Submit your post

Follow Us

अजय देवगन को स्टार बनाने के लिए उनके पिता ने क्या-क्या किया?

ये 1957 की बात है जब 14 साल के वीरू देवगन बॉलीवुड में घुसने की हसरत लिए अमृतसर में अपने घर से भाग गए थे. बिना टिकट लिए फ्रंटियर मेल पकड़ ली. बंबई जाने के लिए. लेकिन टिकट ली नहीं थी, तो दोस्तों के साथ हफ्ते भर जेल में रहना पड़ा.

बाहर निकले तो बंबई शहर और भूख ने उनको तोड़ दिया. जहां उनके साथ आए कुछ दोस्त टूटकर अमृतसर लौट गए. वीरू नहीं गए. वे टैक्सियां साफ करने लगे. कारपेंटर का काम करने लगे. कुछ हौसला लौटा तो फिल्म स्टूडियोज़ के चक्कर निकालने लगे. उन्हें एक्टर बनना था. लेकिन उन्हें जल्द ही समझ आ गया कि हिंदी फिल्मों में जो चॉकलेटी चेहरे एक्टर और स्टार बने हुए हैं, उनके सामने उनका कोई चांस नहीं है.

1999 में वीरु ने 'हिन्दुस्तान की कसम' नाम की एक फिल्म भी डायरेक्ट की थी.
1999 में वीरु ने ‘हिन्दुस्तान की कसम’ नाम की एक फिल्म भी डायरेक्ट की थी.

वीरू ख़ुद बताते हैं –

”जब मैंने आइने में अपना चेहरा देखा तो दूसरे स्ट्रगलर्स के मुकाबले खुद को बहुत कमतर महसूस किया. इसलिए मैंने हार मान ली. लेकिन मैंने प्रण लिया कि मेरा पहला बेटा एक हीरो बनेगा.”

वीरू ने अपने बेटे अजय को हीरो बनाने के लिए बहुत मेहनत की. उन्हें कम उम्र से ही फिल्ममेकिंग, एक्शन वगैरह से जोड़ा. तब से ही ये सब अजय के हाथों से करवाते थे. कॉलेज गए तो उनके लिए डांस क्लासेज शुरू करवाईं. घर में जिम बनावाया. उर्दू की क्लास लगवाई. हॉर्स राइडिंग वगैरह सब करवाया. फिर उन्हें अपनी फिल्मों की एक्शन टीम का हिस्सा बनाने लगे. उन्हें सिखाने लगे कि सेट का माहौल कैसा होता है. अजय फिल्ममेकिंग को लेकर इस वजह से बहुत सक्षम हो गए.

वीरु देवगन बॉलीवुड की 80 से ज़्यादा फिल्मों में एक्शन कोरियोग्रफर रह चुके हैं.
वीरु देवगन बॉलीवुड की 80 से ज़्यादा फिल्मों में एक्शन कोरियोग्रफर रह चुके हैं.

अजय तब कॉलेज की पढ़ाई कर रहे थे और पार्ट-टाइम शेखर कपूर को उनकी फिल्म ‘दुश्मनी’ में असिस्ट कर रहे थे. तब तक अजय ने फिल्मों में आने को लेकर कोई निर्णय नहीं लिया था. एक शाम वे घर लौटे तो डायरेक्टर संदेश/कूकू कोहली उनके पिता वीरू देवगन के साथ बैठे थे. वीरू ने कहा कि संदेश ‘फूल और कांटे’ नाम से एक फिल्म बना रहे हैं और तुम्हे इसमें लेना चाहते हैं. इस पर अजय की पहली प्रतिक्रिया थी, ”आप पागल हो क्या? अभी मैं सिर्फ 18 साल का हूं और अपनी लाइफ एंजॉय कर रहा हूं.” अजय ने बिलकुल मना कर दिया और चले गए. ये अक्टूबर 1990 की बात थी. और अगले महीने नवंबर में वो उस फिल्म की शूटिंग कर रहे थे. उन्हें ये फिल्म मिली इसमें भी वीरू द्वारा करवाई इस तैयारी और उनका बेटा होने का रुतबा था, जो काम कर रहा था.


 वीडियो देखें: वो एक्टर जिसने सनी देओल का जीजा बनकर उन्हें धोखा दे दिया था

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्रिकेट के किस्से

जब कैंसर से जूझ रही मैक्ग्रा की पत्नी के बारे में सरवन ने भद्दी बात कही, वो बोले: गला चीर दूंगा

बीच मैदान में बवाल हो गया.

जब पस्त वेस्ट-इंडीज़ ने शक्तिशाली ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट का सबसे बड़ा कारनामा कर डाला

1644 टेस्ट मैचों के बाद हुआ था यह कमाल, जब एंटीगा में ज़िंदा हो गई 'मुर्दा रबर'.

जब नंबर 10 और 11 के बल्लेबाजों ने सेंचुरी ठोकी और पूरी टीम से ज़्यादा रन बना डाले

भारतीय थे. न उनसे पहले, न उनके बाद ये कारनामा कोई और कर पाया है.

ड्रग्स और गैंगवॉर वाली जगह से निकलकर दुनिया का सबसे बड़ा T20 क्रिकेटर बनने की कहानी!

आईपीएल जैसी लीग में खेलने के लिए अपने बोर्ड से लड़ गया था ये खिलाड़ी.

किस्सा ख़तरनाक थ्रिलर मैच का, जब टीम जीतते-जीतते रह गई और बल्लेबाज़ फूट-फूटकर रोने लगा

रणजी के इतिहास का ये बेस्ट फाइनल मैच था.

जब एक अंग्रेज़ ने चेन्नई में मनाया पोंगल और गावस्कर की टीम को रौंद डाला

रिचर्ड्स और मियांदाद को ज़ीरो पर आउट करने वाला इकलौता बोलर.

विवियन रिचर्ड्स की फैन, वो महिला क्रिकेटर, जो पुरुषों से तेज रन बनाती हैं

कई गोल्ड मेडल जीतने वाली एथलीट, जिन्हें क्रिकेट पसंद नहीं था.

जिस विकेट पर दो दिन में 20 विकेट गिरे, उस पर 226 रन बनाने वाले बल्लेबाज़ की कहानी

जिस बल्लेबाज़ ने अंग्रेज़ों के खिलाफ 'ब्लैकवॉश' करवा दिया.

रिकी पॉन्टिंग का पड़ोसी जिसने ईशांत शर्मा से अपने कप्तान का बदला लिया

ईशांत का वनडे करियर 'खत्म' करने वाले फॉकनर.

32 साल पहले वसीम अकरम ने विव रिचर्ड्स के पैरों पर गिरकर माफी क्यों मांगी थी?

जब अकरम को सबक मिला- पंगा उसी से लो, जिससे निपट पाओ.