Submit your post

Follow Us

आपके शहर में लगने जा रहे कोरोना के 'आगरा मॉडल' में क्या ख़ास बात है?

भीलवाड़ा मॉडल तो बहुत चर्चा में रहा. ऐसे में UP के आगरा का मॉडल भी ख़ास चर्चा में है. हिंदुस्तान टाइम्स में प्रकाशित ख़बर बताती है कि केंद्र सरकार ने सभी राज्यों से कहा है कि आगरा वाला मॉडल फ़ॉलो करिए. क्या ख़ास बात है? आइए जानते हैं.

कैसे शुरू हुआ?

25 फ़रवरी. इटली से लौटा दिल्ली का एक नागरिक आगरा पहुंचा. अपने परिजनों के साथ. कई फैक्टरियों में गया. कई रेस्तराँ में गया. कई लोगों से मिला. वह व्यक्ति 2 मार्च को पहुंचा ज़िला अस्पताल. 3 मार्च. आगरा में 6 लोग कोरोना पॉज़िटिव मिले. सभी की मुलाक़ात दिल्ली से लौटे इस आदमी से हुई थी. इस समय देशभर में लगभग 30 लोग बीमार थे. इधर 6 केसों पर ही आगरा नगर प्रशासन ने अपना काम करना शुरू कर दिया. आगरा के DM प्रभु सिंह हिंदुस्तान टाइम्स से बताते हैं,

“हमने तुरंत डोर टू डोर जाना शुरू किया. संक्रमित लोगों की पहचान शुरू की. और उन्हें क्वॉरंटीन में रखा.”

इस्तेमाल में आया क्लस्टर कंटेन्मेंट

क्लस्टर कंटेन्मेंट क्या होता है? माना कुछ लोग संक्रमित हो गए. तो सभी को एक ख़ास भूभाग में ही कंटेन कर दिया जाएगा. न कोई बाहर. न बाहर से कोई अंदर. ऐसे में ये होगा कि संक्रमण दूसरी जगहों पर नहीं फैल सकेगा. आगरा में ये करने के लिए पुलिस और जनता को मिलाकर रैपिड रेस्पॉन्स टीम बनी. आशा वर्करों की मदद ली गयी. अगर किसी इलाक़े में एक केस मिलता. तो आसपास के 3 किलोमीटर के इलाक़े को सील कर दिया जाता. हरेक घर में मौजूद हरेक शख़्स की जांच की जाती. आगरा के चीफ मेडिकल अफ़सर मुकेश वत्स और उनकी टीम ने ख़ुद इसकी ज़िम्मेदारी उठाई.

देश में कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 10 हज़ार पार कर चुकी है, ऐसे में सरकार का मानना है कि आगरा मॉडल से रोकथाम में मदद मिलेगी.
देश में कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 10 हज़ार पार कर चुकी है, ऐसे में सरकार का मानना है कि आगरा मॉडल से रोकथाम में मदद मिलेगी.

Indian Express में छपी ख़बर के मुताबिक 1248 टीमों द्वारा 1.65 लाख घरों में ट्रेसिंग की गयी थी. कुल 9.3 लाख लोगों तक स्वास्थ्य विभाग की टीमें पहुंचीं.

इसके साथ ही संक्रमित व्यक्ति से पूछा जाता कि जांच से पहले के 14 दिनों के समय में वे किन-किन लोगों से मिला. किन-किन जगहों पर गया. झूठ या ग़लतबयानी की गुंजाइश न रहे, इसके लिए GPS, फ़ोन ट्रैकिंग और सीसीटीवी कैमरों की भी मदद ली जाती थी. ड्रोन कैमरों की मदद से 3 किलोमीटर के रेडियस के इलाक़े पर नज़र बनायी गयी. ताकि कोई अंदर-बाहर न करे.

अगला स्टेप? ताबड़तोड़ जांच

ये तो शहर सील कर दिया गया. लेकिन इसी समय काम आगे बढ़ाना था. सैम्पल और सैम्पल आए जा रहे थे. जांच होनी थी. लोगों को क्वॉरंटीन करने की जगहों की ज़रूरत थी. होटलों को पकड़ा गया. उनके कमरों में पेड क्वॉरंटीन सेंटर बना दिया गया. दी प्रिंट की ख़बर बताती है कि आगरा के 3-सितारा होटलों में पेड क्वॉरंटीन के 566 बेड हैं. इसके अलावा स्वास्थ्यकर्मियों के लिए लगभग 3000 बेड.

क्वॉरंटीन के बाद बारी आयी टेस्टिंग की. यहां पर भी मुस्तैदी और तैयारी. प्रतीकात्मक तस्वीर मुंबई से. क्रेडिट- PTI.
क्वॉरंटीन के बाद बारी आयी टेस्टिंग की. यहां पर भी मुस्तैदी और तैयारी. प्रतीकात्मक तस्वीर मुंबई से. (क्रेडिट- PTI)

स्मार्ट सिटी की वेबसाइट है. क्यों है? क्योंकि आगरा से केंद्र सरकार का स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट शुरू हुआ था. इस वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन शुरू करवा दिया गया. लोगों से कहा गया कि थोड़े-मोड़े भी अगर लक्षण दिखें तो यहां पर अपने आपको आकार चेक कर लीजिए. लोग आए. अपनी जानकारी डाली. पता किया. कुछ गड़बड़ है तो प्रशासन ने तुरंत लोगों से सम्पर्क किया. जांच-क्वॉरंटीन-कांटैक्ट ट्रेसिंग का सिलसिला चल निकला.

स्मार्ट सिटी का कंट्रोल रूम भी है. इसको तुरंत कोरोना का वार रूम बना दिया गया. पूरे शहर में कैमरे लगे हैं. एसएसपी सौरभ दीक्षित ने दी प्रिंट को बताया कि शहर के किसी भी हिस्से में अगर एक जगह पर ज़्यादा लोग जमा होते थे, तो तुरंत स्क्रीन पर लाल कलर फ़्लश होने लगता था. तुरंत लोकल पुलिस टीम को जानकारी दी जाती थी. टीम तुरंत भीड़ को तितरबितर करने में लग जाती थी. साथ ही एक और काम किया गया. आगरा नगर प्रशासन ने खुल्लमखुल्ला ऐलान कर दिया. जो-जो विदेश से होकर आया है, ईमानदारी से पुलिस के सामने आ जाए. और जांच करवा ले. अन्यथा, प्रशासन ने कहा और हम बता रहे हैं, कि उनके खिलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई की जाएगी.


लल्लनटॉप वीडियो : कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन में ठप पड़े उद्योगों के लिए एक अच्छी ख़बर

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

कभी सोचा नहीं होगा कि लल्लन साड़ियों पर भी क्विज बना सकता है. खेलो औऱ स्कोर करो.

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़. अपना ज्ञान यहां चेक कल्लो!

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एमएफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद के बारे में तो गूगल करके आपने खूब जान लिया. अब ज़रा यहां कलाकारी दिखाइए.

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 33 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

जलियांवाला बाग कांड के बारे में अपनी जानकारी आप भी चेक कर लीजिए.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.