The Lallantop
Advertisement

'TMC कार्यकर्ता हिंदू महिला को कर रहे किडनैप', वायरल फोटो की क्या है सच्चाई?

Sandeshkhali की बताकर सोशल मीडिया पर एक फोटो शेयर की जा रही है. इसके साथ दावा किया जा रहा है कि TMC के नेता-कार्यकर्ता वहां पर महिलाओं का उत्पीड़न कर रहे हैं. क्या है इस फोटो की सच्चाई?

Advertisement
Viral Photo with Fake claim of Sandeshkhali TMC Workers
संदेशखाली को लेकर सोशल मीडिया पर तमाम तरह के दावे किए जा रहे हैं. क्या है इन दावों की सच्चाई? (फोटो- इंडिया टुडे/सोशल मीडिया)
17 फ़रवरी 2024 (Updated: 17 फ़रवरी 2024, 20:36 IST)
Updated: 17 फ़रवरी 2024 20:36 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

दावा: पश्चिम बंगाल के संदेशखाली (Sandeshkhali) में बीते दिनों कई महिलाओं ने तृणमूल कांग्रेस के नेता शाहजहां शेख और उनके समर्थकों पर जमीन हड़पने, यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था. 24 परगना जिले में पड़ने वाले इस गांव की महिलाओं ने शेख की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की थी. मामले पर मचे सियासी घमासान के बीच 15 फरवरी को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विधानसभा में भाषण दिया. उन्होंने बताया कि संदेशखाली मामले में 17 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है और जांच की जा रही है. 

इन सब बातों के बीच सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें वायरल हो रही हैं. दावा किया जा रहा है कि ये तस्वीर संदेशखाली की है, इसमें दिख रही महिला वहीं की स्थानीय निवासी है और जो पुरुष दिख रहा है, वो TMC कार्यकर्ता है. फोटो शेयर करके दावा किया जा रहा है कि TMC कार्यकर्ता ने हिंदू महिला को अगवा किया है.

सोशल मीडिया प्लेटफार्म X पर मनोज श्रीवास्तव नाम के यूजर ने लिखा,

संदेशखाली पश्चिम बंगाल. TMC के गुंडों द्वारा उठाई गई एक हिन्दू महिला.यह गुंडा जेहादी विक्ट्री का चिह्न दिखा रहा है. ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल को पाकिस्तान बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है. TMC हिन्दुओं पर अत्याचार कर रहे हैं. किसी की बहन, बेटी, बहू सुरक्षित नहीं.

लगभग इसी तरह के दावे और कैप्शन के साथ कई अन्य यूजर्स ने ये तस्वीर शेयर की.

सोशल मीडिया यूजर्स का दावा. 

पड़ताल:

क्या वाकई वायरल हो रही तस्वीर में कोई TMC कार्यकर्ता किसी महिला का उत्पीड़न कर रहा है? इसकी सच्चाई जानने के लिए हमने वायरल पोस्ट पर आए कुछ कमेंट्स देखें. कई यूजर ने कमेंट किया कि वायरल फोटो एक मूवी का सीन है. मिसाल के तौर पर, खुर्शीद नाम के यूजर ने लिखा, 

"साउथ की मूवी का पोस्टर चिपकाकर कुछ भी लिख-बोल दो. विश्वास करने वालो की अंधी फौज़ खड़ी हो चुकी है. हमारे देश को खतरा इन फेक न्यूज़ वालों से है."

वायरल हो  रहे पोस्ट पर यूजर्स ने कमेंट कर इसे मूवी सीन बताया.

इससे हमारा काम थोड़ा आसान हो गया. यूट्यूब पर हमें साल 2006 में रिलीज़ हुई फिल्म 'प्रतिघात' की वीडियो क्लिप मिली. इस वीडियो के एक घंटा 27 मिनट 20 सेकेंड पर वायरल तस्वीर में मौजूद सीन को देख सकते हैं. यह फिल्म 'विक्रमार्कुदु' का हिंदी में डब किया गया वर्जन है. इस फिल्म में बाहुबली एक्ट्रेस अनुष्का शेट्टी और रवि तेजा ने लीड रोल निभाया था. इसी की तर्ज पर बॉलीवुड में अक्षय कुमार वाली ‘राउडी राठौर’ बनी थी.  

साल 2006 में रिलीज़ हुई फिल्म 'प्रतिघात' की वीडियो क्लिप

निष्कर्ष: तो ये साफ है कि एक फिल्म सीन का स्क्रीनशॉट लेकर उस तस्वीर को संदेशखाली में हुए कांड से जोड़कर झूठा दावा किया जा रहा है. इस फोटो का पश्चिम बंगाल में हुए कथित यौन उत्पीड़न केस से या संदेशखाली से कोई लेना-देना नहीं है.

पड़ताल की वॉट्सऐप हेल्पलाइन से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें. ट्विटर और फेसबुक पर फॉलो करने के लिए ट्विटर लिंक और फेसबुक लिंक पर क्लिक करें.

वीडियो: TMC नेता पर रेप के आरोप, संदेशखाली में प्रदर्शनकारी महिलाओं से मिले राज्यपाल

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement