Submit your post

Follow Us

AAP की जीत के जश्न में जिस 'बेबी केजरीवाल' पर सबकी नज़रें थीं, वो कौन है?

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020. आम आदमी पार्टी (AAP) ने 62 और BJP ने 8 सीटें जीतीं. 11 फरवरी को नतीजे आए. सुबह से ही AAP के कार्यालय के बाहर भीड़ जमा थी. शुरुआती रुझान आने के बाद ही लोगों ने सेलिब्रेशन शुरू कर दिया था. कई सारी तस्वीरें सामने आ रही थीं. इन्हीं सबके बीच एक ऐसी फोटो सामने आई, जिसने हर किसी का ध्यान खींच लिया. वो तस्वीर थी ‘बेबी केजरीवाल’ की.

एक साल का प्यारा-सा बच्चा दिल्ली सीएम केजरीवाल की तरह तैयार हुआ था. बाकायदा स्वेटर-मफलर पहनकर, चश्मा-टोपी लगाकर आया था. नकली मूंछें भी बनी हुई थीं. AAP ने भी बच्चे की तस्वीर ट्वीट की थी. कैप्शन दिया था, ‘मफलरमैन’.

कौन है ये बच्चा?

बच्चे का नाम है अव्यान तोमर. पैरेंट्स AAP समर्थक हैं. पिता का नाम राहुल तोमर है, मां का नाम मीनाक्षी है. राहुल दिल्ली में बिजनेस करते हैं. दोनों तब से केजरीवाल को सपोर्ट कर रहे हैं, जब से वो अन्ना हजारे के साथ जनलोकपाल आंदोलन में शामिल हुए थे. यानी साल 2011 में. इसी आंदोलन के बाद केजरीवाल ने AAP बनाई थी.

2015 में बेटी को बनाया था ‘बेबी केजरीवाल’

2015 में जब केजरीवाल रामलीला मैदान में दिल्ली के सीएम पद की शपथ ले रहे थे, उस वक्त भी राहुल और मीनाक्षी वहां पहुंचे थे. उस टाइम उन्होंने अपनी बेटी ‘फेयरी’ को केजरीवाल की तरह तैयार किया था. बिल्कुल वैसा ही लुक दिया था, जैसा इस बार अव्यान को दिया. तब मीनाक्षी ने PTI से कहा था,

‘मैं चाहती हूं कि मेरी बेटी भी केजरीवाल की तरह बने. उसके अंदर भी वही सारी क्वालिटी आएं, जो उनके अंदर हैं. जैसे- ईमानदारी, सत्यनिष्‍ठा, संवेदना. हम उसे अन्ना हजारे की रैली के दौरान भी यहां लेकर आते थे. जब केजरीवाल भ्रष्टाचार विरोधी संघर्ष में आगे आए, तो हमने हमारी बेटी को इस संघर्ष का शुभंकर बनाया.’

Avyaan Tomar
इस तस्वीर में राहुल अपने बेटे अव्यान तोमर को पकड़कर पब्लिक के हाथों में चलाते हुए. फोटो- ट्विटर.

सुबह से ही अव्यान AAP कार्यालय में था

खैर, इस बार राहुल-मीनाक्षी ने अपने बेटे को ‘बेबी केजरीवाल’ बनाया था. 11 फरवरी की सुबह ही राहुल अपने बच्चे को केजरीवाल की तरह तैयार करके AAP कार्यालय पहुंच गए थे, जहां हर कोई उसकी तस्वीर क्लिक कर रहा था. हालांकि अव्यान केवल एक साल का है. इतनी भीड़ देखकर, शोर-शराबे में वो कुछ समय बाद इरीटेट भी होने लगा था. लेकिन फिर भी दोपहर तक राहुल अव्यान के साथ AAP कार्यालय के बाहर थे.


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.