Submit your post

Follow Us

अजय-काजोल ने बेडरूम से निकलकर शादी की और फिर वापस बेडरूम में चले गए

9.35 K
शेयर्स

16 अक्टूबर को शाहरुख, काजोल और रानी मुखर्जी स्टारर फिल्म ‘कुछ कुछ होता है’ को 20 बीस साल पूरे हुए हैं. लेकिन ये खबर उस बारे में नहीं है. ये खबर है उस फिल्म की लीडिंग लेडी रहीं काजोल के बारे में. पिछले ही हफ्ते काजोल की फिल्म ‘हेलिकॉप्टर ईला’ रिलीज़ हुई थी. उसके प्रमोशन के सिलसिले में लगातार उनका मीडिया इंटरैक्शन हो रहा था. इसी दौरान वो नेहा धूपिया के शो ‘नो फिल्टर नेहा’ में पहुंचीं. अपनी पर्सनल लाइफ को लेकर हमेशा चुप रहने वाली काजोल ने यहा दिल खोलकर बात की. उन्होंने बताया कि अजय देवगन के साथ उनकी शादी कैसे हुई. पिछले दिनों सिनेमाजगत की कई नई-पुरानी जोड़ियां टूट रही हैं, ऐसे में उनकी शादी के वैसे ही मजबूत रहने के पीछे की क्या वजह है. वगैरह-वगैरह.

काजोल के पापा ने उनसे एक हफ्ते बात ही नहीं की

काजोल ने बताया कि उनकी और अजय की शादी में भी वो समस्याएं थीं, जो आम लोगों की शादियों में होती हैं. दो परिवारों के बीच होने वाली खींचतान, तनाव, अनिश्चितता, ये सब उनकी शादी में भी था. जब काजोल ने अपने पापा को बताया कि वो शादी करने वाली हैं, इस बात से उनके पापा नाराज़ हो गए. उन्हें दिक्कत इस बात से नहीं थी कि वो किससे शादी कर रही हैं, बल्कि उन्हें काजोल के उस समय शादी करने से ही दिक्कत थी. वो नहीं चाहते थे कि अपने करियर के पीक पर उनकी बेटी शादी करके अपना काम-धाम छोड़ दे. इस चक्कर में उन्होंने काजोल से एक हफ्ते बात नहीं की.

अपने पिता शोमू मुखर्जी और बहन तनिषा के साथ काजोल.
अपने पिता शोमू मुखर्जी और बहन तनिषा के साथ काजोल. काजोल के पिता बंगाली फिल्मों में लेखक और फिल्म डायरेक्टर थे.

जब काजोल की शादी की खबर मीडिया को लगी, तब एक इंटरव्यू के दौरान काजोल से पूछा गया कि वो अभी शादी क्यों करना चाहती हैं? इसका उन्होंने ये जवाब दिया कि वो तकरीबन आठ-नौ साल से काम कर रही हैं. हर साल वो चार-पांच फिल्मों में काम करती हैं. अब वो स्लो डाउन होना चाहती हैं. एक-दो फिल्म प्रतिसाल की दर से काम करना चाहती हैं. थोड़ा रिलैक्स करना चाहती हैं.

दूसरी ओर अजय और काजोल दोनों के परिवारों में एक हिचक थी. क्या होगा, कैसे होगा, कितना लंबा चल पाएगा, जैसी चीज़ें लोगों के दिमाग में अपनी जगह बना रही थीं. काजोल के दोस्तों को भी लगता था कि अजय और काजोल साथ में कैसे लगेंगे, इनका रिश्ता कैसा होगा. ऐसा इसलिए था क्योंकि अजय और काजोल को फिल्मों के अलावा उन्होंने साथ देखा नहीं था. लेकिन अजय और काजोल श्योर थे कि वो क्या और क्यों करने जा रहे हैं.

अजय और काजोल ने 'गुंडाराज', 'हलचल','प्यार तो होना ही था' और 'राजू चाचा' जैसी फिल्मों में साथ काम कर चुके हैं.
अजय और काजोल ने ‘गुंडाराज’, ‘हलचल’,’प्यार तो होना ही था’ और ‘राजू चाचा’ जैसी फिल्मों में साथ काम कर चुके हैं.

बेडरूम से निकलकर शादी की और फिर बेडरूम में चले गए

वहीं अजय ने अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि उनकी शादी भी कुछ कम फिल्मी नहीं था. बिलकुल साधारण तरीके से प्यार हुआ और शादी हो गई. न किसी को घुटनों पर बैठकर अपने प्रेम का इज़हार करना पड़ा, न आई लव यू जैसी बातें बोलने की जरूरत पड़ी. दोनों पहली बार एक फिल्म ‘गुंडाराज’ के सेट पर मिले थे. तब अजय बहुत रिजर्व रहते थे, इसलिए लोग उन्हें घमंडी समझ लेते थे. लेकिन काजोल से उनकी अच्छी बात होने लगी. मुलाकातें बढ़ने लगी. साथ में ज़्यादा समय गुज़रने लगा. इसके बाद दोनों ने तय किया कि उन्हें शादी कर लेनी चाहिए. अजय ने ये भी बताया कि उनकी शादी उनके घर के छत पर हुई थी. वो बेडरूम से निकलकर छत पर गए, शादी की और फिर से बेडरूम में आ गए. चीज़ें इतनी सिंपल तरीके से हुईं.

काजोल और अजय देवगन की शादी 1999 में हुई थी.
काजोल और अजय देवगन की शादी 1999 में हुई थी.

किस चीज़ ने उन दोनों को अब तक साथ बांध रखा है?

इस सवाल के जवाब में काजोल ने बताया कि वो और अजय दो बहुत अलग लोग हैं. लेकिन कभी अलग जैसा उन्हें महसूस नहीं होता. दो जिस्म एक जान टाइप थिअरी को उन्होंने सिरे से खारिज़ कर दिया. उनकी अपनी थिअरी है कि वो और अजय मिलकर एक इंसान बनते हैं, जिसके दोनों हाथ उनके बच्चे युग और न्यासा हैं. काजोल जहां काफी चर्पी हैं, वहीं अजय चुप रहना ज़्यादा पसंद करते हैं. काजोल की कई बातें उनके बच्चों को भी पसंद नहीं आती. उनकी बेटी उनकी फिल्में भी ज़्यादा पसंद नहीं करती. जब वो साथ में फिल्में देखते हैं, तो काजोल का हंसना, रोना और ताली-सिटी बजाना चालू रहता है, वहीं न्यासा बिलकुल शांति से फिल्में देखती हैं. शायद यही वजह है, जिसने दोनों को हर स्थिति में साथ बांधे रखा है.

अजय और काजोल के दो बच्चे हैं. साल 2003 में बेटी न्यासा के पैदा होने से पहले 2001 में काजोल का मिसकैरेज हो गया था.
अजय और काजोल के दो बच्चे हैं. साल 2003 में बेटी न्यासा के पैदा होने से पहले 2001 में काजोल का मिसकैरेज हो गया था.

वीडियो देखें: ABCD 3 में वरुण धवन और कटरीना कैफ के अलावा और क्या-क्या होगा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्रिकेट के किस्से

जब तेज बुखार के बावजूद गावस्कर ने पहला वनडे शतक जड़ा और वो आखिरी साबित हुआ

मानों 107 वनडे मैचों से सुनील गावस्कर इसी एक दिन का इंतजार कर रहे थे.

चेहरे पर गेंद लगी, छह टांके लगे, लौटकर उसी बॉलर को पहली बॉल पर छक्का मार दिया

इन्होंने 1983 वर्ल्ड कप फाइनल और सेमी-फाइनल दोनों ही मैचों में 'मैन ऑफ द मैच' का अवॉर्ड जीता था.

पाकिस्तान आराम से जीत रहा था, फिर गांगुली ने गेंद थामी और गदर मचा दिया

बल्ले से बिल्कुल फेल रहे दादा, फिर भी मैन ऑफ दी मैच.

जब वाजपेयी ने क्रिकेट टीम से हंसते हुए कहा- फिर तो हम पाकिस्तान में भी चुनाव जीत जाएंगे

2004 में इंडियन टीम 19 साल बाद पाकिस्तान के दौरे पर गई थी.

शिवनारायण चंद्रपॉल की आंखों के नीचे ये काली पट्टी क्यों होती थी?

आज जन्मदिन है इस खब्बू बल्लेबाज का.

ऐशेज़: क्रिकेट के इतिहास की सबसे पुरानी और सबसे बड़ी दुश्मनी की कहानी

और 5 किस्से जो इस सीरीज़ को और मज़ेदार बनाते हैं

जब शराब के नशे में हर्शेल गिब्स ने ऑस्ट्रेलिया को धूल चटा दी

उस मैच में 8 घंटे के भीतर दुनिया के दो सबसे बड़े स्कोर बने. किस्सा 13 साल पुराना.

वो इंडियन क्रिकेटर जो इंग्लैंड में जीतने के बाद कप्तान की सारी शराब पी गया

देश के लिए खेलने वाला आख़िरी पारसी क्रिकेटर.

जब श्रीनाथ-कुंबले के बल्लों ने दशहरे की रात को ही दीपावली मनवा दी थी

इंडिया 164/8 थी, 52 रन जीत के लिए चाहिए थे और फिर दोनों ने कमाल कर दिया.

श्रीसंत ने बताया वो किस्सा जब पूरी दुनिया के साथ छोड़ देने के बाद सचिन ने उनकी मदद की थी

सचिन और वर्ल्ड कप से जुड़ा ये किस्सा सुनाने के बाद फूट-फूटकर रोए श्रीसंत.