The Lallantop
Advertisement

Chhattisgarh Election Result: कवर्धा में भूपेश बघेल के अकबर हारे या जीते?

भूपेश बघेल सरकार के कैबिनेट मंत्री मोहम्मद अकबर 1978 से राजनीति में हैं. साल 1998 में उन्होंने पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ा और जीता. इसके बाद 2003, 2008 और 2018 में भी जीते.

Advertisement
Chhattisgarh Election 2023 Result
बाएं से दाएं- कांग्रेस के मोहम्मद अकबर और BJP के अशोक साहू (फोटो- इंडिया टुडे)
3 दिसंबर 2023 (Updated: 3 दिसंबर 2023, 21:50 IST)
Updated: 3 दिसंबर 2023 21:50 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

छत्तीसगढ़ की कवर्धा विधानसभा सीट. इसे BJP का गढ़ माना जाता है. साल 2003 से 2013 तक यहां BJP ही थी. लेकिन साल 2018 के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के मोहम्मद अकबर ने BJP के अशोक साहू को 59,284 वोटों से हराया था. लेकिन इस साल BJP के विजय शर्मा ने अकबर को 39,592 से हरा दिया है (Chhattisgarh Election 2023 Result). उन्हें एक लाख 44 हजार 257 वोट मिले, जबकि अकबर को एक लाख 4665 लोगों ने वोट किया था.

भूपेश बघेल सरकार के कैबिनेट मंत्री मोहम्मद अकबर 1978 से राजनीति में हैं. साल 1998 में उन्होंने पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ा और जीता. इसके बाद 2003, 2008 और 2018 में भी जीते. 2018 में उन्हें बघेल सरकार ने परिवहन मंत्री बनाया. अकबर ने अपने कार्यकाल के दौरान कवर्धा क्षेत्र में मेडिकल कॉलेज, बड़े बांध और मॉडल बस स्टैंड बनवाए हैं. उन्हें उम्मीद थी कि वो इस बार भी चुनाव जीतेंगे. लेकिन एग्जिट पोल्स को गलत साबित करने वाली बीजेपी ने उनकी उम्मीद तोड़ दी.

ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ का अगला मुख्यमंत्री बनेगा ये लड़का?

साल 2018 में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद से ही कवर्धा में सांप्रदायिक तनाव का सिलसिला बढ़ा था. अक्टूबर 2021 में धार्मिक झंडा फहराने को लेकर तनाव बढ़ा. इसी के चलते सरकार ने कई BJP नेताओं को जेल भेजा था. उन्हीं में से एक, BJP के प्रदेश महामंत्री विजय शर्मा भी थे. वो 2 महीनें जेल में भी रहे थे. इस बार BJP ने कवर्धा से उन्हें उम्मीदवार बनाया था. विजय शर्मा ज़िला पंचायत के सदस्य रह चुके हैं.

हार पर राहुल गांधी ने क्या कहा?

छत्तीसगढ़ के अलावा मध्य प्रदेश और राजस्थान में भी कांग्रेस को हार मिली है. हालांकि पार्टी तेलंगाना में जीती है. इसके बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी X पर ने लिखा,

“मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान का जनादेश हम विनम्रतापूर्वक स्वीकार करते हैं - विचारधारा की लड़ाई जारी रहेगी." 

छत्तीसगढ़ की 90 सीटों में से 54 पर बीजेपी के प्रत्याशी जीते हैं या विपक्षी पार्टी के उम्मीदवार से आगे चल रहे हैं. वहीं कांग्रेस 35 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है. 33 पर उसके कैंडिडेट जीत चुके हैं. दो पर आगे चल रहे हैं. एक सीट जीजीपी के खाते में गई है.

ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल की हार का कारण रमन सिंह ने बता दिया!
 

वीडियो: मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ सहित पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव 2023 में भ्रष्टाचार की हद पार

thumbnail

Advertisement