड फ्राइडे जैसे तमाम मौकों पर बैंक बंद रहेंगे. ऐसे में RBI की लिस्ट देखकर ही बैंक जाने के लिए घर से निकलें. रिजर्व बैंक द्वारा अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर बैंक हॉलीडे लिस्ट अपलोड की जाती है और मार्च महीने की लिस्ट के मुताबिक, करीब 14 दिन बैंकों में कामकाज नहीं होगा. इसलिए आप मार्च में बैंक से जुड़े काम के लिए घर से निकलें, तो आरबीआई की आधिकारिक वेबसाइट पर क्लिक करके छुट्टी के बारे में जानकारी जरूर चेक कर लें. 

केंद्रीय बैंक के घोषित किए गए बैंकिंग हॉलीडे में दूसरे और चौथे शनिवार के साथ ही रविवार के साप्ताहिक अवकाश भी शामिल हैं. हालांकि बैकिंग हॉलीडे राज्यवार अलग-अलग हैं. बिहार समेत कुछ जगहों पर 26 और 27 मार्च को भी होली की छुट्टी घोषित की गई है. एक ओर जहां 26 मार्च को होली के बिहार, मणिपुर और ओडिशा में बैंक हॉलीडे है, तो वहीं 27 मार्च को भी होली के उपलक्ष्य में बिहार में बैंक की छुट्टी रखी गई है.

शेयर मार्केट से जुड़ा ये नियम बदला

देश के सबसे प्रमुख शेयर बाजारों में से एक नेशनल स्टॉक एक्सचेंज यानी NSE ने निफ्टी बैंक के डेरिवटेव सौदों की एक्सपायरी को लेकर एक बड़ा बदलाव किया है. अब तब बैंक निफ्टी के डेरिवेटिव सौदों की एक्सपायरी महीने के आखिरी गुरुवार को होती थी. अब इसका दिन बदल दिया गया है. ताजे बदलाव के बाद निफ्टी बैंक के एफएंडओ कॉन्ट्रैक्ट अब हर महीने के आखिरी बुधवार को एक्सपायर होंगे. यह बदलाव बैंक निफ्टी के सभी फ्यूचर एंड ऑप्शंस कॉन्ट्रैक्ट जैसे मंथली व क्वार्टरली पर लागू होगा. कॉन्ट्रैक्ट साइकल एक्सपायरी के दिन में यह बदलाव तत्काल प्रभाव से लागू नहीं हो रहा है. एनएसई ने इस बदलाव के लिए दो महीने का समय दिया है. एनएसई के अनुसार, एक्सपायरी को लेकर किया गया ये बदलाव 1 मार्च 2024 से लागू होगा.

मुफ्त में आधार अपेडट करने की आखिरी तारीख 

आधार कार्ड एक ऐसा डॉक्यूमेंट है, जिसका इस्तेमाल आज हर जगह हो रहा है. सिम कार्ड लेने से लेकर बैंक खाता खुलवाने तक, हर जगह आधार एक जरूरी दस्तावेज बन चुका है. तमाम सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए भी आधार कार्ड ही मांगा जाता है. इसीलिए आपको अपना आधार कार्ड पूरी तरह से अपडेट रखना चाहिए. इसके लिए ऑनलाइन आप आवेदन भी कर सकते हैं, लेकिन आपको कुछ पैसे देने होते हैं. लेकिन अब UIDAI की तरफ से एक विंडो खोली गई है, जिसमें आप अपना आधार मुफ्त में अपडेट कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें- मोदी सरकार के इस फैसले से केंद्र सरकार के कर्मचारियों की जेब पर असर पड़ेगा

UIDAI की तरफ से मुफ्त में आधार अपडेट करने की आखिरी तारीख 14 मार्च रखी गई है. लेकिन ऐसे लोग मुफ्त में अपना आधार अपडेट करवा सकते हैं, जिनका आधार 10 साल पहले बना हो. अगर आपने आधार कार्ड बनने के बाद से इसे अपडेट नहीं करवाया है तो आप मुफ्त में इसे अपडेट करवा सकते हैं. इसके लिए आपको UIDAI की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना लॉगइन करना होगा. आमतौर पर लोग आधार कार्ड में अपना पता अपडेट करते हैं, वहीं कुछ लोग अपने नाम को भी अपडेट करते हैं. इसके लिए UIDAI की तरफ से कुछ चार्ज भी वसूला जाता है, जो करीब 50 रुपये का होता है. आप आधार को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही तरह से अपडेट करवा सकते हैं.

पेटीएम फास्टैग को बंद करने की आखिरी तारीख 

आरबीआई की तरफ से पेटीएम पेमेंट बैंक पर रोक लगाने का फैसला किया गया है. पेटीएम पेमेंट बैंक को फास्टैग प्रोवाइडर्स की लिस्ट से भी हटा दिया गया है, जिसके बाद अब 15 मार्च के बाद पेटीएम वाले फास्टैग काम करना बंद कर देंगे. दरअसल, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की तरफ से फास्टैग के लिए जिन 32 बैंकों की लिस्ट जारी की गई है, उसमें पेटीएम पेमेंट बैंक का नाम शामिल नहीं है. यानी आपको किसी भी हाल में अपना फास्टैग बदलना होगा. इसके लिए आपको सबसे पहले फास्टैग को बंद करने की रिक्वेस्ट डालनी होगी. फास्टैग पेटीएम पोर्टल पर लॉगइन करने के बाद आपको हेल्प वाले ऑप्शन पर जाना होगा. इसके बाद यहां फास्टैग बंद करने का ऑप्शन आपको दिखेगा. इस पर क्लिक करने के बाद आपका फास्टैग पेटीएम बैंक से बंद हो जाएगा.

वीडियो: खर्चा पानी: Paytm, Byju's की बर्बादी की पूरी कहानी

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement