Submit your post

Follow Us

अगर आपके हाथ नोटों से भरा सूटकेस लग जाए, तो ये काम बिलकुल न करें

कुणाल खेमू साल-दो साल में एक बार रोहित शेट्टी की ‘गोलमाल’ सीरीज़ में नज़र आते हैं. और फिर पूरे साल रेस्ट करते हैं. फॉर अ चेंज इस साल करण जौहर की मैग्नम ओपस ‘कलंक’ में दिखाई दिए थे. उस फिल्म को साइन करते समय शायद उन्हें ध्यान नहीं रहा पुराना काफी कुछ बचा हुआ है, जिसे वो धो नहीं पा रहे. खैर, उनकी नई पिक्चर आ रही है नाम है ‘लूटकेस’. फिल्म का ट्रेलर आया है. लग तो मजे़दार लग रहा है ‘गुड्डू की गन’ की ही तरह लेकिन सब्जेक्ट अलग है. क्या है ये हम नीचे बता रहे हैं-

1) एक मिडल क्लास आदमी है नंदन कुमार. छोटी-मोटी नौकरी करके परिवार चला रहा है. एक दिन अचानक उसे दो हज़ार की गड्डियों से भरा एक सूटकेस मिलता है. उसे लगता है ये सूटकेस उसकी ज़िंदगी की सारी समस्याएं खत्म कर देगी. दूसरी ओर इस सूटकेस को एक एमएलए, डॉन और पुलिसवाले मिलकर ढ़ूंढ रहे हैं. जिस मामले में इतने बड़े लोग इंवॉल्व हों, उससे एक आम आदमी की दिक्कत खत्म नहीं शुरू होती है. मुश्किल में फंस चुके नंदन को धीरे-धीरे समझ आता है कि उसे सूटकेस घर नहीं लाना चाहिए था. फाइनली सूटकेस ढ़ूंढ़ रहे लोग नंदन तक पहुंच तो जाते हैं लेकिन पैसा रिकवर करवा पाते हैं कि नहीं यही फिल्म की कहानी है.

पैसों से भरा सूटकेस मिलने के बाद बौखलाया हुआ नंदन.
पैसों से भरा सूटकेस मिलने के बाद बौखलाया हुआ नंदन.

2) ‘लूटकेस’ को पहली नज़र में देखने पर इमरान हाशमी और विद्या बालन की फिल्म ‘घनचक्कर’ याद आती है. उस फिल्म की पूरी कहानी भी एक सूटकेस के इर्द-गिर्द ही घूमती है. और वो भी कॉमेडी-थ्रिलर थी. ‘लूटकेस’ दिखने में तो फनी लग रही है लेकिन अगर आपकी कहानी का इतना बड़ा हिस्सा ट्रेलर में ही पता चल जाता है, तो फिल्म देखने में दिलचस्पी नहीं बचती. और ये समस्या आज कल आ रही तकरीबन हर ट्रेलर के साथ है. इस फिल्म की एक और यूएसपी है, इसकी स्टाकास्ट जबरदस्त है.

सूटकेस खोने के बाद चौंके हुए एमएलए पाटिल के रोल में गजराज राव.
सूटकेस खोने के बाद चौंके हुए एमएलए पाटिल के रोल में गजराज राव.

3) इस फिल्म में हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के कुछ चुनिंदा कायदे के कलाकार काम कर रहे हैं. नंदन कुमार के लीड रोल में हैं कुणाल खेमू. पिछली बार कुणाल ‘कलंक’ में दिखे थे, जहां इनका किरदार नेगेटिव था. उनकी पत्नी के रोल में हैं रसिका दुग्गल (मंटो, मिर्ज़ापुर). शातिर एमएमलए के रोल में दिख रहे हैं ‘बधाई हो’ फेम गजराज राव. ‘रन’ और ‘डेल्ही बेली’ जैसी फिल्मों में काम कर चुके विजय राज एक ऐसे डॉन के रोल में है, जो टीवी पर सिर्फ नेशनल जियोग्राफिक चैनल देखता रहता है. जिस पुलिसवाले को सूटकेस ढ़ूंढ़ने का काम मिला है, वो कैरेक्टर रणवीर शौरी प्ले कर रहे हैं. रणवीर को हमने हाल ही में ‘सेक्रेड गेम्स’ के दूसरे सीज़न में देखा है.

फिल्म के एक सीन में रणवीर शौरी, प्रकाश राज और रसिका दुग्गल.
फिल्म के एक सीन में रणवीर शौरी, प्रकाश राज और रसिका दुग्गल.

4) ‘लूटकेस’ को डायरेक्ट किया है राजेश कृष्णन ने. राजेश की ये पहली फिल्म है. 2016 में आई टीवीएफ वेब सीरीज़ ‘ट्रिप्लिंग’ का पहला सीज़न इन्होंने ही डायरेक्ट किया था. साथ ही सीरीज़ में एक छोटे से किरदार में नज़र भी आए थे. पहली बार ऐसा देखने को मिला है फिल्म के ट्रेलर से पहले प्रोड्यूर्स ने प्रॉपर तरीके से डायरेक्टर को लॉन्च किया है. हमारा कहा समझ नहीं आ रहा, तो ये वीडियो देखिए-

5) ‘लूटकेस’ रिलीज़ हो रही है 11 अक्टूबर को. डेट सुनकर याद आया कि इसी दिन प्रियंका चोपड़ा, फरहान अख्तर और ज़ायरा वसीम की शोनाली बोस डायरेक्टेड ‘द स्काई इज़ पिंक’ भी लग रही है. लेकिन ये कोई दिक्कत वाली बात नहीं है क्योंकि ऐसा इस साल तकरीबन हर हफ्ते हुआ है. ‘लूटकेस’ का ट्रेलर यहां देखते जाइए:


वीडियो देखें: मन बैरागी: पीएम मोदी की लाइफ पर नई फिल्म लेकर आ रहे हैं संजय लीला भंसाली

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

वेब सीरीज़ रिव्यू- अनपॉज़्ड: नया सफर

वेब सीरीज़ रिव्यू- अनपॉज़्ड: नया सफर

इस सीरीज़ की सभी 5 कहानियों में एक चीज़ कॉमन है- सबकुछ बेहतर हो जाने की उम्मीद.

'रॉकेट बॉयज़' में क्या ख़ास है, जो दो महान वैज्ञानिक विक्रम साराभाई और होमी भाभा की कहानी दिखाएगी?

'रॉकेट बॉयज़' में क्या ख़ास है, जो दो महान वैज्ञानिक विक्रम साराभाई और होमी भाभा की कहानी दिखाएगी?

ट्रेलर आया है, जिसमें एक बड़े वैज्ञानिक का कैमियो भी है.

मूवी रिव्यू: 36 फार्महाउस

मूवी रिव्यू: 36 फार्महाउस

अगर Knives Out को बहुत ही बुरे ढंग से बनाया जाए, तो रिज़ल्ट ’36 फार्महाउस’ जैसी फिल्म होगी.

वेब सीरीज़ रिव्यू- ये काली काली आंखें

वेब सीरीज़ रिव्यू- ये काली काली आंखें

'ये काली काली आंखें' में आपको बहुत सी ऐसी चीज़ें दिखेंगी, जो आप पहले देख चुके हैं. बस उन चीज़ों के मायने, यहां थोड़ा हटके हैं.

वेब सीरीज रिव्यू: ह्यूमन

वेब सीरीज रिव्यू: ह्यूमन

न ही इसे सिरे से खारिज किया जा सकता है, न ही इसे मस्ट वॉच की कैटेगरी में रखा जा सकता है

साउथ इंडिया के 8 कमाल एक्टर्स, जो हिंदी सिनेमा में डेब्यू करने वाले हैं

साउथ इंडिया के 8 कमाल एक्टर्स, जो हिंदी सिनेमा में डेब्यू करने वाले हैं

अब इनकी हिंदी डब फिल्में खोजने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी.

वेब सीरीज़ रिव्यू: हम्बल पॉलिटिशियन नोगराज

वेब सीरीज़ रिव्यू: हम्बल पॉलिटिशियन नोगराज

अगर पॉलिटिकल कॉमेडी से ऑफेंड होते हैं, तो दूर ही रहिए.

वेब सीरीज़ रिव्यू: कौन बनेगी शिखरवटी

वेब सीरीज़ रिव्यू: कौन बनेगी शिखरवटी

नसीरुद्दीन शाह, रघुबीर यादव और लारा दत्ता जैसे एक्टर्स लिए लेकिन....

वेब सीरीज़ रिव्यू- क्यूबिकल्स 2

वेब सीरीज़ रिव्यू- क्यूबिकल्स 2

Cubicles 2 एक सपने के साथ शुरू होती है. और इसका एंड भी बिल्कुल ड्रीमी होता है. एक ऐसा सपना, जिसके पूरे होने की सिर्फ उम्मीद और इंतज़ार किया जा सकता है.

वेब सीरीज़ रिव्यू: कैंपस डायरीज़

वेब सीरीज़ रिव्यू: कैंपस डायरीज़

कैसा है यूट्यूब स्टार्स हर्ष बेनीवाल और सलोनी गौर का ये नया शो?