Submit your post

Follow Us

राजस्थान के इस विधायक ने आमागढ़ किले पर लगा भगवा झंडा क्यों गिरवाया?

राजस्थान के गलता में भगवा झंडा गिराए जाने की घटना सामने आई है. सोशल मीडिया पर इसे लेकर काफी चर्चा हो रही है. घटना बुधवार 21 जुलाई को हुई. इसके पीछे एक विधायक रामकेश मीणा का हाथ बताया गया है. वे प्रदेश की कांग्रेस सरकार के समर्थक माने जाते हैं.

क्या है मामला?

जयपुर से 10 किलोमीटर दूर गलता तीर्थ स्थित पहाड़ी पर आमागाढ़ (जिसे आंबागढ़ भी कहते हैं) किला बना है. किले पर एक विशाल भगवा झंडा लगा था, जिसे बुधवार की सुबह कुछ लोगों ने जबरन उतार दिया. राजस्थान बीजेपी के नेता लक्ष्मीकांत भारद्वाज ने अपने ट्विटर हैंडल से इस घटना का वीडियो शेयर किया है. इसके कैप्शन में लिखा है,

“जयपुर के गलता तीर्थ स्थित आमागढ़ की पहाड़ी पर सत्ताधारी कांग्रेस समर्थित विधायक की मौजूदगी में “श्रीराम “ लिखा पवित्र भगवा ध्वज पोल से उतार कर फाड़ दिया. कहां हो फ़र्ज़ी जनेऊधारी?”

वीडियो में गाली-गलौज की भी आवाज है, इसलिए हम इसे यहां शेयर नहीं कर रहे हैं. लेकिन ट्वीट का स्क्रीनशॉट आप नीचे देख सकते हैं.

घटना से जुड़ा एक दूसरा वीडियो भी सामने आया है, जिसमें रामकेश मीणा कुछ लोगों को झंडा गिराने को कह रहे हैं. इसका भी स्क्रीन शॉट नीचे देखें. दोनों वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें.

5

वीडियो वायरल हुआ तो लोगों की भावनाएं आहत हो गईं. ट्विटर पर उनकी प्रतिक्रिया आना शुरू हो गई. कइयों ने इसे भगवा ध्वज और हिंदुत्व का अपमान बताया है. कुछ कमेंट देखें. वासुदेव शर्मा भारद्वाज नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा है,

“यह विधायक की दादागिरी नहीं हमारी नाकामी और नकारापन है. अगर इस पागल विधायक को ठोस जवाब नहीं दिया गया तो आने वाली पीढ़ियां थूकेंगी हम पर. कड़ी से कड़ी सजा देनी चाहिए इसको. कहा हो हिंद के वीरो? सबक सिखाया जाए. ऐसा सबक की इसकी आने वाली नस्लें याद रखें.”

  1प्रमोद कुमार जैन लिखते हैं,

“भगवा ध्वज का अपमान, नहीं सहेगा हिंदुस्तान.”

2

एक और यूजर जीवन दास हिंदू ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और राजस्थान पुलिस समेत कई लोगों को टैग करते हुए लिखा,

“तथाकथित जनेऊधारी ब्राह्मण राहुल गांधी और उनकी बहन प्रियंका गांधी कहां हैं? अशोक गहलोत, सचिन पायलट को इसीलिए राजस्थान में सरकार दी गई. शर्म आनी चाहिए.”

  3

घटना के पीछे की असली कहानी

मामले को तूल पकड़ता देख हमने इसके पहलुओं को जानने की कोशिश की. आजतक से जुड़े शरत कुमार ने हमें बताया कि भगवा झंडा गिराए जाने की घटना आमागढ़ की ही है. ये भी सही है कि घटना के समय कांग्रेस का समर्थन करने वाले रामकेश मीणा वहां मौजूद थे. शरत कुमार ने बताया कि झंडे को मीणा समाज के लोगों ने उतारा है. हालांकि उसे फाड़ा किसने, ये साफ नहीं है. वीडियो देखकर तो यही पता चलता है कि झंडा उतारते समय फंसकर फट गया था.

क्यों उतारा गया झंडा?

शरत कुमार ने हमें बताया कि आमागढ़ किला ऐतिहासिक रूप से मीणा समाज की धरोहर है और वे इसे तीर्थ स्थल की तरह मानते हैं. यहां झंडा भी मीणा समाज के लोगों का लगता है. लेकिन कुछ समय पहले कुछ लोगों ने किले पर भगवा झंडा लगा दिया. मीणा समाज के लोग इससे काफी नाराज हुए, जिसके बाद उन्होंने खुद ही झंडे को उतार दिया.

शरत कुमार के मुताबिक, बीजेपी के लोग इस घटना को बड़ा बनाने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन स्थानीय स्तर पर इसे लेकर कोई रोष देखने को नहीं मिल रहा है. सभी जानते हैं कि आमागढ़ मीणा समाज के लिए महत्वपूर्ण है. यहां ये भी बता दें कि बीजेपी नेता लक्ष्मीकांत भारद्वाज ने घटना के समय मौजूद विधायक को कांग्रेस का समर्थक तो बताया, लेकिन उनके नाम का जिक्र नहीं किया. हम आपको उनका नाम बता चुके हैं- रामकेश मीणा.

क्या बोले लक्ष्मीकांत भारद्वाज?

लल्लनटॉप ने इस घटना को लेकर लक्ष्मीकांत भारद्वाज से बात की. भगवा झंडा उतारने के पीछे मीणा समाज के लोगों के होने की बात पर उन्होंने कहा,

“अपना तीर्थ स्थल का क्या मतलब. मीणा समाज हिंदू समाज से बाहर थोड़े ना है. दूसरी बात ये कि अगर आपको किसी चीज से आपत्ति है तो उसका एक कानूनी तरीका है. आप पुलिस की, सरकार की मदद ले सकते हैं. आप इस तरह वहां भगवा ध्यज को फाड़ेंगे और तालियां बजाएंगे तो ये तो आपत्तिजनक बात है ना.”

रामकेश मीणा ने क्या कहा?

बुधवार सुबह हुई इस घटना के बाद विधायक रामकेश मीणा का एक वीडियो वायरल हुआ. इसमें उन्होंने ‘मीणाओं के किले’ पर भगवा झंडा लगाए जाने की कड़ी आलोचना की. रामकेश मीणा ने आरोप लगाया कि किले पर दूसरे झंडे लगाना, मीणा समाज की ऐतिहासिक धरोहर पर कब्जा करने की कोशिश है. उन्होंने इसे ‘घिनौनी’ हरकत करार दिया और भगवा झंडे को उतारे जाने का बचाव किया. रामकेश मीणा ने लिखा,

‘मीणाओं के दुर्ग, मध्यकालीन स्मारक के ऐतिहासिक और गौरवशाली इतिहास को जन-जन तक पहुंचाने के उद्देश्य से आज दुर्ग पर मीटिंग रखी गई. कुछ असामाजिक तत्वों ने किले पर झंडा फहराया और मीना समाज के इतिहास से छेड़छाड़ की. झंडे को हटाया गया है. ऐसी घिनौनी हरकत दुबारा ना हो इसके लिए सूरजपोल इकाई को जिम्मेदारी सौंपी गई है. आंबागढ़ किले पर राजस्थान के मीणाओं का शासन रहा है. यहां पर प्राचीन आंबा माता का मंदिर है.’

वहीं, मीणा समाज के लोगों ने भी भगवा झंडा हटाए जाने का समर्थन किया है. रामकेश मीणा के फेसबुक लाइव पर आई टिप्पणियों से पता चलता है कि वे इसे सही मानते हैं.

यहां तक कि लक्ष्मीकांत भारद्वाज के ट्वीट पर आई कुछ टिप्पणियां कहती हैं कि आमागढ़ किला आदिवासी मीणा समाज का है, जिस पर भगवा झंडा लगाया गया था. एक ट्वीट देखिए.

4

झंडा उतारे जाने के बाद रामकेश मीणा ने ये भी कहा है कि अगर आमागढ़ में दोबारा भगवा झंडा लगाने जैसी कोई हरकत की गई तो इस बार बड़ी संख्या में इकट्ठा होकर ‘कड़ा संदेश’ दिया जाएगा.


वीडियो- इस एक ट्वीट में ऐसा क्या है कि राजस्थान के शिक्षा मंत्री पर सवाल उठने लगे? 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

सुरेखा सीकरी के वो यादगार सीन्स, जो उन्हें हिंदी सिनेमा का स्तंभ बनाते हैं

किरदार की लेंथ से नहीं बल्कि उसकी डेप्थ से सरोकार रखती थीं सुरेखा सीकरी.

अश्लील वीडियो बनाने मामले में राज कुंद्रा के साथ कोर्ट में क्या-क्या हुआ?

पूरी टाइमलाइन जान लीजिए.

'मिर्ज़ापुर 3' कब रिलीज़ होगी प्रड्यूसर ने बता दिया है

'केजीएफ-2' पर भी की बात.

'द कपिल शर्मा शो' के दूसरे सीज़न को लेकर खुशखबरी है

'हेराफेरी-3' की अनाउंसमेंट हो सकती है.

क्या 'राम तेरी गंगा मैली' वाली मंदाकिनी फिर से पिक्चरों में दिखने वाली हैं?

अक्षय कुमार एक्टिंग के गुण सिखाएंगे.

क्या हुआ जब 'ज़िंदगी ना मिलेगी दोबारा' के सारे एक्टर्स ने दस साल बाद फिर से बैठक जमा ली?

बड़े मज़ेदार किस्से निकलकर आए हैं बॉस!

आलिया की RRR में एक गाने का बजट इत्ता ज़्यादा होगा?

तापसी ने नया प्रोडक्शन हाउस शुरू किया है.

कारगिल के शहीद कैप्टन विक्रम बत्रा की बायोपिक 'शेरशाह' की ख़ास बातें जान लीजिए

करण जौहर बना रहे हैं और सिद्धार्थ मल्होत्रा लीड रोल करेंगे.

कान में स्क्रीन हुई वो बेहतरीन इंडियन फिल्में, जिन्होंने तहलका मचा दिया

एक फिल्म तो ऐसी है जो पहले कान में ही अवॉर्ड ले आई.

शाहरुख खान और संजय दत्त बहुत बड़ी पिक्चर बनाने वाले हैं?

क्राइम रिपोर्टर बनेंगी यामी गौतम.