The Lallantop
Advertisement

जादवपुर यूनिवर्सिटी लगातार खबरों में रही, इस सीट से कौन जीता?

पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य इस सीट से पांच बार जीत चुके हैं.

Advertisement
Img The Lallantop
बाएं से दाएं डॉ. सुजन चक्रवर्ती (CPI-M) बीजेपी उम्मीदवार रिंकू नक्सर और TMC उम्मीदवार मजूमदार
font-size
Small
Medium
Large
2 मई 2021 (Updated: 2 मई 2021, 18:15 IST)
Updated: 2 मई 2021 18:15 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share
सीट का नाम: जादवपुर कौन जीता - मलय मजूमदार (TMC) कितने वोट मिले: 98100 हारा कौन-डॉ. सुजान चक्रवर्ती (CPI-M) कितने वोट मिलेः 59231 तीसरे नंबर पर-रिंकु नस्कर-BJP अब तक कितने वोट मिले-53139 मलय मजूमदार ने 38869 वोटों के अंतर से जीत हासिल की. Jadavpur Final जादवपुर यूनिवर्सिटी लगातार खबरों में रही, बाबुल सुप्रियो के साथ यहां धक्का-मुक्की हुई थी. गवर्नर की गाड़ी घंटों रोक के रखी गई थी. 2016 के चुनाव में यह कोलकाता की एकमात्र ऐसी सीट थी जिसे लेफ्ट बचाने में कामयाब रहा था. पिछले दो चुनाव के नतीजे -2016 में CPM के सुजन चक्रवर्ती ने जीत हासिल की थी. उन्हें 98,977 वोट मिले थे. TMC के मनीष गुप्ता को 14,942 वोटों से हराया था. –2011 में ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस के मनीष गुप्ता ने जीत हासिल की थी. मुख्यमंत्री रहे CPM के बुद्धदेव भट्टाचार्य को 16,684 वोटो से हराया था. सीट ट्रिविया #इस सीट पर 1977 के बाद अब तक 9 बार चुनाव हुए हैं, जिनमें सबसे ज्यादा 7 बार CPM, एक बार TMC और एक बार कांग्रेस ने जीत हासिल की है. #पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य यहां से पांच बार जीत चुके हैं. इस सीट को लेफ्ट का गढ़ माना जाता है. #2019 के लोकसभा चुनाव में तृणमूल की मिमी चक्रवर्ती को इस विधानसभा क्षेत्र में 12 हजार वोटों की बढ़त मिली थी. #जादवपुर कोलकाता की उन चंद सीटों में से है जहां मुकाबला तितरफा था. #इस विधानसभा क्षेत्र में पड़ने वाली जादवपुर यूनिवर्सिटी यहां हुई हिंसा की वजह से खबरों में रही. #तत्कालीन पूर्वी पाकिस्तान और फिर बांग्लादेश से आकर बसने वाले लोगों की संख्या इस सीट पर ज्यादा है.

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement