Submit your post

Follow Us

इंडियन आर्मी ऑफिसर्स पर बन रही 7 फिल्में, जिन्हें देखकर छाती चौड़ी हो जाएगी

2019 में रिलीज़ होने वाली पहली फिल्म उड़ी हमले पर बनी ‘उड़ी- द सर्जिकल स्ट्राइक’ थी. विकी कौशल स्टारर इस फिल्म ने अपनी कमाई से फिल्म इंडस्ट्री का जोश ‘हाई’ कर दिया था. उसके बाद से वॉर और वॉर हीरोज़ पर बनने वाली फिल्मों की लाइन लग गई. ऋतिक वाली ‘वॉर’ नहीं युद्ध. वो तो कोरोना आ गया, वरना अब तक हम कई फिल्मों में पाकिस्तान और चीन को धूल चटा चुके होते. खैर, आज हम आपको बता रहे हैं आने वाली 7 बायोग्राफिकल फिल्मों के बारे में, जो इंडिया के सबसे बहादुर और सेलीब्रेटेड आर्मी ऑफिसर्स की लाइफ और जर्नी के बारे में बात करने वाली हैं.

1) गुंजन सक्सेना

फिल्म का नाम- गुंजन सक्सेना: द कारगिल गर्ल
डायरेक्टर- शरण शर्मा
एक्टर- जाह्नवी कपूर, पंकज त्रिपाठी, विनीत कुमार, अंगद बेदी.

कहानी- इंडिया की पहली महिला बैच की एयर-फोर्स पायलट. कारगिल वॉर के दौरान गुंजन और उनकी साथी पायलट श्रीविद्या राजन ने कश्मीर में घायल हुए जवानों को बीच वॉर से वापस घर लाने का काम किया था. कारगिल में जवानों को खाना, मेडिकल फैसिलिटी वगैरह भी इन्होंने ही पहुंचाई थी. साथ में पाकिस्तान के वॉर ज़ोन पर भी नज़र भी रखा करती थीं. 1999 में हुए कारगिल वॉर में इसी बहादुरी भरे काम के लिए गुंजन को शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया था.

2) कैप्टन विक्रम बत्रा

फिल्म का नाम- शेरशाह
डायरेक्टर- विष्णुवर्धन
एक्टर- सिद्धार्थ मल्होत्रा, कियारा आडवानी, जावेद जाफरी, निकितन धीर.

कहानी- विक्रम 1999 के कारगिल वॉर के हीरो थे. पॉइंट 5140 को पाकिस्तानी कब्जे से मुक्त करने के बाद उन्होंने अपनी कमांड पोस्ट को रेडियो से कहा था – ‘ये दिल मांगे मोर’. दूसरे पॉइंट को कैप्चर करते वक्त अपने एक घायल साथी की जान बचाने में उन्हें गोली लग गई और वो शहीद हो गए. पाकिस्तानी सेना में उनको ‘शेरशाह’ के कोडनेम से बुलाया जाता था. उन्हें मरणोपरांत भारत का सबसे ऊंचा वीरता पुरस्कार ‘परम वीर चक्र’ सम्मानित किया गया था.

कैप्टन विक्रम बत्रा बायोपिक 'शेरशाह' के पहले पोस्टर में सिद्धार्थ मल्होत्रा.
कैप्टन विक्रम बत्रा बायोपिक ‘शेरशाह’ के पहले पोस्टर में सिद्धार्थ मल्होत्रा.

3) फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ

फिल्म का नाम- सैम
डायरेक्टर- मेघना गुलज़ार
एक्टर- विकी कौशल

कहानी- आज़ाद भारत के पहले फील्ड मार्शल. सैम ने अपने करियर में दूसरे विश्व युद्ध (1941) से लेकर भारत की आज़ादी-बंटवारा (1947), इंडिया-चाइना वॉर (1962) और इंडिया-पाकिस्तान वॉर (1971) तक में हिस्सा लिया. 1971 में इंडो-पाक वॉर में उनकी भूमिका का खास ज़िक्र किया जाता है क्योंकि वो पूरी तरह से उनकी प्लानिंग और स्ट्रैटेजी के मुताबिक लड़ा गया. और उसमें इंडिया जीती भी. कश्मीर को भारत का हिस्सा बनाने में भी मानेकशॉ की काफी अहम भूमिका रही थी.

पहले फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ के लुक में विकी कौशल.
पहले फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ के लुक में विकी कौशल.

4) आईएएफ विंग कमांडर विजय कार्निक

फिल्म का नाम- भुज: द प्राइड ऑफ इंडिया
डायरेक्टर- अभिषेक दुधैया
एक्टर- अजय देवनग, संजय दत्त, सोनाक्षी सिन्हा, प्रणीता सुभाष, शरद केल्कर

कहानी- 1971, इंडिया-पाकिस्तान युद्ध में गुजरात के भुज एयरपोर्ट को चालू रखने की जिम्मेदारी विजय के पास थी. भारी बमबारी की वजह से भुज का एयर स्ट्रिप बर्बाद हो गया था. एयरस्ट्रिप मतलब एयरपोर्ट का वो हिस्सा जहां जहाज उतरते हैं. भुज एयरपोर्ट भारतीय एयर फोर्स की स्ट्रैटेजी के हिसाब से जरूरी था. ऐसे में विजय ने एयर फोर्स के 50 अफसर, 60 सिपाही और 300 लोकल सिविलियन महिलाओं की मदद से 72 घंटे में भुज का एयर स्ट्रिप ठीक कर अपना एयरबेस ऑपरेशनल बनाए रखा.

विजय कार्निक के किरदार के पहले लुक में अजय देवगन.
विजय कार्निक के किरदार के पहले लुक में अजय देवगन.

5) राइफलमैन जसवंत सिंह रावत

फिल्म का नाम- राइफलमैन
डायरेक्टर- अभी नहीं बताया गया.
एक्टर- सुशांत सिंह राजपूत

कहानी- जसवंत, 1962 इंडो-चाइना वॉर हीरो थे. अरुणाचल प्रदेश के नूरानंग में युद्ध चल रहा था. राइफलमैन जसवंत सिंह, लांस नायक त्रिलोक सिंह और राइफलमैन गोपाल सिंह ने मोर्चा संभाला हुआ था. त्रिलोक सिंह और गोपाल शर्मा के शहीद होने के बाद जसवंत सिंह अकेले 10 हज़ार फीट ऊंची पोस्ट पर डटे रहे. कहा जाता है कि जसवंत सिंह 72 घंटे तक अकेले चीनी सेना की एक टुकड़ी से लड़ते रहे. इस दौरान उन्होंने 300 से ज़्यादा चीनी सैनिक मार गिराए थे. उन्हें मरणोपरांत महावीर चक्र से सम्मानित किया गया.


6) सेकंड लेफ्टिनेंट अरुण खेत्रपाल

फिल्म का नाम- अभी तय नहीं है.
डायरेक्टर- श्रीराम राघवन
एक्टर- वरुण धवन

कहानी- 1971, इंडिया-पाकिस्तान वॉर. शकरगढ़ में टैंक्स कतार में लगाकर पाकिस्तान बड़े हमले की तैयारी में था. 17 हॉर्स रेजीमेंट मौके पर तैनात थी लेकिन पाकिस्तानी की ओर से हमला तेज था. उन्हें मदद की ज़रूरत थी. ऐसे में सीनियर्स के साथ अरुण भी अपना टैंक लेकर बढ़े. पाकिस्तान ने गोलेबारी और तेज कर दी. एक गोला अरुण खेत्रपाल की टैंक पर भी लगा. आग लगे टैंक से बाहर निकलने की बजाय अरुण ने दुश्मन टैंक्स को खदेड़ना शुरू कर दिया. मैदान में अरुण के सामने सिर्फ एक टैंक बचा था लेकिन उनके टैंक ने काम करना बंद कर दिया और वो सामने वाली टैंक के गोले का निशाना बन गए.

इन 6 फिल्मों के अलावा विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की बायोपिक पर भी काम चल रहा है. पुलवामा हमले के बाद भारतीय एयर फोर्स ने पाकिस्तान के आतंकी ठिकानों पर एयरस्ट्राइक की थी. इसके बाद पाकिस्तान के लड़ाकू विमान भारतीय सीमा में आ गए थे. जिनका पीछा करते हुए अभिनंदन लाइन ऑफ कंट्रोल (LOC) को पार कर गए थे. और पाकिस्तानी लड़ाकू विमान एफ-16 को मार गिराया था. पाकिस्तानी आर्मी ने उन्हें हिरासत में ले लिया था. लेकिन जल्द ही पाकिस्तान को अभिनंदन को सही सलामत छोड़ना पड़ा था. इस फिल्म को संजय लीला भंसाली प्रोड्यूस करेंगे और डायरेक्ट करेंगे ‘काय पो छे’ और ‘रॉक ऑन’ जैसी फिल्में बना चुके अभिषेक कपूर. फिल्म में लीड रोल कौन करेगा, ये अभी तक अनाउंस नहीं किया गया है.


 

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

फ़िल्म रिव्यूः गुलाबो सिताबो

विकी डोनर, अक्टूबर और पीकू की राइटर-डायरेक्टर टीम ये कॉमेडी फ़िल्म लेकर आई है.

फिल्म रिव्यू: चिंटू का बर्थडे

जैसे हम कई बार बातचीत में कह देते हैं कि 'ये दुनिया प्यार से ही जीती जा सकती है', उस बात को 'चिंटू का बर्थडे' काफी सीरियसली ले लेती है.

फ़िल्म रिव्यूः चोक्ड - पैसा बोलता है

आज, 5 जून को रिलीज़ हुई ये हिंदी फ़िल्म अनुराग कश्यप ने डायरेक्ट की है.

फिल्म रिव्यू- ईब आले ऊ

साधारण लोगों की असाधारण कहानी, जो बिलकुल किसी फिल्म जैसी नहीं लगती.

इललीगल- जस्टिस आउट ऑफ़ ऑर्डर: वेब सीरीज़ रिव्यू

कहानी का छोटे से छोटा किरदार भी इतनी ख़ूबसूरती से गढ़ा गया है कि बेवजह नहीं लगता.

बेताल: नेटफ्लिक्स वेब सीरीज़ रिव्यू

ये सीरीज़ अपने बारे में सबसे बड़ा स्पॉयलर देने से पहले स्पॉयलर अलर्ट भी नहीं लिखती.

पाताल लोक: वेब सीरीज़ रिव्यू

'वैसे तो ये शास्त्रों में लिखा हुआ है लेकिन मैंने वॉट्सऐप पे पढ़ा था.‘

इरफ़ान के ये विचार आपको ज़िंदगी के बारे में सोचने पर मजबूर कर देंगे

उनकी टीचर ने नीले आसमान का ऐसा सच बताया कि उनके पैरों की ज़मीन खिसक गई.

'पैरासाइट' को बोरिंग बताने वाले बाहुबली फेम राजामौली क्या विदेशी फिल्मों की नकल करते हैं?

ऐसा क्यों लगता है कि आरोप सही हैं.

रामायण में 'त्रिजटा' का रोल आयुष्मान खुराना की सास ने किया था?

रामायण की सीता, दीपिका चिखालिया ने किए 'त्रिजटा' से जुड़े भयानक खुलासे.