Submit your post

Follow Us

ओ तेरी! आईआईटी से एमटेक किया, फिर रेलवे में पटरियों की देखभाल वाली नौकरी जॉइन कर ली

2.75 K
शेयर्स

आईआईटी से बीटेक और एमटेक की डिग्री लेने वाले एक शख्स ने रेलवे में ग्रुप डी की नौकरी जॉइन की है. ग्रुप डी यानी सरकारी नौकरियों में सबसे नीचे का लेवल. है न दिमाग चकराने वाली बात?

श्रवण कुमार बिहार की राजधानी पटना के रहनेवाले हैं. उन्होंने 2010 में आईआईटी मुंबई में दाखिला लिया था. 5 साल वाले इंटीग्रेटेड कोर्स में. 2015 में जब कोर्स पूरा हुआ तब उन्होंने प्राइवेट जॉब के बदले किसी सरकारी विभाग में नौकरी की तलाश शुरू की. हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, श्रवण का मानना है कि सरकारी नौकरी प्राइवेट की तुलना में ज्यादा सुरक्षित है. इसी वजह से उन्होंने सरकारी नौकरी को चुना है.

धनबाद रेल डिविजन के चंद्रपुरा में श्रवण ने ट्रैकमैन की नौकरी जॉइन की है. ट्रैकमैन की जॉब ‘ग्रुप डी’ में आती है. उन्हें चंद्रपुरा और तेलो स्टेशन के बीच की पटरियों की देख-रेख का जिम्मा मिला है. यहां काम करने वाले पुराने अधिकारी काफी हैरान हैं. ऐसा पहली बार हो रहा है कि इतने बड़े संस्थान से पढ़ा शख्स इतने लो लेवल की नौकरी करने आया हो.

वहीं दूसरी तरफ, श्रवण को भरोसा है कि वो एक दिन सरकारी विभाग में अफसर बनने में कामयाब होंगे.

धनबाद के मंडल रेल प्रबंधक के जनसंपर्क अधिकारी प्रभात कुमार मिश्रा ने बताया,

“उनको सरकारी नौकरी में जॉब सटिस्फेक्शन लग रहा होगा, इसलिए उन्होंने यहां जॉइन किया है. ये रेलवे के लिए काफी अच्छी बात है कि इतना क्वालीफाइड व्यक्ति रेलवे के पास आया है. श्रवण को चंद्रपुरा रेलवे के इंजीनियरिंग विभाग में नियुक्त किया गया है. वो इसी के अंतर्गत रेल पटरियों की मेंटनेंस करेंगे.”

मंडल रेल प्रबंधक, धनबाद के जनसंपर्क अधिकारी प्रभात कुमार मिश्रा. (फोटो: इंडिया टुडे)
मंडल रेल प्रबंधक, धनबाद के जनसंपर्क अधिकारी प्रभात कुमार मिश्रा. (फोटो: इंडिया टुडे)

आईआईटी में पढ़ना हिंदुस्तान के एक बड़े तबके का सपना होता है. एक ऐसा सपना जो हर मिडिल-क्लास परिवार ओढ़ता-बिछाता है. खुद पूरा न कर पाए तो अपनी आने वाली पीढ़ी को वही सपना सौंप देता है. आईआईटी में दाखिला दिलाने का दावा करने वाली एक पूरी कोचिंग इंडस्ट्री देशभर में फैली है.

आईआईटी में पढ़ने का एक बड़ा मकसद होता है. बढ़िया नौकरी. अच्छा जीवन जीने लायक पैसे और समाज में मिलने वाला रुतबा. लेकिन इस खबर ने इन बनी-बनाई लकीरों को झूठा साबित कर दिया है. इसे सुरक्षित नौकरी का लोभ कहें या नौकरियों की कमी, दोनों ही पहलू आईआईटी की स्थापना के मकसद को गलत दिशा पर ले जा रहे हैं.


वीडियो: प्रोफेसर यशपालः जो कहते थे कि आईआईटी कोचिंग से बुरा कुछ नहीं हो सकता

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

आशीर्वाद मांगने पहुंचे खट्टर, आदमी ने खुद को आग लगा ली

दो बार मुख्यमंत्री से मिला, फिर भी नहीं लगी नौकरी.

नेटफ्लिक्स पर आने वाली शाहरुख़ की 'बार्ड ऑफ़ ब्लड' में कश्मीर क्यूं खचेर रहा है पाकिस्तान?

पाकिस्तानी आर्मी के प्रवक्ता के बयान पर सोशल मीडिया कहने लगा 'पीछे तो देखो'.

केरल बाढ़ के हीरो आईएएस कन्नन गोपीनाथन ने कश्मीर मसले पर नौकरी छोड़ते हुए ये बातें कही हैं

नौकरी छोड़ दी. अब न कोई सेविंग्स है, न ही रहने को अपना ख़ुद का घर.

धरती पर क्राइम तो रोज़ होते हैं, लेकिन पहली बार अंतरिक्ष में हुए क्राइम की खबर आई है

अंतरिक्ष में रहते क्राइम करने की बात चौंकाती है.

अरुण जेटली नहीं रहे, यूएई से पीएम मोदी ने कुछ यूं किया याद

गौतम गंभीर ने जेटली को पिता तुल्य बताया.

रफाल के अलावा फ्रांस से और क्या-क्या लाने वाले हैं पीएम मोदी?

इस बड़े मुद्दे पर भारत की तगड़ी मदद करने वाला है फ्रांस.

चंद्रमा पर पहुंचने वाला है चंद्रयान-2, कैसे करेगा काम?

चंद्रयान के एक-एक दिन का हिसाब दे दिया है

विंग कमांडर अभिनंदन को पकड़ने वाला पाकिस्तानी सैनिक मारा गया!

पाकिस्तानी आर्मी की तस्वीर में अभिनंदन को पकड़े हुए दिखा था अहमद खान.

नकली दूध बेचा, पुलिस ने आतंकियों वाला NSA लगा दिया

सरकार ने तो पहले ही कह दिया था.

कांग्रेस और सपा छोड़कर भाजपा में आए नेताओं ने मोदी के बारे में क्या कहा?

वो भी कल लखनऊ में...