The Lallantop
Advertisement

प्रज्ञा ठाकुर, प्रवेश वर्मा, मीनाक्षी लेखी...BJP ने और किसका-किसका टिकट काटा?

BJP Candidate List: पार्टी ने Loksabha Election 2024 के लिए 195 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर दी है. इस लिस्ट में सबसे ज्यादा उम्मीदवार UP के हैं.

Advertisement
BJP Candidate List
बीजेपी ने लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी की. (फोटो-Aaj Tak)
font-size
Small
Medium
Large
2 मार्च 2024 (Updated: 2 मार्च 2024, 22:11 IST)
Updated: 2 मार्च 2024 22:11 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

लोकसभा चुनाव के लिए आई बीजेपी उम्मीदवारों की पहली लिस्ट (BJP List Lok Sabha) कई मंत्रियों और सांसदों के लिए बुरी खबर लेकर आई है. 195 सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा कर दी गई है और लिस्ट के मुताबिक कई मंत्रियों और सांसदों का टिकट कट गया है. देखते हैं, कौन हैं वो सिटिंग सांसद या मंत्री, जिनको पार्टी ने इस बार टिकट नहीं दिया है.

प्रज्ञा ठाकुर

प्रज्ञा 2019 में कांग्रेस के कद्दावर नेता दिग्विजय सिंह को हराकर मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से सांसद बनीं. उन पर 2008 में हुए मालेगांव ब्लास्ट का आरोप है. 2017 में बेल मिली थी. जिसके बाद पार्टी ने उन्हें सांसदी का टिकट दिया था. लेकिन इस बार उनका टिकट कट गया. सांसद बनने के बाद गोडसे पर दिए प्रज्ञा के बयान ने बैठे-बिठाए बीजेपी के लिए एक विवाद खड़ा कर दिया था. उन्होंने कहा था कि महात्मा गांधी की हत्या करने वाला नाथूराम गोडसे भी देशभक्त था. प्रज्ञा के इस बयान के बाद पीएम मोदी को भी प्रतिक्रिया देनी पड़ी थी.

प्रवेश वर्मा 

पश्चिमी दिल्ली की सीट से प्रवेश वर्मा पिछले दो बार से सांसद चुनकर आ रहे थे. लेकिन इस बार पार्टी ने टिकट काट दिया. उनकी जगह इस बार कमलजीत सहरावत को टिकट दिया गया है. प्रवेश दिल्ली के पूर्व सीएम साहिब सिंह वर्मा के बेटे हैं. साहिब जितने शांत स्वभाव के लिए जाने जाते थे, प्रवेश के बयान उतने ही विवादों में रहते हैं. अक्टूबर 2022 में प्रवेश वर्मा ने वीएचपी के एक कार्यक्रम में दिल्ली में एक खास धर्म के लोगों के खिलाफ भड़काऊ बयान दिया था. उन्होंने 'विशेष समुदाय' के लोगों को बॉयकॉट करने की बात कही थी.

मीनाक्षी लेखी 

मीनाक्षी मोदी कैबिनेट की उन मंत्रियों में शामिल हैं जिनका टिकट कट गया है. नई दिल्ली विधानसभा से सांसद मीनाक्षी लेखी को 2021 में कैबिनेट रिशफल में मंत्रालय दिया गया. उन्हें जयशंकर के अंडर विदेश राज्य मंत्री बनाया गया. 2019 में इस बात की चर्चा भी थी कि लेखी को सोनिया गांधी के खिलाफ रायबरेली से उतारा जाएगा. लोकसभा चुनाव से ठीक पहले उन्होंने रफाल मामले में तब कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की. पार्टी ने उन्हें नई दिल्ली से सासंदी की टिकट दिया और वो जीतीं भी. उनकी सीट से इस बार पूर्व विदेश मंत्री दिवंगत सुषमा स्वराज की बेटी बांसुरी स्वराज को टिकट दिया गया है.

यह भी पढ़ें: BJP ने पहली लिस्ट में जिन नए चेहरों पर जताया भरोसा, कौन हैं ये नेता?

रमेश बिधूड़ी 

दक्षिणी दिल्ली से सांसद रमेश बिधूड़ी का टिकट भी इस बार कट गया है. 2014 से दक्षिणी दिल्ली से सांसद हैं. 2019 में उनके खिलाफ आम आदमी पार्टी से राघव चड्ढा और कांग्रेस से बॉक्सर विजेंद्र सिंह खड़े थे. सितंबर 2021 में रमेश बिधूड़ी तब चर्चा में आए थे जब उन्होंने लोकसभा में बसपा के सांसद दानिश अली (अब पार्टी से निष्कासित) पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. रमेश बिधूड़ी की जगह दक्षिणी दिल्ली से इस बार रामवीर बिधूड़ी को टिकट दिया गया है.

डॉ. हर्षवर्धन  

हर्षवर्धन मोदी सरकार में स्वास्थ्य विभाग का जिम्मा संभाल चुके हैं. हालांकि, 2021 में कैबिनेट रीशफल में उनका मंत्री पद छिन गया था. इस बार उनका टिकट भी कट गया. वो चांदनी चौक से सांसद हैं. उनकी जगह इस बार प्रवीण खंडेलवाल को टिकट दिया गया है.

इसके अलावा मध्य प्रदेश की गुना और विदिशा सीट से भी बीजेपी ने अपने उम्मीदवार बदल दिए हैं. क्योंकि गुना से केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को टिकट दिया गया है. सिंधिया जब कांग्रेस में थे तब गुना से ही वो लोकसभा में राहुल गांधी के पीछे बैठते थे. लेकिन 2019 में बीजेपी के केपी यादव ने सिंधिया को हरा दिया था. पर इस बार उन्हीं यादव का टिकट काटकर सिंधिया को दे दिया गया. विदिशा सीट पर मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को जगह दी गई है. हाल ही उनके हाथ से मुख्यमंत्री की कुर्सी निकली है. पार्टी उन्हें केंद्र सरकार में स्थान दे सकती है. 

वीडियो: लोकसभा चुनाव से पहले गौतम गंभीर ने अचानक पॉलिटिक्स छोड़ने का प्लान क्यों बनाया?

thumbnail

Advertisement