Submit your post

Follow Us

पठानकोट हमले पर बोले अक्षय कुमार, अंदर घुस के मारो

फिल्म वाले जब देश के मामलों में बोलते हैं तो अक्सर बवाल ही कटता है. अक्षय कुमार भी बोले हैं लेकिन लोग उन्हें सराह रहे हैं. पठानकोट में जो टेररिस्ट अटैक हुआ है उस पर अक्षय कुमार बोले कि पाकिस्तान की तरफ से टेररिस्ट अटैक रोकने का एक ही तरीका है इन्हें अंदर घुस के मारो.

एक्चुअली में देखा जाए तो बड़े दुख की बात है जो कुछ हुआ. आज सुबह ही मैं अखबार पढ़ रहा था. एक सोल्जर के बारे में पढ़ रहा था कि कैसे उसने एक आतंकवादी को निहत्थे ही पकड़ा. उसकी AK-47 ले के उसी पर वार करके उसे मारा. लेकिन पीछे से एक और आतंकवादी ने उसे गोली मार दी. ये बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि इतनी जानें चली जाती हैं. देखिए मैं रियल हीरो तो हूं नहीं. मैं एक रील हीरो हूं. अपनी तरफ से जितनी भी कोशिश कर सकता हूं ‘बेबी’ जैसी फिल्म, ‘हॉलिडे’ जैसी फिल्म, ‘गब्बर’ जैसी फिल्म. मैं दिखाना चाहता हूं कि हमारी जो फौज है. हमारे जो लोग हैं वो हमारे लिये जान दे देते हैं और उनके परिवार के साथ क्या होता है. तो इसका कोई फिक्स्ड फॉर्मूला नहीं है. इसका एक ही फॉर्मूला हो सकता है कि भय्या अंदर घुस कर मारो. और कुछ नही.

पर इसका ये मतलब नहीं कि अक्षय शोर मचाने वाले उन लोगों की तरह हैं. जो बस मौके पर मारो-काटो चिल्लाना जानते हैं. जब उनसे ये पूछा गया कि क्या प्रधानमंत्री को इस अटैक के बाद पाकिस्तान से बात बंद कर देनी चाहिए? तो उनका जवाब था.

Source- Youtube screengrab
Source- Youtube screengrab
लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

आर. के. नारायण, जिनका लिखा 'मालगुडी डेज़' हम सबका नॉस्टैल्जिया बन गया

स्वामी और उसके दोस्तों को देखते ही बचपन याद आता है

वो 22 एक्टर्स जिनको यशराज फिल्म्स ने बॉलीवुड में लॉन्च किया

यश और आदि चोपड़ा के इस प्रोडक्शन हाउस ने इस साल 50 बरस पूरे कर लिए हैं.

इन 8 बॉलीवुड सेलेब्स के मदर्स डे वाले वीडियोज़ और फोटो आप मिस नहीं करना चाहेंगे

बच्चन ने मां को गाकर याद किया है, वहीं अनन्या पांडे ने बचपन के दो बेहद क्यूट वीडियोज़ पोस्ट किए हैं.

मंटो, जिन्हें लिखने के फ़ितूर ने पहले अदालत फिर पागलखाने पहुंचाया, उनकी ये 15 बातें याद रहेंगी

धर्म से लेकर इंसानियत तक, सबपर सब कुछ कहा है मंटो ने.

सआदत हसन मंटो को समझना है तो ये छोटा सा क्रैश कोर्स कर लो

जानिए मंटो को कैसे जाना जाए.

महाराणा प्रताप के 7 किस्से: जब वफादार मुसलमान ने बचाई उनकी जान

9 मई, 1540 को पैदा होने वाले महाराणा प्रताप की मौत 29 जनवरी, 1597 को हुई.

दुनिया के 10 सबसे कमज़ोर पासवर्ड कौन से हैं?

रिस्की पासवर्ड का पता कैसे चलता है?

'इक कुड़ी जिदा नां मुहब्बत' वाले शिव बटालवी ने बताया कि हम सब 'स्लो सुसाइड' के प्रोसेस में हैं

इन्होंने अपनी प्रेमिका के लिए जो 'इश्तेहार' लिखा, वो आज दुनिया गाती है

शराब पर बस ये पढ़ लीजिए, बिना लाइन में लगे झूम उठेंगे!

लिखने वालों ने भी क्या ख़ूब लिखा है.

वो चार वॉर मूवीज़ जो बताती हैं कि फौजी जैसे होते हैं, वैसे क्यूं होते हैं

फौजियों पर बनी ज़्यादातर फिल्मों में नायक फौजी होते ही नहीं. उनमें नायक युद्ध होता है. फौजियों को देखना है तो ये फिल्में देखिए.