Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

मोदी जिस देश में गए हैं, वहीं से आया कलंक कांग्रेस के माथे का सबसे बड़ा दाग बन गया था

स्वीडन की कुछ खास बातें.

2.06 K
शेयर्स

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विदेशी दौरे पर गए हैं. पहला पड़ाव है स्वीडन. वो 1988 का साल था. तब भारत के प्रधानमंत्री राजीव गांधी स्वीडन गए थे. अब 30 साल बाद मोदी जी वहां पहुंचे हैं. स्वीडन में इंडिया-नॉर्डिक सम्मेलन है. इसमें उत्तरी यूरोप के बाकी देश- डेनमार्क, फिनलैंड, आइसलैंड और नॉर्वे भी शरीक होंगे. इसकी मेजबानी भारत और स्वीडन मिलकर कर रहे हैं. स्वीडन के PM स्टेफान लोफवेन 2016 में भारत आए थे. तब उन्होंने मोदी जी को अपने यहां आने का न्योता दिया था. स्वीडन के बाद मोदी जी ब्रिटेन जाएंगे. लौटते समय थोड़ी देर के लिए जर्मनी भी जाएंगे.

स्वीडन दुनिया के सबसे खुशहाल देशों में से एक है. अपने लोगों की हद परवाह करता है. लड़ाई-झगड़े पर बिल्कुल यकीन नहीं रखता. छोटा सा मुल्क है, लेकिन तरक्की के मामले में बहुत आगे है. दुनिया में जब भी अच्छी-अच्छी बातों में कौन कितना आगे की लिस्ट बनती है, स्वीडन इनमें आगे रहता है. स्वीडन के आस-पास भी जन्नत है. इसके अड़ोसी-पड़ोसी भी उसके ही जैसे हैं. सबसे ज्यादा खुश कहां के लोग हैं, सबसे ज्यादा आजाद कहां के लोग हैं, कहां की सरकार अपने लोगों की सबसे ज्यादा परवाह करती है. इस टाइप की जो रेस है, वो इन्हीं देशों के बीच होती है. इससे जुड़ी कुछ खास बातें नीचे बता रहे हैं. आप पढ़िए और गटक जाइए.

1. नॉर्दन यूरोप के देशों का एक लोकप्रिय नाम है, स्कैन्डिनेवियन कंट्रीज. इसमें तीन देश मेन हैं. स्वीडन, नॉर्वे, डेनमार्क. इसके अलावा फिनलैंड और आइसलैंड को भी स्कैन्डिनेवियन कंट्रीज में गिनते हैं. क्यों? क्योंकि पहले फिनलैंड स्वीडन का ही एक हिस्सा था. बाद में वो अलग हो गया. ऐसे ही डेनमार्क और नॉर्वे से अलग होकर बना आइसलैंड. इसीलिए ये पांचों देश स्कैन्डिनेवियन कंट्रीज कहे जाते हैं. हालांकि कई सारे लोग फिनलैंड और आइसलैंड को अलग मानते हैं. इस बहस से बचने के लिए फ्रांस ने बड़ा सही तरीका खोजा. उसने इन पांचों को इकट्ठा ‘नॉर्डिक कंट्रीज’ कहना शुरू किया.

वाइकिंग्स लुटेरे थे. समंदर के रास्ते जाते थे और लूटकर लाते थे. अगर आप खून-खराबा नहीं देख पाते, तो नेटफ्लिक्स की वाइकिंग्स सीरीज मत देखिएगा.
वाइकिंग्स लुटेरे थे. समंदर के रास्ते जाते थे और लूटकर लाते थे. अगर आप खून-खराबा नहीं देख पाते, तो नेटफ्लिक्स की वाइकिंग्स सीरीज मत देखिएगा.

2. पूरे स्कैन्डिनेवियन देशों में सबसे बड़ा स्वीडन ही है. आपने वाइकिंग्स का नाम सुना है? ये लुटेरों की एक टोली थी. बहुत आतंक था इनका. जब लोगों ने समंदर का एक छोटा सा ही हिस्सा देखा था और उनको नहीं पता था कि पश्चिम की ओर कोई दुनिया भी है, तब कुछ लुटेरे जहाज लेकर समंदर में उतरे. रास्ता खोजा और उत्तरी स्कॉटलैंड और आयरलैंड को लूट आए. नेटफ्लिक्स पर इनकी एक सीरीज भी है. बहुत आतंक था वाइकिंग्स का. ये स्कैन्डिनेवियन ही थे. स्वीडन, नॉर्वे और डेनमार्क के.

3. शांति का पुजारी. ये खिताब इनको ही मिलना चाहिए. करीब 200 साल हो गए. इसने कोई जंग नहीं लड़ी. पहले विश्व युद्ध में भी निष्पक्ष बना रहा. सारे स्कैन्डिनेवियन देशों ने दूसरे विश्व युद्ध से भी खुद को अलग रखा.

स्वीडन की ये कंपनी अपने सेफ्टी फीचर्स और इनोवेशन के लिए जानी जाती है.
वॉल्वो अपने सेफ्टी फीचर्स और इनोवेशन के लिए जानी जाती है. स्वीडन की सबसे भरोसेमंद कार है ये. सबसे ज्यादा ये ही बिकती है वहां.

4. वॉल्वो स्वीडन की ही कंपनी है. वॉल्वो की एक प्यारी सी कहानी है. आपकी कार में जो सीट बेल्ट लगा है, उसका डिजाइन वॉल्वो ने ही बनाया था. वो चाहता था, तो इसका पेटेंट करवा लेता. सोचिए, कितने पैसे कमाती कंपनी. लेकिन वॉल्वो ने ऐसा नहीं किया. कहा कि हम पैसा कमाएं, इससे ज्यादा जरूरी है कि लोग सीट बेल्ट का इस्तेमाल करें. ताकि उनकी सुरक्षा हो. जान बच सके उनकी. हर साल ये सीट बेल्ट दुनियाभर में लाखों लोगों की जान बचाते हैं.

बोफोर्स को लेकर चाहे जितना विवाद हुआ हो, लेकिन कारगिल युद्ध के समय इन तोपों ने हमारा बहुत साथ दिया था.
बोफोर्स को लेकर चाहे जितना विवाद हुआ हो, लेकिन कारगिल युद्ध के समय इन तोपों ने हमारा बहुत साथ दिया था.

5. हमने आपको बताया था कि 30 साल पहले (1988 में) राजीव गांधी स्वीडन गए थे. आपको राजीव गांधी के नाम से क्या याद आता है? शर्त लगाइए कि 100 में से 95 लोगों को राजीव का नाम लेने पर बोफोर्स याद आता है. ये बोफोर्स स्वीडन की ही कंपनी थी. इसकी पैरंट कंपनी थी सेल्सियस ग्रुप. सितंबर 2000 में अमेरिका की एक कंपनी- यूनाइटेड डिफेंस इंडस्ट्रीज ने इसे खरीद लिया. बोफोर्स घोटाले ने राजीव गांधी और कांग्रेस का बहुत नाम खराब किया.

6. पर्यावरण को लेकर बहुत संजीदा है स्वीडन. बस स्वीडन नहीं, बल्कि ये पांचों देश. नॉर्वे ने तो अपने यहां कानून बना दिया. कि पेड़ काटना ही नहीं है. नॉर्वे और स्वीडन औरों ने तय किया है. कि कुछ सालों बाद पेट्रोल-डीजल से चलने वाली कार बंद कर देंगे. ताकि पर्यावरण की हिफाजत की जा सके. कार्बन उत्सर्जन कम हो. कई बार ऐसा लगता है कि इन चार-पांच देशों के अलावा बाकी पूरी दुनिया पर्यावरण से जुड़े मुद्दों पर मक्कारी कर रही है. प्रदूषण कम करने की सबसे ईमानदार कोशिश ये स्कैन्डिनेवियन मुल्क ही कर रहे हैं.

स्वीडन साफ कहता है. कि उसका मकसद कैदी से बदला लेना नहीं, बल्कि उसको सुधारना है. ताकि रिहा होने के बाद वो दोबारा कोई क्राइम न करे. वहां छोटे-मोटे अपराधों के लिए किसी को जेल नहीं होती. ये जो तस्वीर में दिख रहा है, वो स्वीडन की एक जेल का कमरा है.
स्वीडन साफ कहता है. कि उसका मकसद कैदी से बदला लेना नहीं, बल्कि उसको सुधारना है. ताकि रिहा होने के बाद वो दोबारा कोई क्राइम न करे. वहां छोटे-मोटे अपराधों के लिए किसी को जेल नहीं होती. ये जो तस्वीर में दिख रहा है, वो स्वीडन की एक जेल का कमरा है. मानवाधिकारों की बहुत पूछ है इस देश में. कई बार लोग कहते हैं. कि इंसान पैदा हो, तो नॉर्वे और स्वीडन में ही पैदा हो.

7. आपको पता है. जब सद्दाम हुसैन पकड़ा गया और उसे जेल भेजा गया, तो उसने क्या अपील की? सद्दाम ने कहा कि जेल ही भेजना है, तो स्वीडन की जेल भेज दो. स्वीडन मानवाधिकारों का कितना खयाल रखता है, इसी बात से समझिए. उसके लिए कैदी का आराम, उसका मानवाधिकार भी बहुत जरूरी है. फिर चाहे कैदी ने कितना भी गंभीर अपराध क्यों न किया हो. लोग कहते हैं कि स्वीडन की जेलें, जेल नहीं लगतीं. होटल का कमरा लगती हैं. सारी सुविधाएं. सेपरेट टॉइलेट. अच्छा खाना. किताबें. सारी सुविधाएं. वहां कैदियों को सुधारने में बहुत मेहनत खर्च की जाती है.

शायद ही कभी ऐसा होता है, जब किसी को 10 साल से ज्यादा कैद की सजा मिलती हो. जिनको उम्रकैद मिलती है, वो भी 10 साल सजा काटने के बाद अदालत में अपील कर सकते हैं. कोर्ट उनकी सजा घटा देती है. छोटे-छोटे अपराधों के लिए स्वीडन में किसी को जेल नहीं होती. ऐसे क्रिमिनल्स को सुधारने के लिए समाज की मदद ली जाती है. और यकीन जानिए. इन कोशिशों का असर होता है. स्वीडन के जेलों में बंद कैदियों की तादाद हर साल घटती जा रही है. इसी वजह से स्वीडन ने अपने कई जेल बंद कर दिए थे. खाली पड़े थे. उनको बंद न किया जाता, तो क्या किया जाता?

ये स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम का ओलफ पाम स्ट्रीट है. यहीं पर उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.
ये स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम का ओलफ पाम स्ट्रीट है. यहीं पर उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

8. जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी के पास एक सड़क है. ओलफ पाम मार्ग. ओलफ पाम स्वीडन के प्रधानमंत्री थे. उनकी हत्या हुई थी. 28 फरवरी, 1986 को उन्हें गोली मारी गई थी. सबसे पहले स्टॉकहोम में उनके नाम पर सड़क का नाम रखा गया. ये वही सड़क थी, जहां उनकी हत्या की गई थी. फिर दुनिया के कई देशों, कई शहरों ने अपने यहां ओलफ पाम के नाम पर किसी सड़क का नाम रखा.


ये भी पढ़ें: 

जिस वजह से सीरिया पर हमला किया, उस मामले में खुद भी गुनहगार हैं अमेरिका-ब्रिटेन

दुबई में इस भारतीय को जेल हुई है, 500 साल की!

केमिकल अटैक झेल रहे जिन बच्चों की तस्वीरें देखी नहीं जातीं, उनका दोषी सीरिया है या कोई और?


वीडियो: एक वादे के बल पर 38 साल का ये आदमी राष्ट्रपति बन गया

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
PM Modi visits Sweden 30 years after Rajiv Gandhi, Know what’s so special about this Scandinavian country

कौन हो तुम

कंट्रोवर्शियल पेंटर एम एफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एम.एफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद तो गूगल कर आपने खूब समझ लिया. अब जरा यहां कलाकारी दिखाइए

KBC क्विज़: इन 15 सवालों का जवाब देकर बना था पहला करोड़पति, तुम भी खेलकर देखो

अगर सारे जवाब सही दिए तो खुद को करोड़पति मान सकते हो बिंदास!

राजेश खन्ना ने किस हीरो के खिलाफ चुनाव लड़ा और जीता था?

राजेश खन्ना के कितने बड़े फैन हो, ये क्विज खेलो तो पता चलेगा.

QUIZ: आएगा मजा अब सवालात का, प्रियंका चोपड़ा से मुलाकात का

प्रियंका की पहली हिंदी फिल्म कौन सी थी?

कौन है जो राहुल गांधी से जुड़े हर सवाल का जवाब जानता है?

क्विज है राहुल गांधी पर. आगे कुछ न बताएंगे. खेलो तो बताएं.

Quiz: संजय दत्त के कान उमेठने वाले सुनील दत्त के बारे में कितना जानते हो?

जिन्होंने अपनी फ़िल्मी मां से रियल लाइफ में शादी कर ली.

क्विज़: योगी आदित्यनाथ के पास कितने लाइसेंसी असलहे हैं?

योगी आदित्यनाथ के बारे में जानते हो, तो आओ ये क्विज़ खेलो.

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

आज जानते हो किसका हैप्पी बड्डे है? माधुरी दीक्षित का. अपन आपका फैन मीटर जांचेंगे. ये क्विज खेलो.

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 31 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.