Submit your post

Follow Us

एक ऐसा हवाई जहाज़, जो उड़ने के 35 साल बाद क्रैश-लैंड हुआ और सनसनी फ़ैल गई

कभी कोई मुझसे पूछता है कि मुझे फ्लाइट से सफर करना क्यों पसंद है, तो मेरा एक ही जवाब होता है- इससे समय बचता है. कुछ घंटों का सफर करके अपने डेस्टिनेशन पर पहुंच जाते हैं. मगर सोचिए. एक ऐसी फ्लाइट हो, जो 35 साल बाद ज़मीन पर लैंड करे. सुनकर ही हवा टाइट हो जाती है.

ऐसी ही फ्लाइट की स्टोरी स्क्रीन पर लेकर आ रहे हैं अभय देओल. ‘सोनी लिव’ पर रिलीज़ होने वाली सीरीज़ JL50. ये एक ऐसे प्लेन की कहानी है, जो उड़ने के 35 साल बाद मिला है. लोग तो ये भी कह रहे हैं कि ‘JL50’ की कहानी सच्ची घटना पर आधारित है.

आइए, आपको बताते हैं टीज़र से जुड़े पांच पॉइंट्स, जिसे जानकर अभय देओल की इस सीरीज़ में आपका इंट्रेस्ट और बढ़ जाएगा.

1. सीरीज़ की कहानी

‘JL50’ सीरीज़ साइंस-फिक्शन सीरीज़ बताई जा रही है, जो टाइम ट्रैवेल को दिखाएगी. 35 साल पहले उड़ी फ्लाइट का मिलना और क्रैश हो जाना. इस सीरीज़ की कहानी बहुत हद तक सेंटियागो एयरलाइंस से जुड़ी गलत रिपोर्ट से मिलती-जुलती है.  जिसमें दावा किया गया था कि साल 1945 में उड़ान भरने वाला विमान 35 साल बाद मिला. हलांकि बाद में इस खबर को पूरी तरह से गलत बताया गया था.

ये थी फर्ज़ी खबर

इस खबर में बताया गया था कि तमाम कोशिशों के बाद गायब हुआ विमान नहीं मिला. जब ज़मीन से सेंटियागो 513 फ्लाइट का संफर्क टूटा, तो वो अटलांटिक महासागर के ऊपर था. इस फेक न्यूज़ का असर इस कदर हुआ कि तेज़ी से जांच-पड़ताल होने लगी. फ्लाइट की खोज-बीन शुरू हो गई. बताया ये गया कि विमान अटलांटिक महासागर में हादसे का शिकार हो गया. इस खबर में ये भी लिखा गया था कि विमान में उस समय 88 यात्री और चार क्रू मेंबर्स सवार थे.

समय बीत गया. साल गुज़र गए. फिर एक दिन अचानक 12 अक्टूबर, 1989 को पोर्टो एलेग्रे एयरपोर्ट पर एक अनजान विमान ने लैंडिंग की. जिसे सेंटियागो फ्लाइट 513 बताया गया. बाद में पता चला कि ये खबर पूरी तरह फर्ज़ी थी. जिसे दुनिया भर के अखबारों ने छापा. दरअसल सेंटियागो 513 नाम की कोई फ्लाइट थी ही नहीं. ये सिर्फ एक गलत खबर थी. जिस पर दुनिया भर में डिबेट हुआ.

2. कैसा है टीज़र

टीज़र शुरू होता है वेस्ट बंगाल के लावा जगह से, जहां खेलते हुए बच्चों के सिर के ऊपर से एक फ्लाइट उड़ती दिखती है. एक मिनट 20 सेकंड के इस टीज़र को पहले आप देख लीजिए.

टीज़र से पता चल रहा है कि अभय देओल मूवी में इंवेस्टिगेशन ऑफिसर के रोल में हैं. वो पंकज कपूर से इस मामले की पूछताछ करते दिखाई दे रहे हैं. टेक्निकल तरीके से देखें, तो कम फ्रेम और कम डायलॉग्स में बातें कही गई हैं. ये सीरीज़ क्राइम थ्रिलर होगी.

3. कौन-कौन काम कर रहा है

सीरीज़ में हैं अभय देओल और पंकज कपूर. टीज़र में दोनों का कॉम्बिनेशन कमाल का लगता है. इसके अलावा बताया जा रहा है कि इसमें पीयूष मिश्रा, राजेश शर्मा, रितिका आनंद भी नज़र आ सकते हैं. अभय देओल साल 2019 की फिल्म ‘चॉप्सटिक’ में नज़र आए थे, जिसके बाद ‘द ऑड्स’ और ‘लाइन ऑफ डीसेंट’ में भी नज़र आए थे.    

4. कौन बना रहा है

अभय देओल की इस सीरीज़ को शैलेन्द्र व्यास डायरेक्ट कर रहे हैं. उन्होंने इससे पहले ‘थ्री कलर्स एंड कैनवास’ और ‘पालकी’ जैसी सीरीज़ की कहानी लिखी है. शैलेन्द्र ‘JL50’ के भी राइटर हैं. खास बात ये है कि ‘JL50’ सीरीज़ पर साल 2017 से काम चल रहा है, जो अब जाकर खत्म हुई है. 

फिल्म को लेकर अभय देओल ने ‘मुंबई मिरर’ को दिए एक इंटरव्यू में बताया था कि इस मूवी में वो टाइम ट्रैवेल पर हैं, जिसमें उनके कैरेक्टर को समय में पीछे जाना होगा.

5. कब और कहां आ रही है

टीज़र रिलीज़ होने के बाद अभी मेकर्स ने इसकी रिलीज़ डेट की कोई अनाउंसमेंट नहीं की है. ये सीरीज़ सोनी लिव की ओरिजनल वेब सीरीज़ है. माने सोनी लिव ऐप पर ही स्ट्रीम होगी. फैंस ने अभी से ही सीरीज़ को प्यार देना शुरू कर दिया है. पंकज कपूर और अभय देओल के कॉम्बिनेशन को लोग खूब पसंद कर रहे है.


वीडियो: दी सिनेमा शो: कंगना के शेयर किए फेक इंटरव्यू पर ख़ुद आमिर ने क्या कहा था?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

वेब सीरीज़ रिव्यू- फ्लेश

एक बार इस सीरीज़ को देखना शुरू करने के बाद मजबूत क्लिफ हैंगर्स की वजह से इसे एक-दो एपिसोड के बाद बंद कर पाना मुश्किल हो जाता है.

फिल्म रिव्यू- क्लास ऑफ 83

एक खतरनाक मगर एंटरटेनिंग कॉप फिल्म.

बाबा बने बॉबी देओल की नई सीरीज़ 'आश्रम' से हिंदुओं की भावनाएं आहत हो रही हैं!

आज ट्रेलर आया और कुछ लोग ट्रेलर पर भड़क गए हैं.

करोड़ों का चूना लगाने वाले हर्षद मेहता पर बनी सीरीज़ का टीज़र उतना ही धांसू है, जितने उसके कारनामे थे

कद्दावर डायरेक्टर हंसल मेहता बनायेंगे ये वेब सीरीज़, सो लोगों की उम्मीदें आसमानी हो गई हैं.

फिल्म रिव्यू- खुदा हाफिज़

विद्युत जामवाल की पिछली फिल्मों से अलग मगर एक कॉमर्शियल बॉलीवुड फिल्म.

फ़िल्म रिव्यू: गुंजन सक्सेना - द कारगिल गर्ल

जाह्नवी कपूर और पंकज त्रिपाठी अभिनीत ये नई हिंदी फ़िल्म कैसी है? जानिए.

फिल्म रिव्यू: शकुंतला देवी

'शकुंतला देवी' को बहुत फिल्मी बता सकते हैं लेकिन ये नहीं कह सकते इसे देखकर एंटरटेन नहीं हुए.

फ़िल्म रिव्यूः रात अकेली है

नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी और राधिका आप्टे अभिनीत ये पुलिस इनवेस्टिगेशन ड्रामा आज स्ट्रीम हुई है.

फिल्म रिव्यू- यारा

'हासिल' और 'पान सिंह तोमर' वाले तिग्मांशु धूलिया की नई फिल्म 'यारा' ज़ी5 पर स्ट्रीम होनी शुरू हो चुकी है.

फिल्म रिव्यू- दिल बेचारा

सुशांत के लिए सबसे बड़ा ट्रिब्यूट ये होगा कि 'दिल बेचारा' को उनकी आखिरी फिल्म की तरह नहीं, एक आम फिल्म की तरह देखा जाए.