Submit your post

Follow Us

मध्य प्रदेश उपचुनाव में मर्यादा की हद लांघ रहे नेता, वायरल हो रहे विवादित बयान

मध्य प्रदेश उपचुनाव में नेता एक-दूसरे के लिए जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं, वो सोशल मीडिया पर सुर्खियों में है. विवादास्पद बयान और अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल करने की मानो होड़ लगी हुई है. ताजा मामला मुरैना के दिमनी का है, जहां बीजेपी प्रत्याशी ने कांग्रेस नेता कमलनाथ को लेकर विवादित बयान दिया है.

गिर्राज दंडोतिया शिवराज सरकार में मंत्री और बीजेपी प्रत्याशी हैं. उन्होंने कमलनाथ के बयान का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने जो भी कहा, अगर कोई ऐसा अपने चंबल में कहता, तो कत्ल हो जाता. दंडोतिया ने कहा-

”उन्होंने डबरा में ऐसा कहा. अगर दिमनी में कहा होता, तो सिर काट देते और यहां से लाशें उठकर जातीं.”

जिस वक्त उन्होंने ये बात कही, ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मंच पर मौजूद थे.

दंडोतिया ने कांग्रेस के एक नेता के व्यक्तिगत जीवन पर भी टिप्पणी करते हुए कहा-

”75 साल का बुड्ढा, 45 की महिला को शादी करके ले आया. हमारे यहां कोई ऐसा करता, तो उसे घर से निकाल देते.”

दंडोतिया के इन बयानों पर प्रशासन सख्त हो गया है और दिमनी थाने में एफआईआर दर्ज कर ली गई है.

इस बयान के खिलाफ कांग्रेस ने शिकायत की थी. निर्वाचन आयोग ने दंडोतिया के इस बयान को हिंसक और डराने-धमकाने वाला पाया. मुरैना के पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानिया ने बताया कि धारा 506 और 188 का मामला दर्ज किया गया है.

जीतू पटवारी के बयान पर हुआ था विवाद

हाल ही में पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता जीतू पटवारी ने खण्डवा जिले के मांधाता विधानसभा क्षेत्र में अपने भाषण में कहा था कि शिवराज सिंह चौहान, कमलनाथ के पैरों की धूल भी नहीं हैं. उन्होंने कहा-

”कमलनाथ ऐसे व्यक्तित्व हैं, जिन्हें राजनीति में सबकुछ मिला, नौ बार लगातार सांसद रहे. मध्य प्रदेश में उनके बराबर कोई नहीं है, शिवराज सिंह तो उनके पैरों की धूल भी नहीं हैं. यह बात मैं सच कह रहा हूं, यह मेरी आत्मा की आवाज है.”

कमलनाथ के बयान पर हुआ था विवाद

एमपी के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ डबरा में प्रचार के लिए पहुंचे थे. वहां उन्होंने बीजेपी प्रत्याशी इमरती देवी को ‘आइटम’ बोल दिया था. चुनाव आयोग ने इस पर कमलनाथ से जवाब मांगा था. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इस पर नाराजगी जाहिर की थी. हालांकि कमलनाथ ने अपने बयान पर माफी मांगने से इनकार कर दिया था.

बिसाहूलाल साहू ने भी दिया था विवादित बयान

शिवराज सिंह सरकार में मंत्री बिसाहूलाल साहू ने कांग्रेस प्रत्याशी की पत्नी को अपशब्द कह दिया था. उनका एक वीडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें वह कहते दिखे कि विश्वनाथ सिंह ने चुनावी फॉर्म में अपनी पहली पत्नी का ब्योरा नहीं दिया है और दूसरी औरत का ब्योरा दिया है. इसी दौरान बिसाहूलाल साहू ने अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया. इसके बाद कांग्रेस प्रत्याशी विश्वनाथ सिंह कुंजाम की पत्नी राजवती सिंह कुंजाम की शिकायत पर पुलिस ने साहू के खिलाफ मामला दर्ज किया.

कमलनाथ को कहा- कमरनाथ

इंदौर से बीजेपी सांसद शंकर लालवानी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की, जिसमें उन्होंने पूर्व सीएम कमलनाथ को ‘कमरनाथ’ कहा. उन्होंने अभिनेत्री सेलिना जेटली के साथ कमलनाथ की एक फोटो दिखाते हुए कहा-

”देखिए किस तरह उनका हाथ कमर पर है. ये मैं नहीं, जनता बोल रही है कि वो कमलनाथ नहीं, बल्कि कमरनाथ हैं.”

लगातार गिर रहा है बयानबाजी का स्तर

# कांग्रेस नेता अजय सिंह ने कहा था कि जनता 3 नवंबर को इमरती देवी को ‘जलेबी देवी’ बना देगी.

# बीजेपी उम्मीदवार इमरती देवी ने कहा कि कमलनाथ ‘लुच्चे-लफंगे’ बन गए हैं.

# बीजेपी नेता उषा ठाकुर ने कहा था कि मदरसों में आतंकी पैदा होते हैं.

# बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने कमलनाथ और दिग्विजय सिंह को ‘चुन्नू-मुन्नू’ कहा.

# कांग्रेस नेता दिनेश गुर्जर ने शिवराज सिंह को भूखे नंगे घर का बता दिया.

तमाम बयानों से ये तो साफ है कि मध्य प्रदेश के उपचुनावों में बयानबाजी का स्तर लगातार गिरता जा रहा है. इस तरह की बयानबाजी में कोई किसी से पीछे नहीं है. देखना होगा कि चुनाव आयोग इस तरह के बयानों पर क्या एक्शन लेता है.


वीडियो- बिहार चुनाव: शिवहर सीट के प्रत्याशी की गोली मारकर हत्या, एक आरोपी को भीड़ ने मार डाला

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गुजरात चुनाव 2017

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

गुजरात और हिमाचल में सबसे बड़ी और जान अटका देने वाली जीतों के बारे में सुना?

एक-एक वोट कितना कीमती होता है, कोई इन प्रत्याशियों से पूछे.

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

गुजरात विधानसभा चुनाव के चार निष्कर्ष

बहुमत हासिल करने के बावजूद चुनाव के नतीजों से बीजेपी अंदर ही अंदर सकते में है.

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

गुजरात में AAP का क्या हुआ, जो 33 सीटों पर लड़ी थी!

अरविंद केजरीवाल का गुजरात में जादू चला या नहीं?

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

गुजरात चुनाव के बाद सुशील मोदी को खुला खत

चुनाव के नतीजे आने के बाद भी लिचड़ई नहीं छोड़ रहे.

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इस चुनाव में राहुल और हार्दिक से ज्यादा अफसोस इन सात लोगों को हुआ है

इन लोगों ने थोड़ी मेहनत और की होती, तो ये गुजरात की विधानसभा में बैठने की तैयारी कर रहे होते.

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

राहुल गांधी ने चुनाव में हार के बाद ये 8 बातें बोली हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्रेडिबिलिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए.

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

गुजरात में हारे कांग्रेस के वो बड़े नेता जिन पर राहुल गांधी को बहुत भरोसा था

इनके बारे में कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े प्लान बनाए होंगे.

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

बीजेपी के वो 8 बड़े नेता जो गुजरात चुनाव में हार गए

इनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाएं और तमाम टोटके नहीं जिता सके.

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद ये 5 बातें कहीं

दोनों प्रदेशों में भगवा लहराया मगर गुजरात की जीत पर भावुक दिखे पीएम.

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

ये सीट जीतकर कांग्रेस ने शंकरसिंह वाघेला से बदला ले लिया है

वाघेला ने इस सीट पर एक निर्दलीय प्रतायशी को वॉकओवर दिया था.