Submit your post

Follow Us

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

294
शेयर्स

गुजरात विधानसभा चुनावों के नतीजे आ गए हैं. नरेंद्र मोदी की भारतीय जनता पार्टी ने गिरते-पड़ते किसी तरह जीत हासिल कर ली है. उधर कांग्रेस भी संतोष में है कि उनके नए-नवेले प्रेसिडेंट राहुल गांधी का कद थोड़ा और बढ़ गया. जिग्नेश मेवानी और अल्पेश ठाकोर जैसे नए चेहरे भी चमक गए. पर इन सबमें अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी की परफॉरमेंस का क्या हुआ जिन्होंने 33 सीटों पर अपने कैंडिडेट उतारे थे?

दिल्ली में भले ही आम आदमी पार्टी का डंका बजता हो लेकिन दिल्ली से बाहर कामयाबी पाने के लिए अभी उन्हें बहुत चांद-सूरज देखने पड़ेंगे. गुजरात विधानसभा चुनावों के नतीजों ने ये कड़वा सच फिर से आम आदमी पार्टी के आगे लाकर पटक दिया है. गुजरात में जिन 33 सीटों पर AAP ने कैंडिडेट उतारे थे, उन सभी 33 सीटों पर उनकी बुरी तरह हार हो गई है. TOI में छपी ख़बर के अनुसार, न सिर्फ AAP की हार हुई है बल्कि सभी उम्मीदवारों की ज़मानत तक ज़ब्त हो गई है. पार्टी ने इसका ठीकरा भी EVM के सर ही फोड़ा है.

दिल्ली में बम्पर जीत के बाद कहीं और नहीं चला है आम आदमी पार्टी का जादू.
दिल्ली में बम्पर जीत के बाद कहीं और नहीं चला है आम आदमी पार्टी का जादू.

दिल्ली से बाहर इस साल आम आदमी पार्टी की ये लगातार तीसरी हार है. इससे पहले गोवा और पंजाब में भी उनकी उम्मीदों के खिलाफ़ नतीजे आए थे. गोवा में तो खाता भी नहीं खुला था. पंजाब में सरकार बनाने का दावा करने वाली AAP को महज़ 20 सीटें हासिल हुई थीं.

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा है कि EVM जीत गई है और गुजरात हार गया है. उन्होंने कहा,

“सभी VVPAT स्लिप्स की काउंटिंग होनी चाहिए और उन्हें नतीजों से मैच करके देखना चाहिए. इसके बगैर ये एक फिक्स्ड मैच ही माना जाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली से लोग नदारद थे और बीजेपी कैम्प में खलबली थी. उधर हार्दिक पटेल की रैलियों में ज़बरदस्त भीड़ थी. बीजेपी इतनी आसानी से कैसे जीत सकती है?”

इलेक्शन कमीशन ने फैसला किया है कि वो हर विधानसभा के एक बूथ से VVPAT स्लिप को चेक करेगी. इस पर सौरभ कहते हैं,

“हम पांचवी के स्टूडेंट्स नहीं हैं. हमें पता है वही बूथ चुने जाएंगे जहां EVM टेम्परिंग न हुई हो.”

आम आदमी की पार्टी की इतनी बुरी परफॉरमेंस के बारे में पूछने पर आम आदमी पार्टी के एक और प्रवक्ता का सवाल था,

“परफॉरमेंस अच्छी कैसे होगी, जब EVM से ही छेड़खानी की गई हो?”

ये तो वही बात हुई कि लड़का इसलिए फेल हो गया क्योंकि एग्जाम हॉल का पंखा ठीक नहीं चल रहा था. बाकी सब ठीक है. सब मिले हुए तो हैं ही.


ये भी पढ़ें:

गुजरात चुनाव के बाद सबसे घटिया बयान इस नेता ने दिया है

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

वीडियो: गुजरात का ये नेता इंदिरा गांधी को धमकाकर बना था सूबे का मुख्यमंत्री

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

चुनाव 2018

कमल नाथ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री, कैबिनेट में ये नाम हो सकते हैं शामिल

कमल नाथ पहली बार दिल्ली से भोपाल की राजनीति में आए हैं.

राजस्थान: हो गया शपथ ग्रहण, CM बने गहलोत और पायलट बने उनके डेप्युटी

राहुल गांधी, मनमोहन सिंह समेत कांग्रेस के ज्यादातर बड़े नेता जयपुर के अल्बर्ट हॉल पहुंचे हैं.

मायावती-अजित जोगी के ये 11 कैंडिडेट न होते, तो छत्तीसगढ़ में भाजपा की 5 सीटें भी नहीं आती

कांग्रेस के कुछ वोट बंट गए, भाजपा की इज़्ज़त बच गई.

2019 पर कितना असर डालेंगे पांच राज्यों के चुनावी नतीजे?

क्या मोदी के लिए परेशानी खड़ी कर पाएंगे राहुल गांधी?

क्या अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री की कुर्सी के लिए अपनी गोटी सेट कर ली है

लेकिन सचिन पायलट का एक दाव अशोक गहलोत को चित्त कर सकता है.

मोदी सरकार के लिए खतरे की घंटी क्यों हैं ये नतीजे?

आज लोकसभा चुनाव हो जाएं तो पांच राज्यों में भाजपा को क्यों लगेगा जोर का झटका?

भंवरी देवी सेक्स सीडी कांड से चर्चित हुई सीटों पर क्या हुआ?

इस केस में विधायक और मंत्री जेल में गए.

क्या शिवराज के कहने पर कलेक्टरों ने परिणाम लेट किए?

सोशल मीडिया का दावा है. जानिए कि परिणामों में देरी किस तरह हो जाती है.

राजस्थान चुनाव 2018 का नतीजा : ये कांग्रेस की हार है

फिनिश लाइन को पार करने की इस लड़ाई में कांग्रेस ने एक बड़ा मौका गंवा दिया.

बीजेपी को वोट न देने पर गद्दार और देशद्रोही कहने वाले कौन हैं?

जनता ने मूड बदला तो इनके तेवर बदल गए और गालियां देने लगे.