Submit your post

Follow Us

अभिषेक बच्चन को बेरोजगार बोल ट्रोल किया, बदले में जनम भर की शिक्षा पा गया

सोशल मीडिया पर कुछ लोगों को जबरदस्ती दूसरों के मैटर में घुसने की आदत होती है. ऐसे लोगों को खलिहर और ट्रोल कहा जाता है. ऐसा ही एक इंसान एक्टर अभिषेक बच्चन को ट्रोल करने की कोशिश कर रहा था. लेकिन बदले में वो जीवन का मर्म जान गया.

हुआ ये कि अभिषेक ने अपने ट्विटर हैंडल से प्रेरक कोट शेयर किया था.

एक उद्देश्य होना चाहिए, एक लक्ष्य होना चाहिए. कुछ असंभव जिसे आप पूरा करना चाहते हो, और फिर दुनिया को बताओ कि ये असंभव नहीं है.

बस खलिहर लोग एक्टिव हो गए और उन्हें ट्रोल करने लग गए. एक यूजर तो इतना आगे बढ़ गया कि उन्हें बेरोजगार तक कह डाला. उनके पोस्ट पर एक शख्स ने लिखा-

सोमवार के दिन कौन इतना ज्यादा खुश हो सकता है बजाए उन लोगों के जो बेरोजगार बैठे हों.

उसके कमेंट पर अभिषेक ने जो जबाव दिया, ग्रंथों में उसे ज्ञान कहा गया है. उन्होंने लिखा-

ना! असहमत. वो जो, अपने काम से प्यार करता हो.

इसके बाद उस यूजर का कोई कमेंट नहीं आया.

3
अभिषेक के पोस्ट पर यूजर का कमेंट.

खैर ये पहली बार नहीं है. अभिषेक को फिल्म केआरके भी ट्रोल कर चुके हैं. वही केआरके जो खुद को फिल्म क्रिटिक, एक्टर और डायरेक्टर बताते हैं.

केआरके ने लिखा था-

अभिषेक बच्चन की आखिरी सोलो हिट 2007 में आई फिल्म ‘गुरु’ थी. अगर मैं गलत हूं तो मुझे करेक्ट करें.

इसके जवाब में अभिषेक ने लिखा-

सर, आप गलत हैं. ‘गुरु’ में मिथुन, आर माधवन, विद्या बालन और ऐश्वर्या राय जैसे शानदार एक्टर्स थे.

बस फिर क्या, केआरके सर, सर, सर करने लगे. कहने लगे कि आप और ऐश्वर्या ही बड़े स्टार थे फिल्म में, बाकी सब तो फिलर्स थे. अभिषेक ने फिर लिखा-

मैं पूरी सहमति के साथ आपसे असहमत हूं.

सोशल मीडिया पर स्टार्स को अक्सर ट्रोल्स का सामना करना पड़ता है, लेकिन अभिषेक बच्चन उन चुनिंदा स्टार्स में से हैं, जो ट्रोल्स को जवाब देकर जनता को इंप्रेस कर देते हैं.


Video : राधे और लक्ष्मी बम वहीं खड़ी हैं जहां उजड़ा चमन और बाला थी, अब क्या होगा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

दुनिया के 10 सबसे कमज़ोर पासवर्ड कौन से हैं?

रिस्की पासवर्ड का पता कैसे चलता है?

'इक कुड़ी जिदा नां मुहब्बत' वाले शिव बटालवी ने बताया कि हम सब 'स्लो सुसाइड' के प्रोसेस में हैं

इन्होंने अपनी प्रेमिका के लिए जो 'इश्तेहार' लिखा, वो आज दुनिया गाती है

शराब पर बस ये पढ़ लीजिए, बिना लाइन में लगे झूम उठेंगे!

लिखने वालों ने भी क्या ख़ूब लिखा है.

वो चार वॉर मूवीज़ जो बताती हैं कि फौजी जैसे होते हैं, वैसे क्यूं होते हैं

फौजियों पर बनी ज़्यादातर फिल्मों में नायक फौजी होते ही नहीं. उनमें नायक युद्ध होता है. फौजियों को देखना है तो ये फिल्में देखिए.

गहने बेच नरगिस ने चुकाया था राज कपूर का कर्ज

जानिए कैसे शुरू और खत्म हुआ नरगिस और राज कपूर का प्यार का रिश्ता..

सत्यजीत राय के 32 किस्से: इनकी फ़िल्में नहीं देखी मतलब चांद और सूरज नहीं देखे

ये 50 साल पहले ऑस्कर जीत लाते, पर हमने इनकी फिल्में ही नहीं भेजीं. अंत में ऑस्कर वाले घर आकर देकर गए.

ऋषि कपूर की इन 3 हीरोइन्स ने उनके बारे में क्या कहा?

इनमें से एक अदाकारा को ऋषि ने आग से बचाया था.

ईश्वर भी मजदूर है? लेखक लोग तो ऐसा ही कह रहे हैं!

पहली मई को दुनियाभर में मजदूरों के हक़ की बात कही जाती है.

बलराज साहनी की 4 फेवरेट फिल्में : खुद उन्हीं के शब्दों में

शाहरुख, आमिर, अमिताभ बच्चन जैसे सुपरस्टार्स के फेवरेट एक्टर रहे बलराज साहनी.

जब भीमसेन जोशी के सामने गाने से डर गए थे मन्ना डे

मन्ना डे के जन्मदिन पर पढ़िए, उनसे जुड़ा ये किस्सा.