The Lallantop
Advertisement

तीसरी क्लास की छात्रा का गैंगरेप, हत्या के बाद शव नहर में फेंका, आरोपी उसी के स्कूल के छात्र

Andhra Pradesh: पुलिस ने अपनी जांच में बताया कि बच्ची कक्षा 3 की छात्रा थी. उसी स्कूल में छठवीं क्लास में पढ़ने वाले दो 12 वर्षीय और सातवीं क्लास के एक छात्र ने इस अपराध को अंजाम दिया.

Advertisement
Sniffer dog seraching for the accused in Muchumarri area. (Photo: Screengrab/India Today)
तलाशी अभियान में जुटा डॉग स्क्वाड (फोटो-स्क्रीनग्रैब/इंडिया टुडे)
11 जुलाई 2024
Updated: 11 जुलाई 2024 17:12 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

आंध्र प्रदेश के नांदयाल जिले में रेप और हत्या की हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है. यहां के पगिडयाला मंडल के मुचुमरी गांव में कथित तौर पर तीन नाबालिग लड़कों ने अपने ही स्कूल की आठ साल की बच्ची से गैंग रेप किया, फिर उसकी निर्मम हत्या कर शव नहर में फेंक दिया. घटना रविवार, 7 जुलाई को हुई, लेकिन बुधवार 10 जुलाई को मामले का खुलासा तब हुआ, जब पुलिस ने आरोपियों को हिरासत में लिया. पुलिस के मुताबिक, बच्ची तीसरी कक्षा की छात्रा थी, जबकि दो आरोपी छठवीं कक्षा के छात्र हैं और एक छात्र सातवीं कक्षा का छात्र है. तीनों की उम्र 12 से 13 साल है.

इंडिया टुडे की अपूर्वा जयचंद्रन की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने बताया कि नाबालिग लड़की के पिता ने रविवार को बच्ची की गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई थी. शिकायत में उन्होंने पुलिस को बताया कि उनकी बेटी पास के मुचुमरी पार्क में खेल रही थी, लेकिन वापस नहीं लौटी. शिकायत के बाद पुलिस ने तलाशी अभियान शुरू किया. पुलिस ने पार्क की छानबीन की और स्थानीय लोगों से पूछताछ की, लेकिन लड़की नहीं मिली.

ये भी पढ़ें - मंडप में पहुंचा दूल्हा, मोबाइल पर आने लगे फोटो-वीडियो, फिर आया फोन और बिना दुल्हन लौट गई बारात

इसके बाद पुलिस ने मौके पर डॉग स्क्वॉड को भी कार्रवाई के लिए बुलाया. खोजी कुत्तों की मदद से पुलिस तीनों नाबालिग लड़कों के घर तक पहुंच पाई. शुरुआती जांच के बाद नाबालिग लड़कों को हिरासत में ले लिया गया. पूछताछ करने पर उन्होंने कथित तौर पर बच्ची के साथ बलात्कार और हत्या करने की बात कबूल कर ली.

पुलिस को दिए अपने बयान में आरोपियों ने बताया कि उन्होंने बच्ची को मुचुमरी पार्क के पास खेलते हुए देखा था. जिसके बाद उन्होंने उसे अपने साथ खेलने के लिए राजी किया. खेल के बहाने तीनों लड़के बच्ची को मुचुमरी सिंचाई परियोजना के पास एक सुनसान जगह पर ले गए और उससे ‘सामूहिक बलात्कार’ किया. बच्ची इसकी शिकायत न कर दे, इस डर से तीनों लड़कों ने उसकी हत्या कर दी और अपना अपराध छिपाने के लिए शव को पास की नहर में फेंक दिया. फिर तीनों मौके से फरार हो गए.

घटनास्थल पर कोई मौजूद नहीं था, लेकिन पुलिस ने उन्हें खोजी कुत्तों की मदद से पकड़ लिया. पुलिस अभी तक लड़की के शव का पता नहीं लगा पाई है. नहर में पानी का स्तर बहुत गहरा है और यह स्पष्ट नहीं है कि मॉनसून की बारिश के कारण शव बहकर दूर चला गया या नहीं. बॉडी को बाहर निकालने के लिए नहर के किनारे तलाशी अभियान तेज कर दिया गया है. मुचुमरी पुलिस स्टेशन के सब-इंस्पेक्टर जयशेखर ने कहा कि वे अभी भी इसे गुमशुदगी का मामला मान रहे हैं, क्योंकि लड़की का शव अभी तक नहीं मिला है.

वीडियो: कठुआ आतंकी हमले में शहादत देने वाले जवानों की कहानी

thumbnail

Advertisement

Advertisement