Submit your post

Follow Us

चार बार से लगातार जीतने वाले जीएस बाली जीते या हारे?

सीट- नगरोटा 

जिला- कांगड़ा

अरुण कुमार कूका ने कद्दावर नेता जीएस बाली को 1000 मतों से हरा दिया है. 

अरुण को 32039 वोट मिले, वहीं जीएस बाली के नाम 31039 वोट पड़े. 

चार बार से सत्ता पर काबिज़ जीएस बाली को कूका ने पटखनी दी तो बाली ने VVPAT से अपने पक्ष में पड़े मतों को क्रॉस चेक करने की मांग की. इस तरह नगरोटा की इस सीट पर रिजल्ट में देरी हुई और आखिरकार बाली को 860 मतों के अंतर से हारा हुए घोषित किया गया. 

नगरोटा की सीट पर अभी तक एक ही आदमी का दबदबा रहा था. ये नाम है कांग्रेस के जीएस बाली का. पिछले चार बार से ये नेता यहां से जीत रहा है. वीरभद्र सरकार में ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर पार्टी में सुखविंदर सिंह सुक्खु के खेमे के माने जाते हैं.

22539735_1965417510414621_1137370647114396591_n
अरुण कुमार कूका ने बाली के खिलाफ मोर्चा खोल रखा था.

यानी वीरभद्र की खिलाफत करने वालों में बाली का नाम भी आता है. 1998 में पहली बार कांग्रेस की टिकट से जीते और 2003 में पहली बार हिमाचल सरकार में कैबिनेट मंत्री बनाए गए थे. इस बार मुकाबला बाली और भाजपा के अरुण कुमार कूका के बीच था. पिछली बार कूका इंडिपेंडेट खड़े थे और इस बार भाजपा ने टिकट दिया है. कूका मौजूदा व्यापार मंडल के अध्यक्ष हैं और नगर परिषद के दो बार उपाध्यक्ष और पार्षद रह चुके हैं.

2012 चुनाव– बाली ने पिछली बार भी निर्दलीय उम्मीदवार अरुण कुमार को करीब 2743 वोटों से हराया था.

जीएस बाली पर भ्रष्टाचार के भी आरोप लगते रहे हैं.
जीएस बाली पर भ्रष्टाचार के भी आरोप लगते रहे हैं.

तीन फैक्टर- 

– जीएस बाली की हार का कारण कांग्रेस की गुटबंदी है. बाली का धड़ा वीरभद्र विरोधी है और खुद वीरभद्र इन्हें हराना चाहते थे.

– चार बार से लगातार जीत रहे बाली के विरोधी आरोप लगाते रहे हैं कि उन्होंने अपने कार्यकाल में खूब पैसा बनाया है और अपने करीबियों को ट्रांसपोर्ट मंत्री रहते फायदा पहुंचाया.

– अरुण ने पिछले चुनाव में बतौर निर्दलीय भी बाली को तगड़ी चुनौती दी थी, मगर इस बार पटखनी देने में सफल हुए.

नगरोटा सीट से लल्लनटॉप वीडियो देखिए-

ये भी पढ़ें-

हिमाचल में सेब लाने वाले की बहू की सीट पर कौन जीता?

हिमाचल में धूमल के हारने पर कौन बनेगा मुख्यमंत्री?

उस सीट पर कौन जीत रहा है जहां मोदी ने अपनी दोस्त को टिकट दिया है?

वीरभद्र ने जो सीट बेटे के लिए छोड़ी, वहां कौन जीता?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.