Submit your post

Follow Us

डिबेट में भिड़े BJP-कांग्रेस के प्रवक्ता, पर #तोतला_भाटिया ट्रेंड कराने वाले भूल गए कि वे क्या गलती कर रहे हैं?

टीवी पर बहस में चीखने-चिल्लाने से बात अब बहुत आगे बढ़ गई है. पार्टियों के कई प्रवक्ता डिबेट के दौरान ऐसे शब्दों का इस्तेमाल करने लगे हैं, जिनका शायद आम बहसों में भी लोग न करें. अभी कुछ दिन पहले टीवी पर बीजेपी और कांग्रेस के प्रवक्ताओं की बहस नाली का कीड़ा’ और ‘गाली वाली मैडम’ तक पहुंच गई थी. सोशल मीडिया पर भी ये मामला ट्रेंड करने लगा था. (ये खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें). 

अब, 2 जून बुधवार को एक अन्य टीवी डिबेट के दौरान बीजेपी के प्रवक्ता गौरव भाटिया और कांग्रेस की प्रवक्ता रागिनी नायक एक दूसरे से भिड़ गए. इसके बाद सोशल मीडिया पर #तोतला_भाटिया ट्रेंड होता दिखा. आइए बताते हैं पूरा मामला और इस ट्रेंड में दिक्कत क्या है, ये भी.

वैक्सीन पर बहस थी, बात कहीं और पहुंच गई

वैक्सीन की कमी को लेकर आजतक के कार्यक्रम में बहस चल रही थी. इसी बीच, बीजेपी के प्रवक्ता गौरव भाटिया ने वैक्सीन पर कांग्रेसी नेता प्रियंका गांधी और राहुल गांधी के स्टैंड को लेकर बात शुरू कर दी. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी पहले कहते हैं कि वैक्सीनेशन को पहले विकेंद्रित करो. फिर कहते हैं सेंट्रलाइज करो. इसके बाद कांग्रेस की प्रवक्ता रागिनी नायक ने कहा कि डिबेट खत्म होने को है, मुझे भी बिना टोके बोलने का वक्त दिया जाए. इस पर गौरव भाटिया ने रागिनी नायक को चुप रहने के लिए कह दिया. रागिनी नायक ने पलटकर कहा कि डिबेट में आप कौन होते हैं चुप कराने वाले.

बात बढ़ी तो रागिनी नायक ने गौरव भाटिया को बदतमीज़ आदमी कह दिया. फिर क्या था गौरव ने भी उन्हें बदतमीज़ औरत बोल दिया. दोनों एक दूसरे से भिड़ गए. अनर्गल आरोपों का दौर शुरू हुआ. राहुल गांधी को पप्पू कहते हुए बदतमीज कहा गया. भ्रष्टाचारी दलाल और दीमक बता दिया गया. रागिनी भी चुप नहीं रहीं. गौरव को थाली के बैंगन और सड़कछाप घटिया आदमी कह दिया. इसी भिड़ंत के बीच रागिनी ने गौरव से कहा- मुंह में दांत तुम्हारे नजर नहीं आते तोतले आदमी.

रागिनी नायक ने खुद इस बहस का वीडियो ट्विटर पर शेयर किया.

लोगों ने तरह-तरह के मीम बना डाले

बस फिर क्या था, सोशल मीडिया पर #तोतला_भाटिया ट्रेंड करने लगा. तरह-तरह के ट्वीट चलने लगे. लोगों ने न सिर्फ गौरव भाटिया बल्कि तोतलेपन का भी मज़ाक बनाना शुरू कर दिया. देखिए कुछ ट्वीट्स-

लोग गौरव भाटिया के मीम बनाकर शेयर करने लगे

असंवेदनशीलता की भी सीमा होती है!

टीवी बहस में तर्कों की गरमागरमी हो सकती है. गालीगलौज भी गलत है. लेकिन किसी के शारीरिक डिसऑर्डर को लेकर इस तरह मज़ाक बनाना तो पूरी तरह से असंवेदनशील है. कांग्रेस प्रवक्ता रागिनी नायक ने जिस तरह से हकलाने को लेकर कमेंट किया, और फिर अपने ट्विटर हैंडल पर #तोतला_भाटिया हैशटैग लगाया, वह बहुत असंवेदनशील है.

कोई व्यक्ति न जानबूझकर हकलाता है और न ही यह मज़ाक बनाने का विषय है. ‘हकलाना’ एक बहुत ही आम स्पीच प्रॉब्लम है. हकलाने में आवाज़ या एक ही शब्द थोड़ा लंबा खिंच जाता है. ये दिक्कत 1000 में एक इंसान को होती है. ज़्यादातर बचपन में ही ‘हकलाना’ शुरू हो जाता है. उम्र के साथ कई लोगों की ये दिक्कत अपने-आप ठीक भी हो जाती है. हर तीन में से दो बच्चे हकलाने की प्रॉब्लम से निपट लेते हैं. हकलाने की समस्या स्पीच थेरेपी के जरिए भी दूर की जा सकती है. इसके लिए खास डॉक्टर होते हैं. हमारी साथी सरवत ने इस समस्या के बारे में विस्तार लिखा है. जिसे यहां पर पढ़ा जा सकता है.

हम उम्मीद करते हैं कि टीवी पर राजनीतिक बहस करने वाले प्रवक्ता बहस में जीतने के लिए असंवेदनशीलता की सीमा नहीं लाघेंगे, और किसी के डिसऑर्डर का मज़ाक नहीं बनाएंगे.


वीडियो – सोशल लिस्ट: पहले पार्टी प्रवक्ता ने हद पार कर दी, अब समर्थकों का नाली ह्यूमर छिछिआया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

चोरी हुई साइकल ने बना दिया अली को सदी का सबसे महान बॉक्सर

चोरी हुई साइकल ने बना दिया अली को सदी का सबसे महान बॉक्सर

वो मुक्केबाज जिसके मुक्के पर ताला जड़ दिया, लेकिन वो फिर लौटा नायक बनकर.

कहानी हॉलीवुड के फेमस MGM स्टूडियो की, जिसने वर्ल्ड सिनेमा को ये 10 शानदार फ़िल्में दी

कहानी हॉलीवुड के फेमस MGM स्टूडियो की, जिसने वर्ल्ड सिनेमा को ये 10 शानदार फ़िल्में दी

शेर के लोगो वाली इस कंपनी की कितनी फ़िल्में आपने देखी हैं? अब इस प्रॉडक्शन कंपनी को अमेज़न ने मोटा पैसा देकर खरीद लिया है.

इबारत : जवाहर लाल नेहरू की वो 15 बातें, जो देश को कभी नहीं भूलनी चाहिए

इबारत : जवाहर लाल नेहरू की वो 15 बातें, जो देश को कभी नहीं भूलनी चाहिए

'दीवारों से तस्वीरें बदलकर इतिहास नहीं बदला जा सकता'.

मई-जून में आने वाली इन 13 फिल्मों और वेब सीरीज़ पर नज़र रखिएगा!

मई-जून में आने वाली इन 13 फिल्मों और वेब सीरीज़ पर नज़र रखिएगा!

काफी डिले के बाद 'द फैमिली मैन' का दूसरा सीज़न भी रिलीज़ हो रहा है.

शरद जोशी की वो 10 बातें, जिनके बिना व्यंग्य अधूरा है

शरद जोशी की वो 10 बातें, जिनके बिना व्यंग्य अधूरा है

आज शरद जोशी का जन्मदिन है.

जूनियर एनटीआर की 10 जाबड़ फिल्में, जिन्होंने बॉक्स ऑफिस पर गदर मचा दिया

जूनियर एनटीआर की 10 जाबड़ फिल्में, जिन्होंने बॉक्स ऑफिस पर गदर मचा दिया

आज यानी 20 मई को जूनियर एनटीआर का 38वां जन्मदिन है.

अंतिम संस्कार जैसे सब्जेक्ट पर बनी ये 7 कमाल की फिल्में, जो आपको जरूर देखनी चाहिए

अंतिम संस्कार जैसे सब्जेक्ट पर बनी ये 7 कमाल की फिल्में, जो आपको जरूर देखनी चाहिए

सत्यजीत राय से लेकर मृणाल सेन जैसे दिग्गजों की फिल्में शामिल हैं.

आर.के. नारायण, जिनका 'मालगुडी डेज़' देख मन में अलग धुन बजने लगती थी

आर.के. नारायण, जिनका 'मालगुडी डेज़' देख मन में अलग धुन बजने लगती थी

स्वामी और उसके दोस्तों को देखते ही बचपन याद आता है.

TVF Aspirants के पांचों किरदारों की वो बातें, जो सीरीज़ में दिखीं पर आप नोटिस न कर पाए

TVF Aspirants के पांचों किरदारों की वो बातें, जो सीरीज़ में दिखीं पर आप नोटिस न कर पाए

SK, अभिलाष और गुरी तो ठीक हैं, मगर असली कहर संदीप भैया ने बरपाया है.

मंटो की वो 15 बातें, जो ज़िंदगी भर काम आएंगी

मंटो की वो 15 बातें, जो ज़िंदगी भर काम आएंगी

धर्म से लेकर इंसानियत तक, सब पर सब कुछ कहा है मंटो ने.