Submit your post

Follow Us

इस सेफ्टी मंत्र ने बचाई देवताओं की जान

स्वर्ग का राजा होने की वजह से इंद्र का नेम और फेम बढ़ता ही जा रह था. इसी बात का उनको घमंड हो गया. दिन भर सभी देवता व्हिस्की-वाइन पीते, और एंटरटेनमेंट करते. देवता हो या इंसान, घमंड से होता सर्वनाश ही है. उनकी महफिल में बृहस्पति आए. पर हाय-हेलो करना तो दूर की बात, इंद्र अपनी जगह से हिले भी नहीं. बृहस्पति गुस्सा पी गए और चुपचाप चले गए.

थोड़ी देर बाद इंद्र को रियलाइज हुआ कि बड़ी भारी मिस्टेक हो गई है. वो बृहस्पति को ढूंढ़ते हुए उनके घर गए. वहां पता चला कि वे तो कहीं चले गए हैं. इंद्र को लगने लगे गिल्ट के झोंके. पर इससे पहले वो कुछ कर पाते, राक्षसों को खबर लग गई कि इंद्र के पास से बृहस्पति का सपोर्ट खत्म हो गया है.

उन्होंने लगाया मौके पर चौका और कर दिया धरती पर अटैक. इंद्र बाकी सारे देवताओं के साथ ब्रह्मा जी के पास हेल्प के लिए. ब्रह्मा ने कहा: त्वष्टा के बेटे विश्वरूप ही आपकी मदद कर सकते हैं.

सभी देवता गए विश्वरूप के पास जो फटाफट हेल्प करने के लिए तैयार हो गए. विश्वरूप ने उन्होंने नारायण कवच, बोले तो एक सेफ्टी मन्त्र दिया जो था ‘ओम् नमो नारायण’. इस मंत्र से इंद्र और सभी देवता लड़ाई में जीत गए और स्वर्ग मिल गया वापस.

(श्रीमद्भागवत महापुराण)

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.

चाचा शरद पवार ने ये बातें समझी होती तो शायद भतीजे अजित पवार धोखा नहीं देते

शुरुआत 2004 से हुई थी, 2019 आते-आते बात यहां तक पहुंच गई.

रिव्यू पिटीशन क्या होता है? कौन, क्यों, कब दाखिल कर सकता है?

अयोध्या पर फैसले के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड रिव्यू पिटीशन दायर करने जा रहा है.

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.

अमिताभ बच्चन तो ठीक हैं, दादा साहेब फाल्के के बारे में कितना जानते हो?

खुद पर है विश्वास तो आ जाओ मैदान में.

‘ताई तो कहती है, ऐसी लंबी-लंबी अंगुलियां चुडै़ल की होती हैं’

एक कहानी रोज़ में आज पढ़िए शिवानी की चन्नी.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो कितना जानते हो उनको

मितरों! अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?