Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

अनुराग कश्यप, तुम सल्फ़ेट हो!

1.90 K
शेयर्स

डियर अनुराग कश्यप,

तुम सल्फेट हो.

किसके लिए लड़ रहे थे? हमारे लिए? कि हम सच्चाई देखना चाहते हैं, इसलिए? गुरु सच्चाई तो ये है कि तुम्हारी लड़ाई के ऊपर हमने लीटर भर पेशाब कर दी. और अब वो गंधा रही है. नहीं समझे? अबे ट्विटर की दुनिया से बाहर निकलो, स्कॉर्सी के साथ वाली फ़ोटो को निहारना बंद करो और टोरेंट वाली साइट पर जाओ. वही टोरेंट जिसके गुणगान गाते रहते हो. कहते हो कि तुम्हारी आधी ऑडियंस टोरेंट पर तुम्हारी फिल्में देखती है. अब लेओ बेट्टा! कैसा है तापमान? सुना है गरज के साथ छीटें भी पड़ी हैं?

उड़ता पंजाब इन्टरनेट पर आ चुकी है. 3 लोग बता चुके हैं कि पिक्चर फाड़ है. तीन लोगों का मतलब कम से कम 540 रुपिया. एक चैनल को इंटरव्यू देते टाइम पीछे तुम्हारी टेबल पर एब्सोल्यूट की खाली बोतल रखी थी. तो 540 रुपिये का मतलब हुआ कि किसी ठीक-ठाक बार में एब्सोल्यूट के लगभग डेढ़ पेग. क्यूंकि तुम्हें फिल्मों से कमाई तो करनी नहीं है. क्या कहा? करनी है? लेकिन तुम तो कह रहे थे कि दर्शक सेंसर बनें. लो, बन गए सेंसर. कर ली पूरी डाउनलोड. मुफ़्त में. तुम कहते थे कि वो चाहें तो फिल्म देखें या न देखें. हम देख रहे हैं. रिलीज़ के दो दिन पहले से ही. हर तीन आदमियों पर तुम्हारे डेढ़ से दो पेग जा रहे हैं. दुनिया की सबसे बेहतरीन वोडका में से एक के डेढ़ से दो पेग.

अनुराग, हम उस देश में रहते हैं जहां आदमी हेलमेट भी इसलिए लगाता है जिससे उसे चुंगी पर खड़े हवलदार को सौ रुपिये न देने पड़ें. और तुमने सोचा था कि हमसे 180 निकलवा लोगे? 180 में हमारी दो यात्राएं हो जाती बिना हेलमेट के. ये वो देश है जहां आदमी 26 जनवरी और 15 अगस्त को देश के इतिहास के दो बड़े दिनों की वजह से नहीं बल्कि इसलिए एक्साईटेड होता है क्यूंकि उस दिन सबसे अच्छी सेल लगती हैं. और तुम हमें अपनी ये ‘आर्ट’ दिखाना चाहते थे? तुम ये पिक्चर बनाने को ‘आर्ट’ कहते हो? आर्ट वो है जो हमने आठवीं तक पढ़ी थी. बस. कैसे भी एक सीनरी और सेब बनाकर पास हो जाते थे. फिर आर्ट साइड और साइंस साइड का झोल आया. जिसने साइंस साइड ली वो काबिल बन गया और जिसने आर्ट साइड ली वो सल्फेट रह गया. जैसे तुम हो. और मैं तो साइंस वाला हूं. तुम मुझे क्या आर्ट दिखाओगे? अभी चेक किया है. उड़ता पंजाब 69% लैंड हो चुकी है. मेरे लैपटॉप में. 69 याद है न? एक कम सत्तर! गुलाल में था. क्या पिक्चर बनाये थे बे!

तुम कहते थे “अपने चूतड़ों पर बैठने से क्रान्ति नहीं आएगी.” तुमने अपने चूतड़ झाड़े और पहुंच गए कोर्ट. कर दी क्रांति. दिलवा लिया एक सर्टिफिकेट. अडल्ट वाला. 89 के बजाय सिर्फ 1 कट के साथ. हम सबने चेक कर लिया है. सच में एक ही कट है. फिल्म मस्त है. बस हमारा इंतज़ार न करना. तुम्हारी क्रांति को हमने वहीं गाड़ दिया जहां बना ने जड़वाल को गाड़ा था.

लोग अफवाह उड़ा रहे हैं कि फिल्म को पहलाज निहलानी ने लीक किया है. क्यूंकि उसे तुमसे खुन्नस है. क्यूंकि वो तुम्हें और तुम उसे पसंद नहीं करते. वो उच्च कोटि की संस्कारी फिल्में बनती देखना चाहता है. और तुम तो भाई क्रांति वाले हो! तुम वो हो जो अपनी फिल्म में डेमोक्रेसी नाम की बियर दिखाता है. जो HELLO THERE को बत्ती बुझा के HELL HERE बना देता है. तो ज़ाहिर सी बात है कि फ़िल्म के लीक होने पर शक की सुई निहलानी की ओर ही घूमेगी. लेकिन तुम तो दिमागवाले हो. अभी तक तो समझ ही गए होगे कि काम किसका है.

भाई, इन्टरनेट इस दुनिया का शायद सबसे बड़ा और सबसे ज़्यादा फ्री स्पेस है. यहां आदमी अपनी मर्ज़ी का गुलाम होता है. यहां नॉटी अमेरिका से लेकर डीडी न्यूज़ तक का मसाला मिलता है. आदमी अपने विवेक से काम लेकर जहां जाना चाहे, पहुंचता है. निहलानी ने समोसे बनाने की रेसिपी अपलोड की होती तो कौन लिंक पे पहुंचता? निहलानी अगर राज्य सभा की बहस को अपलोड कर देते तो वहां कौन पहुंचता? लेकिन वहां क्या अपलोड हुआ? उड़ता पंजाब! तुम्हारा हाल-फिलहाल में सबसे बड़ा काम. डायरेक्ट नहीं किया तो पैसे तो लगाये थे न? वो सारे पैसे लुट रहे थे उस लिंक पर. लिंक एक नहीं कई थे. और हम वहां पहुंच गए. ज़ाहिर सी बात है, फिल्म एक ही जगह अपलोड हुई होगी. लेकिन कुछ ही घंटों में फ़िल्म पूरे इन्टरनेट पर थी. टोरेंट से देखना चाहें तो देखें. बफ़र करके देखना चाहें तो देखें. एक बार टोरेंट से डाउनलोड हो गयी तो शेयर-इट तो है न.

कोर्ट ने कहा था कि CBFC सेंसर नहीं कर सकती. सेंसर करना है तो दर्शक करेंगे. बात आई थी ऑडियंस की मेच्योरिटी पर. हमारी मेच्योरिटी पर. हमें जो सही लगेगा हम देखेंगे, जो नहीं सही लगेगा, नहीं देखेंगे. हम आज वही देख रहे हैं जो हमें सही लग रहा है. हम आज वही कर रहे हैं जो हमें सही लग रहा है. अपने-अपने 180 बचा रहे हैं. नाम निहलानी का लग रहा है. निहलानी अचानक गंगा बन चुके हैं. हम उनमें एक डुबकी लगाकर अपने पाप धुल रहे हैं.

ओ रे बिस्मिल काश आते, आज तुम हिदोस्तां
देखते कि मुल्क सारा ये टशन में थ्रिल में है!

ये भी था न तुम्हारी पिक्चर में? ये जो मुल्क है न, थ्री-जी ब्रॉडबैंड, डेटा कार्ड के दम पर टशन में है. टोरेंट हमारे थ्रिल का हिस्सा है. और तुम हो बिस्मिल. जिसे सालों पहले फांसी पर लटक जाना चाहिए था. दरअसल हमें एक रामधीर सिंह चाहिये. जो मुझ जैसे फ़िल्मों के दीवानों को समझा सके –

“इस देश में जब तक सनीमा रहेगा, लोग चूतिया बनते रहेंगे.”

-तुम्हारा,
टोरेंट डाउनलोडर


वीडियो देखें


 

ये भी पढ़ें:

सुनो, अनुराग कश्यप तुमसे पूछ के पिक्चर नहीं बनाएगा

पाकिस्तानी ‘रमन राघव’ जिसने 100 बच्चों का रेप और कत्ल किया था

ये फिल्म vs सेंसर की लड़ाई है, इसे AAP vs पंजाब सरकार मत बनाअो

अनुराग कश्यप और कबीर खान ला रहे हैं 1983 वर्ल्डकप जीत पर फिल्म!

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

देशों और उनकी राजधानी के ऊपर ये क्विज़ आसान तो है मगर थोड़ा ट्रिकी भी है!

सारे सुने हुए देश और शहर हैं मगर उत्तर देते वक्त माइंड कन्फ्यूज़ हो जाता है

क्विज: अरविंद केजरीवाल के बारे में कितना जानते हैं आप?

अरविंद केजरीवाल के बारे में जानते हो, तो ये क्विज खेलो.

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो डुगना लगान देना परेगा

म्हारा आमिर, सारुक-सलमान से कम है के?

रजनीकांत के फैन हो तो साबित करो, ये क्विज खेल के

और आज तो मौका भी है, थलैवा नेता जो बन गए हैं.

फवाद पर ये क्विज खेलना राष्ट्रद्रोह नहीं है

फवाद खान के बर्थडे पर सपेसल.

रानी पद्मावती के पति का पूरा नाम क्या था?

पद्मावती फिल्म के समर्थक हो या विरोधी, हिम्मत हो तभी ये क्विज़ खेलना.

आम आदमी पार्टी पर ये क्विज खेलो, खास फीलिंग आएगी

आज भौकाल है आम आदमी (पार्टी) का. इसके बारे में व्हाट्सऐप से अलग कुछ पता है तो ही क्विज खेलना.

ये क्विज जीत नहीं पाए तो तुम्हारा बचपन बेकार गया

आज कार्टून नेटवर्क का 25वां बर्थडे है.

RSS पर सब कुछ था बस क्विज नहीं थी, हमने बना दी है...खेल ल्यो

आज विजयदशमी के दिन संघ अपना स्थापना दिवस मनाता है.

न्यू मॉन्क

इंसानों का पहला नायक, जिसके आगे धरती ने किया सरेंडर

और इसी तरह पहली बार हुआ इंसानों के खाने का ठोस इंतजाम. किस्सा है ब्रह्म पुराण का.

इस गांव में द्रौपदी ने की थी छठ पूजा

छठ पर्व आने वाला है. महाभारत का छठ कनेक्शन ये है.

भारत के अलग-अलग राज्यों में कैसे मनाई जाती है नवरात्रि?

गुजरात में पूजे जाते हैं मिट्टी के बर्तन. उत्तर भारत में होती है रामलीला.

औरतों को कमजोर मानता था महिषासुर, मारा गया

उसने वरदान मांगा कि देव, दानव और मानव में से कोई हमें मार न पाए, पर गलती कर गया.

गणेश चतुर्थी: दुनिया के पहले स्टेनोग्राफर के पांच किस्से

गणपति से जुड़ी कुछ रोचक बातें.

इन पांच दोस्तों के सहारे कृष्ण जी ने सिखाया दुनिया को दोस्ती का मतलब

कृष्ण भगवान के खूब सारे दोस्त थे, वो मस्ती भी खूब करते और उनका ख्याल भी खूब रखते थे.

ब्रह्मा की हरकतों से इतने परेशान हुए शिव कि उनका सिर धड़ से अलग कर दिया

बड़े काम की जानकारी, सीधे ब्रह्मदारण्यक उपनिषद से.

इस्लाम में नेलपॉलिश लगाने और टीवी देखने को हराम क्यों बताया गया?

और हराम होने के बावजूद भी खुद मौलाना क्यों टीवी पर दिखाई देते हैं?

सावन से जुड़े झूठ, जिन पर भरोसा किया तो भगवान शिव माफ नहीं करेंगे

भोलेनाथ की नजरों से कुछ भी नहीं छिपता.

हिन्दू धर्म में जन्म को शुभ और मौत को मनहूस क्यों माना जाता है?

दूसरे धर्म जयंती से ज़्यादा बरसी मनाते हैं.