Submit your post

Follow Us

कोच बिहार हिंसा को अमित शाह ने ममता के किस भाषण का नतीजा बताया है?

पश्चिम बंगाल में चौथे चरण की वोटिंग के दौरान शनिवार, 10 अप्रैल को सुरक्षा बलों की ओर से हुई फायरिंग में चार लोगों की मौत हो गई. ये घटना कोच बिहार में हुई थी. इसके बाद टीएमसी और बीजेपी आमने सामने हैं. राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार, 11 अप्रैल को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह पर निशाना साधा. वही इस मामले में पहली बार अमित शाह का भी बयान आया है.

पश्चिम बंगाल के शांतिपुर में अमित शाह ने रोड शो किया. कोच बिहार की घटना पर कहा,

बंगाल चुनाव के चौथे चरण में कल एक दुखद घटना हुई. जिस प्रकार से इस घटना का राजनीतिकरण किया जा रहा है ये बहुत दुखद है. मैंने ममता दीदी के बयान देखे हैं, उसी बूथ पर सुबह आनंद बर्मन की गुंडों द्वारा हत्या कर दी गई, ताकि वहां पर मतदान न हो और CISF के हथियार लूटने की कोशिश की. ममता दीदी सिर्फ चार लोगों को श्रद्धांजलि देती हैं, उनको आनंद बर्मन की मौत की नहीं पड़ी है. मृत्यु में भी तुष्टिकरण और वोट की राजनीति करना, ममता दीदी ने बंगाल की राजनीति को कितना नीचे​ गिराया है, ये इसका एक उदाहरण है. उसी सीतलकुची सीट पर ममता दीदी ने कुछ दिन पहले भाषण दिया था कि सेंट्रल फोर्स वाले आएं तो उन्हें घेर लो, उन पर हमला करो. मैं ममता दीदी से पूछना चाहता हूं कि क्या आपका वो भाषण उन 4 लोगों की मौत का जिम्मेदार नहीं है.

इससे पहले ममता बनर्जी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पीड़ित परिजनों से वीडियो कॉल के जरिए बात की. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री और गृह मंत्री के साथ यह सरकार भी असमर्थ है. वे बंगाल पर कब्जा करने के इरादे से रोज यहां आ रहे हैं. आपका स्वागत है. कोई आपको रोक नहीं रहा, लेकिन आप लोगों को डराने-धमकाने की बजाय खुश रखें. पहले आप सुरक्षा बलों के जरिए लोगों की जान लेते हैं और बाद में उन्हें क्लीन चिट देते हैं. उन्होंने गोलियां बरसाईं. वो उनको पैर या शरीर के निचले हिस्से में गोली मार सकते थे, लेकिन सब गोलियां उन्हें गर्दन या छाती में लगीं.

ममता ने कहा कि नियम है कि पहले लाठी चलाए जाएं, फिर आंसू गैस के गोले छोड़े जाएं या पानी की बौछारें. यही नियम हैं. मैं इसके साथ राजनीति नहीं करना चाहती. मैं शुरू से कह रही हूं कि वे लोगों को भयभीत कर रहे हैं और उन्हें वोट देने से मना कर रहे हैं. लोगों को मतदान करने की अनुमति दी जानी चाहिए. मतदान ही उसका मुंहतोड़ जवाब है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सिलीगुड़ी में संवाददाताओं से बात करते हुए बनर्जी ने कहा कि यह बात (आत्म रक्षा में गोली चलाने की) कहां से आयी. उनकी तरफ से कौन घायल हुआ? क्या कोई फुटेज है? लोगों की हत्या करने के बाद वे अपनी इस हरकत का बचाव कर रहे हैं. इस घटना से जुड़ी परिस्थितियों का पता लगाने के लिए CID जांच कराई जाएगी.

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि निर्वाचन आयोग के विशेष पुलिस पर्यवेक्षक विवेक दुबे द्वारा दी गई शुरुआती रिपोर्ट में कहा गया है कि करीब 350-400 लोगों की भीड़ ने केंद्रीय बलों को घेर लिया जिसके बाद उन्होंने “आत्म-रक्षा” में गोली चलाई.


बंगाल चुनाव: एक ही बैठकी में मिल गए मोदी, ममता और लेफ्ट समर्थक, फिर जो हुआ खुद देखिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.