Submit your post

Follow Us

धमाके के बाद और मरने के ठीक पहले की ये फोटो रोंगटे खड़े करने वाली है

युद्ध में फोटोग्राफर भी जाते हैं. इसलिए नहीं कि युद्ध को ग्लोरिफाई कर सकें, कई बार उनकी खींचीं तस्वीरें शांति की सबसे बड़ी अपील बन जाती हैं. ये काम चुनौतीपूर्ण होता है. उससे भी ज्यादा तोड़ने वाला होता है. ऐसी ही एक फोटोग्राफर थीं हिल्डा क्लेटन. यूएस आर्मी में कॉम्बेट फोटोग्राफर थीं. टेक्निकली ये एक आम लड़ाई की तस्वीरें निकालने वाले फोटोग्राफर से थोड़ा सा अलग काम है. इन कॉम्बैट कैमरा सिपाहियों का काम किसी भी हाल में, कैसी भी परिस्थिति में युद्ध की तस्वीरें लाना होता है. इससे युद्ध का डॉक्यूमेंटेशन हो पाता है.

Source\ Army University Press
Source\ Army University Press

हिल्डा के लिए ये काम इतना चुनौतीपूर्ण था कि काम के मोर्चे पर उन्हें जान देनी पड़ी. चार साल पहले अफगानिस्तान में मोर्टार में अचानक हुए धमाके में उनकी जान चली गई. ठीक उस मौके पर वो अपना काम कर रहीं थीं.

यूएस आर्मी ने अब उनकी आखिरी तस्वीरें जारी की हैं. इस तस्वीर में वो धमाका है, जिसके कारण उनकी जान चली गई. 2 जुलाई 2013 की है ये तस्वीर. अफगानिस्तान के लघमान इलाके की. एक लाइव फायर ट्रेनिंग सेशन चल रहा था. जहां एक मोर्टार ट्यूब में धमाका हो गया और उनके जान चली गई. अफगानिस्तान की सेना के चार जवान भी इस धमाके के कारण मारे गए.

Hilda Clayton’s final image,
ये तस्वीर ठीक धमाके के वक़्त की है. धमाके और मौत के ठीक बीच का समय जब हिल्डा ने कैमरे के साथ अपना आखिरी काम किया. इस तस्वीर में उड़ते हुए पत्थर आग और दूसरी नुकीली चीजें दिखती हैं. जिनसे साफ़ पता लगता है कि एक कॉम्बैट फोटोग्राफर का काम पल भर में कितना मुश्किल हो जाता है. इंसान के ही बनाए हथियार कितने नृशंस होते हैं. और किसी भी युद्ध में एक आंकड़ा बनने से पहले इंसान की जान कितने क्रूर तरीके से जाती है.

अब अमेरिकी सेना ने उनके परिवार की अनुमति लेकर उनके आखिरी पलों की फोटोज शेयर की हैं. सेना के जिस हिस्से से वो संबंध रखती थीं. उसने उनके नाम पर सालाना अवॉर्ड का नाम रखा है. जो युद्ध की सबसे बेहतरीन तस्वीरें लाने वाले को मिलेगा.


ये भी पढ़ें 

जनता ने इस शख्स को पहले खुदा माना, फिर लाश को चौराहे पर टांग पत्थर बरसाए

साथवालों ने 60 लाख लोगों को मारा, पर इस इंसान ने 12 सौ को बचा लिया

सिर्फ 25 बरस थी कुपवाड़ा में शहीद हुए कैप्टन आयुष की उम्र

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

मुंबई स्टेशन पर पॉकेट मारने वाले ये बच्चे आपका अटेंशन और दिल दोनों चुरा लेंगे

मुंबई स्टेशन पर पॉकेट मारने वाले ये बच्चे आपका अटेंशन और दिल दोनों चुरा लेंगे

इमरान हाशमी की 'हरामी' का ट्रेलर रिलीज़ हुआ.

जेल भेजने और जुर्माना लगाने के अलावा रेप और यौन अपराधियों को क्या सजा देते हैं ये देश?

जेल भेजने और जुर्माना लगाने के अलावा रेप और यौन अपराधियों को क्या सजा देते हैं ये देश?

'ऑपरेशन दुराचारी' जनता के सामने ‘नेम और शेम’ करने के तरीके पर बहस चल रही है.

GI टैग वाली इन मिठाइयों में से आप ने कितने का स्वाद चखा है?

GI टैग वाली इन मिठाइयों में से आप ने कितने का स्वाद चखा है?

फेमस जगहों के लड्डू, पेड़े, रसगुल्ले को मिल चुका है GI टैग.

IPL में कमाई का रिकॉर्ड बनाने वाले खिलाड़ियों का प्रदर्शन कैसा रहा है

IPL में कमाई का रिकॉर्ड बनाने वाले खिलाड़ियों का प्रदर्शन कैसा रहा है

पैट कमिंस की बात चली है, तो दूर तलक जाएगी.

ये ध्रुव और सिमोन कौन हैं, जो ड्रग्स मामले में दीपिका-सारा के साथ NCB के रडार पर हैं

ये ध्रुव और सिमोन कौन हैं, जो ड्रग्स मामले में दीपिका-सारा के साथ NCB के रडार पर हैं

बॉलीवुड की वो 10 हस्तियां, जिन्हें NCB ने तलब किया.

वो नेताजी, जिन्होंने खाकी छोड़ पहनी थी खादी और खूब सियासी दांव आजमाए

वो नेताजी, जिन्होंने खाकी छोड़ पहनी थी खादी और खूब सियासी दांव आजमाए

खबर है कि गुप्तेश्वर पांडे भी चुनाव मैदान में उतरने वाले हैं.

खिलाड़ियों पर भारी है IPL 2020, चार दिन में ही खड़ी हो गई घायलों की फौज़

खिलाड़ियों पर भारी है IPL 2020, चार दिन में ही खड़ी हो गई घायलों की फौज़

हर दिन कोई न कोई इस लिस्ट में जुड़ रहा है.

आग में कलम डुबाकर लिखने वाले रामधारी सिंह 'दिनकर' की ये 10 बातें सुन लीजिए

आग में कलम डुबाकर लिखने वाले रामधारी सिंह 'दिनकर' की ये 10 बातें सुन लीजिए

आज़ादी की लड़ाई में कलम को बिगुल बना दिया था इस कवि ने.

रीडर्स की चीख़ें निकाल देने वाले स्टीफन किंग की लिखी ये 6 फिल्में मस्ट वॉच हैं!

रीडर्स की चीख़ें निकाल देने वाले स्टीफन किंग की लिखी ये 6 फिल्में मस्ट वॉच हैं!

'शॉशैंक रिडेंप्शन' से लेकर क्यूब्रिक की 'द शाइनिंग' और सिनेमा इतिहास की सबसे कमाऊ भुतही फिल्म 'इट' भी इन्होंने ही लिखी है.

इन होटलों के सबसे सस्ते कमरे के दाम में छह महीने के दाना-पानी का जुगाड़ हो जाएगा

इन होटलों के सबसे सस्ते कमरे के दाम में छह महीने के दाना-पानी का जुगाड़ हो जाएगा

इनके महंगे सुइट के बारे में तो सोच भी नहीं सकते...