Submit your post

Follow Us

ये है रणबीर के पापा ऋषि कपूर की लाइफ का 'जहरीला' सच

अगर आप बॉलीवुड के बहुत बड़े कीड़े हैं, तो अपने फेवरेट फ़िल्मी सितारों की लाइफ की पूरी खबर रखते होंगे. आपके फेवरेट बॉलीवुड कपल्स कब, कहां, कैसे मिले और कैसे शुरू हुआ उनमें इश्क़, वो हनीमून के लिए कहां गए, उनके कितने बच्चे हैं, और हर एक बच्चे की राशि क्या है, आपको सब पता होगा. लेकिन इन कपल्स को किसने मिलाया? इनकी फिल्मों ने. तो कितनी ज़रूरी होंगी वो पहली फिल्में, जिसमें इन्होंने साथ में काम किया, है ना! पढ़िए ऐसी 10 फिल्मों के बारे में.


 

1. अमिताभ-जया : गुड्डी

 

guddi

 

फिल्म कुसुम यानी गुड्डी मल्लब जया बच्चन पर ही केंद्रित है. गुड्डी का धर्मेंद्र पर सॉलिड वाला क्रश है. वो दिन-रात उनसे शादी करने के सपने देखती रहती है. जब नवीन नाम का दूर, बहुत दूर का रिश्तेदार (समित भांजा) गुड्डी को प्रपोज़ करता है, गुड्डी कह देती है कि वो बस धर्मेंद्र से ही शादी करेगी. फिर शुरू होता है नवीन और उसके अंकल (उत्पल दत्त) का मास्टर प्लान, गुड्डी को फ़िल्मी दुनिया की असलियत दिखाने का. धर्मेन्द्र के साथ मिलकर वो गुड्डी को रील और रियल के बीच का फर्क दिखाते हैं. जब गुड्डी को समझ में आता है कि धर्मेन्द्र वैसे ही हैं जैसे धरती के और इंसान हैं, और कोई बड़ी तोप नहीं हैं, वो मान जाती है नवीन से ब्याह करने के लिए. अब इसमें अमिताभ भइया कहां से आये? ऐक्चुली अमिताभ ने इसमें कैमिओ रोल किया था. माने कि वो गेस्ट अपीयरेंस में थे, खुद अमिताभ बनकर. तब अमिताभ इतने पॉपुलर एक्टर नहीं थे और जया एक स्टार थीं.


2. हेमा-धर्मेन्द्र : तुम हसीं मैं जवां

 

tum haseen mai jawaan

 

हां तो तब हेमा मालिनी रहीं हसीन औ’ धरमेंदर रहे जवान. धर्मेंद्र एक रंगीन अफसर हैं, जिसका नाम है सुनील. हेमा मालिनी का नाम है अनुराधा. अनुराधा की बहन है प्रेग्नेंट और जीजा मर चुके हैं. अनुराधा की बहन का ससुर, जिसने अपने बेटे और बहू को घर से निकाल दिया था, अब अपने पोते को वापस चाहता है ताकि जायदाद उसके नाम कर सके. इधर रंजीत नाम का एक परम कमीना अनुराधा की बहन के बच्चे को मारना चाहता है, जिससे जायदाद उसे मिल जाये. अनुराधा की बहन उसे अपना बच्चा देती है और छुपा के रखने को कहती है. अनुराधा उसे ले जाती है एक फल की टोकरी में, जो बदल जाती है सुनील की टोकरी से. अनुराधा बच्चे को खोजते हुए पहुंच जाती है सुनील के घर. अब सुनील के घर वाले समझते हैं कि अनुराधा बच्चे की आया बनने आई है. सुनील जी घर आ कर देखते हैं हेमा को और खुश हो जाते हैं उनकी खाना बनाने की कला से. धीरे-धीरे कर बैठते हैं उनसे प्रेम, जो कई सालों तक चलता है. जब प्रेम चढ़ता है परवान, तब रंजीत एक अच्छे विलेन की तरह आ कर हग देता है ये कह कर कि बच्चा तो अनुराधा का है. फिर मचता है रोना, और होता है बॉलीवुड का ड्रामा. अंत में तो अनुराधा और सुनील एक हो ही जाते हैं.


 

3. नीतू सिंह-ऋषि कपूर : ज़हरीला इंसान

 

zehreela

 

आज की तारीख में रणबीर कपूर को ये जानकार कैसा लगता है कि उनके मम्मी-पापा एक दूसरे से ‘ज़हरीला इंसान’ नाम की एक सुपर फ्लॉप फिल्म करते हुए इंट्रोड्यूस हुए थे, कह पाना मुश्किल है. खैर, फिल्म और उसका पोस्टर दोनों काफी ज़हरीले थे. अर्जुन (रणबीर के पापा) एक गुस्सैल इंसान है, जिसका दिमाग प्रेशर कुकर जैसा है. पर दिल अच्छा है. मुंहफट होने के कारण उसने खूब दुश्मन कमाए हैं. अर्जुन के एक मास्टरजी हैं, जो उसकी फीलिंग समझते हैं. अर्जुन को इश्क़ हुआ आरती (मौशमी चटर्जी) से. पर आरती के पापा ने अर्जुन को रिजेक्ट कर दिया और ब्याह दिया किसी गधे से. अर्जुन के गरम दिमाग को फिर मिला मार्गरेट (रणबीर की अम्मा) का साथ. पर अर्जुन तो अपनी किस्मत कच्ची पेंसिल से लिखवा के लाये थे. मार्गरेट के पापा ने कहा, भाई हम तो ईसाई हैं, हिन्दू से बिटिया न ब्याहेंगे. अर्जुन और मार्गरेट अलग नहीं हो सकते थे. इसलिए दोनों कूद के मर गए. पर असल ज़िन्दगी में उनकी शादी से किसी को ऐतराज़ नहीं हुआ. साथ में की हुई इनकी पिछली फिल्म बेशरम 2013 में रिलीज हुई.


4. काजोल-अजय : गुंडाराज

 

gundaraj

 

इस फिल्म में जब काजोल और अजय प्यार की कसमें खा रहे थे, तब कौन कह सकता था कि ये एक्टिंग नहीं सच्चाई है? 1995 में आई पिच्चर गुंडाराज और 1999 में काजोल और अजय ने की शादी. बीच के चार साल रहे उनकी कोर्टशिप के. फिल्म गुंडाराज में अजय अजय ही हैं, और काजोल हैं पूजा. अजय आज-कल के इंजीनियर्स की तरह पढ़े-लिखे बेरोज़गार हैं. उन्हें पूजा (अंजलि जाठर) नाम की लड़की से इश्क़ है. अचानक मुंबई में अजय की नौकरी लग जाती है और वो भगवान को प्रसाद चढ़ाने जाते हैं. मंदिर में उन्हें एक कॉलेज की प्रिंसिपल देख लेती है और पुलिस को खबर करती है कि अजय असल में एक रेपिस्ट है, जिसने उसके कॉलेज की एक लड़की का रेप किया है. बेचारे अजय को जेल हो जाती है. जेल से छूटने के बाद उसको मालूम पड़ता है कि उसकी गर्लफ्रेंड, बहन और मां ने सुसाइड कर लिया. अजय का खून खौलता है और वो असली रेपिस्ट को खोजने निकल पड़ता है. इस मिशन में उसका साथ देते हैं अमरीश पुरी और पत्रकार ऋतु यानि काजोल. बस उनकी रील और रियल लाइफ रोमैंस यहीं से शुरू होता है.


5. ट्विंकल-अक्षय : इंटरनेशनल खिलाड़ी

 

international khiladi

 

पायल (ट्विंकल खन्ना) एक न्यूज़ रिपोर्टर हैं. देवराज (अक्षय) एक खूंखार क्रिमिनल. पायल को करना है देवराज का इंटरव्यू. देवराज के गार्जियन हैं शक्तिमान, मतलब अपने मुकेश खन्ना, फिल्म में जिनका नाम है बिस्मिल्लाह. पायल और देवराज को एक दूसरे से होने लगता है प्यार. पर बीच में खड़ा है पुलिस इंस्पेक्टर अमित और पायल का भाई रवि. गैंगस्टर-पुलिस-मीडिया के इस ट्रायंगल में रवि का मर्डर हो जाता है और इल्ज़ाम आता है अक्षय कुमार के सर. पायल का दिमाग खिसक जाता है कि ले दे के प्यार भी हुआ तो गैंगस्टर से. वो टूटे दिल से देवराज के खिलाफ बयान देती है और देवराज को फांसी की सजा हो जाती है. लेकिन देवराज है चंट और जेल से भग लेता है. बिस्मिल्लाह को असली क़ातिल यानी अमित के बारे में पता चलता है, पर अमित तो उसे पहले ही निपटा देता है. अमित का बॉस और गुनाहों का मास्टरमाइंड है ठकराल यानी गुलशन ग्रोवर. देवराज बदले की आग में खतरनाक बैकग्राउंड म्यूजिक के साथ जलता हुआ अमित और ठकराल – दोनों को लुढ़का देता है. इसके बाद पायल को दिखता है देवराज के अंदर का अक्षय कुमार और दोनों करते हैं शादी. असल में दोनों की शादी फिल्म के लगभग 2 साल बाद हुई.


6. ऐश्वर्या राय-अभिषेक बच्चन : ढाई अक्षर प्रेम के

 

dhai akshar

 

ये आश्चर्य की बात नहीं है कि ऐश्वर्या और अभिषेक को इश्क़ करने में कई फिल्में लग गयीं, क्योंकि उन्होंने स्टार्ट ही ढाई अक्षर प्रेम के टाइप की बोरिंग फिल्म से किया. फिल्म में साहिबा यानी ऐश्वर्या अरेंज्ड मैरिज नहीं करनी चाहती. इसलिए वो घर पर झूठ बोलती है कि वो शादी कर चुकी है. उनके पापा मिस्टर योगी नाराज़ हो जाते हैं. साहिबा एक दिन फंस जाती है गुंडों में और करन (अभिषेक) उसे बचा लेता है. वो उसे घर ड्रॉप करने जाता है. घर वाले ज़रूरत से ज़्यादा तेज़ दिमाग के होते हैं और वो करन को साहिबा का पति समझ बैठते हैं. इतना ही नहीं, साहिबा को प्रेग्नंट भी समझ लेते हैं. पर करन के मन में तो निशा (सोनाली बेंद्रे) के लड्डू फूट रहे थे. वो साहिबा को छोड़कर निशा के पास जाता है. इधर निशा किसी और से शादी कर लेती है. करन के जाने के बाद साहिबा घरवालों को बताती है कि न तो वो शादीशुदा है और न ही प्रेग्नेंट. बस इत्ता सुन के पापा की सुलग लेती है और वो करन को पीटने के मूड में आ जाते हैं. साहिबा का ब्याह किसी और से तय हो जाता है और शादी के दिन वो ज़हर खा लेती है. करन अस्पताल में साहिबा का खूब ध्यान रखता है और पापा की सुलगी बुझ जाती है. फिर दोनों की फाइनली शादी होती है. इनकी सचमुच वाली शादी 2007 में हुई.


 

7. नरगिस-सुनील दत्त : मदर इंडिया

 

mother india

 

इनकी प्रेम कहानी तो बॉलीवुड की सबसे मशहूर कहानियों में से एक है. और यूनीक भी क्योंकि फिल्म में नरगिस के बेटे बनने वाले सुनील दत्त बाद में उनके पति बने. राधा (नरगिस) और शामू (राज कुमार) के ब्याह में खर्च होने वाला पइसा शामू की अम्मा ने सुखीलाल से मांगे थे. अब शामू और उनकी अम्मा गए मर. लोन चुकाने की जिम्मेदारी आती है राधा पर. सुखीलाल गन्दी नज़र रखता है और क़र्ज़ माफ़ कर देगा अगर राधा उससे शादी कर ले. जो कि राधा करेगी नहीं. राधा के दो लौंडे हैं बिरजू (सुनील दत्त) और रामू (राजेंद्र कुमार). रामू तो निकलता है सीधा, पर बिरजू निकलता है चग्घड़. वो सुखीलाल से बदला लेना चाहता है और उसकी बेटी रूपा को छेड़ता रहता है. वो सुखीलाल पर करता है अटैक और अपनी अम्मा के गिरवी रखे हुए कंगन चुरा लेता है. गांव से भाग कर वो डकैत बन जाता है और एकदम रूपा की शादी के दिन बदला लेने लौट कर आता है. पर मदर इंडिया राधा कसम खाती हैं कि सुखीलाल के परिवार पर आंच नहीं आने देगी. बिरजू सुखीलाल को निपटा देता है और रूपा को किडनैप कर लेता है. राधा अम्मा उठाती हैं बन्दूक और धांय से दागती है गोली सीधे बिरजू की पीठ पर. फिर खेतों को सींचने वाली नहर में बहने लगता है बिरजू का खून. फिल्म के रिलीज़ होने के साल भर के अंदर ही मां-बेटा एक दूसरे से शादी कर लेते हैं. मतलब नरगिस और सुनील दत्त.


 

8. करीना-सैफ : LOC कारगिल

 

saif kareena

 

कारगिल की लड़ाई चल रही है धुआंधार. सेना की सारी टुकड़ियों को अलग-अलग इलाकों पर कब्ज़ा करने के लिए भेज दिया गया है. सिचुएशन 50-50 टाइप हो रखी है. तभी 17th जाट के कप्तान अनुज नायर सीन में आते हैं और बड़ी बहादुरी से थ्री पिम्पल कॉम्प्लेक्स पर कब्ज़ा कर लेते हैं. अनुज नायर हैं हमारे सैफ अली खान और उनकी गर्लफ्रेंड हैं करीना कपूर. हालांकि दोनों इस फिल्म में शायद ही 10 मिनट के लिए साथ रहे हों, सैफ करीना को प्रोपोज़ तो कर देते हैं. करीना हैं गुलाबी सूट में और सैफ अपनी आर्मी वाले ड्रेस में. सैफ अपने घुटनों पर जा कर करीना से पूछते हैं कि क्या वो उनसे शादी करेंगी और वो झट से मान जाती हैं. इस प्रपोज़ल के 9 साल बाद दोनों ने फाइनली शादी की.


 

9. जेनीलिया-रितेश : तुझे मेरी कसम

 

tujhe meri kasam

 

मलयालम ब्लॉकबस्टर नीरम की रीमेक ये फिल्म कुछ-कुछ जेनीलिया की सुपरहिट पिच्चर जाने तू या जाने ना जैसी है. ऋषि (रितेश) और अंजू (जेनीलिया) बचपन के दोस्त हैं. एक ही अस्पताल में पैदा हुए, एक ही साथ पढ़े और हमेशा एक दूसरे के साथ रहने वाले दो दोस्त. अंजू को गाना गाने का शौक है. एक दिन कॉलेज में वो आकाश नाम के लड़के के साथ स्टेज शेयर करती हैं. दोनों दोस्त बन जाते हैं और एक साथ शहर के बाहर होने वाली कई गाने की प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेते हैं. अंजू के आउट ऑफ़ साइट होते ही ऋषि हो जाता है इनसिक्योर. वो डिसाइड करता है कि अंजू के वापस आते ही प्यार का इज़हार कर देगा. पर आकाश तब तक अंजू को प्रोपोज़ कर चुका होता है. फिर चलता है एक लव ट्रायएंगल तब तक, जब तक अंजू की शादी के पहले बहुत नाटकीय ढंग से दोनों के बीच रोना नहीं मचता. खैर, इस फिल्म में रितेश और जेनीलिया अच्छे दोस्त बन गए और धीरे धीरे इश्क़ में पड़ गए.


 

10. सोहा अली खान-कुणाल खेमू : 99

 

99

 

इस फिल्म का बॉलीवुड पर बस इतना ही असर पड़ा कि कुणाल और सोहा की मुलाक़ात हो गयी. कहानी है दो लौंडों सचिन (कुणाल) और राहुल (बोमन ईरानी) की, जो लाइफ में वैसे ही अटके हुए हैं जैसे बल्लेबाज़ 99 रन पर अटक जाए. दोनों एक ऐसे ब्रेक की तलाश में हैं, जिससे उनकी सेंचुरी पूरी हो जाये यानी लाइफ में वो कुछ बड़ा कर के दिखा पाएं. सचिन रहता है मुंबई में और राहुल दिल्ली में. सचिन एक स्कैमबाज है और लोगों को अक्सर ठगता रहता है. एक दिन वो AGM नाम के एक बुकी की गाड़ी चुरा कर भागता है, उसको ठोंक देता है और पकड़ा जाता है. AGM को पैसे न चुकाने की हालत में वो AGM के सट्टे के बिज़नेस में नौकरी करने लगता है. AGM उसे दिल्ली भेजता है क्योंकि राहुल, जो कि सट्टे का शौक़ीन है, बुरी तरह हार गया है. सचिन को जाकर AGM की तरफ से राहुल से वसूली करनी है. पर हालात कुछ ऐसे बनते हैं कि राहुल जो पैसे बैंक से लोन लेता AGM का उधार चुकाने के लिए, वो चोरी हो जाते हैं. फिर सचिन और राहुल पैसे कमाने के लिए भिड़ाते हैं तरह-तरह की तिकड़म. कहानी में सोहा अली खान का रोल कुछ ख़ास नहीं है. वो कुणाल खेमू की गर्लफ्रेंड बनी हैं जिसका नाम है पूजा. ऐसा लगता है जैसे उन्हें स्क्रिप्ट में सिर्फ गाने-फिल्माने के लिए रखा गया था. फिल्म में पूजा सचिन को लाइफ की सेंचुरी पूरी करने में मदद करती हैं और रियल लाइफ में भी. दोनों ने कुछ साल डेट करने के बाद 2015 शादी की.


 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

बाबा बने बॉबी देओल की नई सीरीज़ 'आश्रम' से हिंदुओं की भावनाएं आहत हो रही हैं!

आज ट्रेलर आया और कुछ लोग ट्रेलर पर भड़क गए हैं.

करोड़ों का चूना लगाने वाले हर्षद मेहता पर बनी सीरीज़ का टीज़र उतना ही धांसू है, जितने उसके कारनामे थे

कद्दावर डायरेक्टर हंसल मेहता बनायेंगे ये वेब सीरीज़, सो लोगों की उम्मीदें आसमानी हो गई हैं.

फिल्म रिव्यू- खुदा हाफिज़

विद्युत जामवाल की पिछली फिल्मों से अलग मगर एक कॉमर्शियल बॉलीवुड फिल्म.

फ़िल्म रिव्यू: गुंजन सक्सेना - द कारगिल गर्ल

जाह्नवी कपूर और पंकज त्रिपाठी अभिनीत ये नई हिंदी फ़िल्म कैसी है? जानिए.

फिल्म रिव्यू: शकुंतला देवी

'शकुंतला देवी' को बहुत फिल्मी बता सकते हैं लेकिन ये नहीं कह सकते इसे देखकर एंटरटेन नहीं हुए.

फ़िल्म रिव्यूः रात अकेली है

नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी और राधिका आप्टे अभिनीत ये पुलिस इनवेस्टिगेशन ड्रामा आज स्ट्रीम हुई है.

फिल्म रिव्यू- यारा

'हासिल' और 'पान सिंह तोमर' वाले तिग्मांशु धूलिया की नई फिल्म 'यारा' ज़ी5 पर स्ट्रीम होनी शुरू हो चुकी है.

फिल्म रिव्यू- दिल बेचारा

सुशांत के लिए सबसे बड़ा ट्रिब्यूट ये होगा कि 'दिल बेचारा' को उनकी आखिरी फिल्म की तरह नहीं, एक आम फिल्म की तरह देखा जाए.

सैमसंग के नए-नवेले गैलेक्सी M01s और रियलमी नार्ज़ो 10A की टक्कर में कौन जीतेगा?

सैमसंग गैलेक्सी M01s 9,999 रुपए में लॉन्च हुआ है.

अनदेखी: वेब सीरीज़ रिव्यू

लंबे समय बाद आई कुछ उम्दा क्राइम थ्रिलर्स में से एक.