Submit your post

Follow Us

न्यूटन के नाम से मशहूर स्कूल का टॉपर था, बन गया आतंकी

6
शेयर्स

दक्षिण कश्मीर स्थित पुलवामा जिले के त्राल इलाके में बुधवार को मुठभेड़ हुई. जिसमें हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आतंकी मारे गए. उनमें से एक दसवीं का टॉपर था. सेना के एक अफसर ने बताया कि सुरक्षा बलों को आतंकियों की मौजूदगी से जुड़ी सूचना मिली थी. उसके बाद कल रात त्राल के ददसारा गांव की घेराबंदी करके तलाशी अभियान चलाया था.
20 साल का इशाक अहमद, हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़ने से पहले पढ़ाकू छात्र था. 2011 में उसने दसवीं की परीक्षा दी थी. 98.4 परसेंट नंबर के साथ उसने कश्मीर जोन में नौवीं पोजिशन हासिल की थी. इस अचीवमेंट के बाद उसने न्यूटन की उपाधि हासिल कर ली थी. बुधवार को सेना के द्वारा चलाए गए सर्च ऑपरेशन में मारा गया.

Ishaq Ahmad

पर्रे के अलावा ए पल्स और ए कैटेगरी के दो और आतंकी मारे गए. उनकी पहचान आशिक हुसैन भट्ट और आसिफ अहमद मीर के रूप में हुई है. पिछले साल अगस्त में ऊधमपुर में बीएसएफ के काफिले पर हमला हुआ था जिसमें दो जवान शहीद हुए थे और 10 घायल हो गए थे. उस हमले में एक आतंकी मारा गया था और दूसरे को जिंदा पकड़ा गया था. अधिकारी ने बताया कि गोलीबारी वाली जगह से तीन एके47 राइफलें बरामद हुई हैं.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Kashmir high school topper became terrorist of hizbul mujahideen

टॉप खबर

कहानी भारत के अंतरिक्ष मिशन चंद्रयान-2 की, जिसे दुनिया का कोई भी देश इतने सस्ते में नहीं बना पाया

एंड गेम में मारवेल ने जितने पैसे खर्च करके थानोस को मारा, उतने में तो भारत दो बार चांद पर पहुंच जाएगा.

मदरसे में मिला देसी कट्टा, जानिए क्या होता था

और अफवाहों पर बवाल हो गया

बच्चों के बलात्कार पर अब होगी फांसी, मोदी सरकार का फैसला

बहुत दिनों से बात चल रही थी, अब काम होगा!

भाजपा विधायक की बेटी ने दलित से शादी की तो बाप ने मरवाने के लिए गुंडे भेज दिए!

पति और पत्नी भागे-भागे वीडियो बना रहे हैं.

एक महीने से छात्र धरने पर हैं, किसी को परवाह नहीं

ये खबर हर स्टूडेंट को पढ़नी चाहिए.

बजट में सरकार ने अमीरों पर बंपर टैक्स लगाया

पेट्रोल-डीज़ल पर एक रुपया अतिरिक्त लेगी सरकार.

राहुल गांधी के पत्र की चार ख़ास बातें, तीसरी वाली में सारे देश की दिलचस्पी है

आज राहुल गांधी ने आखिरकार इस्तीफा दे ही दिया.

आकाश विजयवर्गीय पर मोदी बहुत नाराज़ हुए, उतना ही जितना साध्वी प्रज्ञा पर हुए थे!

"अफ़सोस! दिल से माफ़ नहीं कर पाएंगे."

नुसरत जहां के खिलाफ़ जिस फतवे पर बवाल मचा, वैसा फ़तवा जारी ही नहीं हुआ

निखिल से शादी के बाद सिन्दूर-साड़ी में संसद पहुंची थीं नुसरत

क्या ज़ायरा ने इस्लाम के लिए फ़िल्म लाइन छोड़ दी?

जिन चीज़ों से रील लाइफ में लड़कर सुपर स्टार बनीं, निजी ज़िंदगी में वो लड़ाई ही छोड़ दी है.