Submit your post

Follow Us

धर्मेंद्र के 22 बेस्ट गाने: जिनके जैसा हैंडसम, चुंबकीय हीरो फिर नहीं हुआ

पंजाब के एक छोटे से गांव में 8 दिसंबर 1935 को जन्मे हिंदी फिल्मों के सुपरस्टार और चुंबकीय हीरो धर्मेंद्र 83 साल के हो गए हैं. सेलिब्रेशन के इस मौके पर एक नज़र उनकी अदायगी वाले 22 गानों पर. जिन्हें देख और सुनकर उनके करिश्मे, उनकी बेजोड़ खूबसूरती और माधुर्य भरी प्रेजेंस का असर होता है. इतने बरस बाद आज भी. सोचने में आता है कि उन दिनों में लोगों के बीच उनकी ख़ुमारी कैसी होती होगी.

10.87 K
शेयर्स

#1.

या दिल की सुनो दुनियावालों

– अनुपमा (1966)

#2.

मैं कहीं कवि न बन जाऊं
तेरे प्यार में ऐ कविता

– प्यार ही प्यार (1969)

#3.

मेरे दुश्मन तू मेरी दोस्ती को तरसे
मुझे ग़म देने वाले तू खुशी को तरसे

– आए दिन बहार के (1966)

#4.

लट्‌टू नहीं है लड़की नहीं है जिंदगी है सच्चाई
मिट्‌टी की मूरत जब सच बोली आदमी तब कहलाई

– सत्यकाम (1969)

#5.

चाहे रहो दूर चाहे रहो पास

– दो चोर (1973)

#6.

तेरे पास आके मेरा वक्त गुजर जाता है

– नीला आकाश (1965)

#7.

मांझी चल ओ मांझी चल

– आया सावन झूम के (1969)

#8.

मुद्दत की तमन्नाओं का सिला
जज़्बात को अब मिल जाने दो

– काजल (1965)

#9.

तुम पुकार लो, तुम्हारा इंतजार है

– ख़ामोशी (1969)

#10.

दिल कहे रुकजा रे रुकजा

– मन की आंखें (1970)

#11.

अब दो दिलों की मुश्किल
आसान हो गई है

– पूजा के फूल (1964)

#12.

रहें ना रहें हम
महका करेंगे
बन के कली
बन के सबा
बाग़-ए-वफा में

– ममता (1966)

#13.

मैं जट यमला पगला दीवाना

– प्रतिज्ञा (1975)

#14.

ये दिल तुम बिन कहीं लगता नहीं
हम क्या करें

– इज्जत (1968)

#15.

दिल तो पहले ही से मदहोश है

– बहारें फिर भी आएंगी (1966)

#16.

देखा है तेरी आंखों में
प्यार ही प्यार, बेशुमार

– प्यार ही प्यार (1969)

#17.

सुनो सजना पपीहे ने कहा सबसे पुकार के

– आए दिन बहार के (1966)

#18.

हम बेवफा हरग़िज न थे
पर हम वफा कर ना सके

– शालीमार (1978)

#19.

अब के सजन सावन में
आग लगेगी बदन में

– चुपके चुपके (1975)

#20.

जाने क्या ढूंढ़ती रहती है ये आंखें मुझमें

– शोला और शबनम (1961)

#21.

बदल जाए अगर माली
चमन होता नहीं ख़ाली

– बहारें फिर भी आएंगी (1966)

#22.

मेरे दिल से आ के लिपट गई

– नीला आकाश (1965)

Also Read:
अजय देवगन की फिल्मों के 36 गाने जो ट्रक और टैंपो वाले बरसों से सुन रहे हैं
लोगों के कंपोजर सलिल चौधरी के 20 गाने: भीतर उतरेंगे
रेशमा के 12 गाने जो जीते जी सुन लेने चाहिए!
सनी देओल के 40 चीर देने और उठा-उठा के पटकने वाले डायलॉग!
गीता दत्त के 20 बेस्ट गाने, वो वाला भी जिसे लता ने उनके सम्मान में गाया था
गानों के मामले में इनसे बड़ा सुपरस्टार कोई न हुआ कभी
मोहम्मद अज़ीज़ के ये 38 गाने सुनकर हमने अपनी कैसेटें घिस दी थीं

(Story updated since 2016.)
लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

सेक्रेड गेम्स 2: रिव्यू

त्रिवेदी के बाद अब 'साल का सवाल', क्या अगला सीज़न भी आएगा?

फिल्म रिव्यू: बाटला हाउस

असल घटना से प्रेरित होते हुए भी असलियत के बहुत करीब नहीं है. लेकिन बहुत फर्जी होने की शिकायत भी इस फिल्म से नहीं की जा सकती.

फिल्म रिव्यू: मिशन मंगल

फील गुड कराने वाली फिल्म.

दीपक डोबरियाल की एक शब्दशः स्पीचलेस कर देने वाली फिल्म: 'बाबा'

दीपक ने इस फिल्म में अपनी एक्टिंग का एवरेस्ट छू लिया है.

फिल्म रिव्यू: जबरिया जोड़ी

ये फिल्म कंफ्यूज़ावस्था में रहती है कि इसे सोशल मैसेज देना है कि लव स्टोरी दिखानी है.

क्या जापान का ये आर्क ऐटम बम और सुनामी झेलने के बाद भी जस का तस खड़ा है?

क्या ये आर्क परमाणु बम, भूकंप और विशाल समुद्री लहरें झेल गया है?

फिल्म रिव्यू: ख़ानदानी शफ़ाखाना

'खानदानी शफाखाना' की सबसे दिलचस्प बात उसका नाम और कॉन्सेप्ट ही है.

ऐसी बवाल गैंग्स्टर फिल्म आ रही है कि आप दोस्तों से Netflix का पासवर्ड मांगते फिरेंगे

जिसने बनाया है, अनुराग कश्यप ने उसके पैर पकड़ लिए थे

जानिए कैसे खरीदते हैं यूट्यूब पर वीडियो के व्यूज़

इतने बड़े अचीवमेंट के बावजूद बादशाह को गूगल-यूट्यूब ने वो नहीं दिया, जो दुनियाभर के मशहूर सेलेब्रिटीज़ को दिया.

मंदाकिनी के झरने में नहाने वाले सीन को आलोचकों ने अश्लील नग्नता कहा तो राज कपूर ने ये जवाब दिया

वो तीन बातें जो मंदाकिनी के बारे में सब जानना चाहते हैं.