Thelallantop

ऑक्सफोर्ड ने पीएम मोदी के बोले इस शब्द को चुना 2020 का हिंदी शब्द

मोदी सरकार को उन ऑयल बॉन्ड की कीमत अदा करनी है जो पिछली सरकारों ने लिए थे. लेकिन अभी तक उन्होंने यह काम सिर्फ एक बार किया है.

अंग्रेजी में जब-जब किसी भरोसेमंद डिक्शनरी की जरूरत होती है, ऑक्सफोर्ड का नाम जेहन में आता है. इसकी एक वजह इसकी विश्वसनीयता तो है ही, लगातार डिक्शनरी को अपग्रेड करते रहना भी है. ऑक्सफोर्ड हर साल उन शब्दों को डिक्शनरी में जोड़ता है, जो दुनिया में चर्चा का विषय बनते हैं. साल 2020 में हिंदी के जिस शब्द को ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में जगह मिली है, वो है- आत्मनिर्भरता.

ऑक्सफोर्ड ने अपने बयान में कहा है कि उसने साल 2020 के हिंदी शब्द के लिए जनता की ओर से भेजे गए सुझावों की समीक्षा की. ऑक्सफोर्ड के पास हिंदी भाषा विशेषज्ञों की एक टीम है. इस टीम में कृतिका अग्रवाल, पूनम निगम सहाय और इमोगन फॉक्सेल शामिल हैं. टीम ने इन सुझावों को देखा और ‘आत्मनिर्भरता’ शब्द को चुना.  ‘ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस इंडिया’ के मैनेजिंग डायरेक्टर शिवरामकृष्णन वेंकटेश्वरन ने कहा कि इस शब्द को कोविड-19 से प्रभावित अर्थव्यवस्था से निपटने के लिए एक हथियार के रूप में देखा गया.

पिछले कुछ बरसों से ऑक्सफोर्ड हिंदी के नए और चर्चित शब्दों को भी डिक्शनरी में जोड़ रहा है. साल 2019 में ‘संविधान’, 2018 में ‘नारी शक्ति’ और 2017 में ‘आधार’ शब्द को साल का हिंदी शब्द चुना गया था.

ऑक्सफोर्ड ने दो ग्राफ शेयर किए हैं. एक ग्राफ देवनागिरी लिपी में लिखे ‘आत्मनिर्भरता’ का है. और दूसरा अंग्रेजी में लिखे हिंदी शब्द ‘aatmnirbhar’ का. इन दोनों ग्राफ में देखा जा सकता है कि किस तरह दोनों ही शब्दों के इस्तेमाल में भारी वृद्धि दर्ज की गई. ऑक्सफोर्ड की ओर से बताया गया है कि जब पीएम मोदी ने इस शब्द का इस्तेमाल अपने भाषण में किया, तब से इसका प्रचलन बहुत अधिक बढ़ गया.

ऑक्सफोर्ड ने गूगल ट्रेंड्स के डेटा के हिसाब से भी इन शब्दों की लोकप्रियता मापी. ऑक्सफोर्ड का ये महीनेवार ग्राफ दिखाता है कि मई 2020 के बाद से ‘आत्मनिर्भरता’ और ‘aatmnirbhar’ शब्दों के इस्तेमाल में बढोत्तरी दर्ज की गई है. ऑक्सफोर्ड इसकी वजह पीएम मोदी के भाषण को मान रहा है.

आत्मनिर्भरता शब्द गूगल ट्रेंड्स पर किस तरह प्रचलित हुआ, ये ग्राफ दिखाता है. फोटो साभार- ऑक्सफोर्ड

aatmnirbhar शब्द की पॉपुलैरिटी मई 2020 के बाद कितनी बढ़ी, ग्राफ में देख सकते हैं. फोटो साभार- ऑक्सफोर्ड

ऑक्सफोर्ड ने अपने बयान में बताया कि मई 2020 की शुरुआत में पीएम मोदी ने आत्मनिर्भर भारत पैकेज की घोषणा की थी. मोदी ने कहा था कि राष्ट्रीय स्तर पर, आर्थिक स्तर पर, सामाजिक स्तर पर और व्यक्तिगत स्तर पर हमें आत्मनिर्भर होने की जरूरत है. लेकिन आत्मनिर्भर होने का मतलब केवल आयात कम करना ही नहीं बल्कि हमारी क्षमता, क्रिएटिविटी और स्किल्स को बढ़ाना भी है.

ऑक्सफोर्ड का कहना है कि पीएम मोदी के इसी बयान के बाद से ‘आत्मनिर्भरता’ और ‘aatmnirbhar’ शब्दों के इस्तेमाल में तेजी देखी गई. ऑक्सफोर्ड ने कहा कि भारत में कोविड वैक्सीन का बड़े पैमाने पर उत्पादन शुरु किया गया और ये आत्मनिर्भरता का उदाहरण है.

आपको साल 2020 का हिंदी शब्द चुनने का मौका मिलता तो आप कौन सा शब्द चुनते? कमेंट में बताइएगा.

वीडियो- पीएम मोदी के ‘आत्मनिर्भर भारत’ प्लान में क्या रुकावटें हैं?

Read more!

Recommended