Submit your post

Follow Us

जब हमने कपिल देव से पूछा- क्या उन्हें अपने बाद किसी और में कपिल देव दिखा है?

918
शेयर्स

इंडिया में जब भी कोई क्रिकेटर औसत गेंदबाजी करने के साथ साथ बल्ला भी भांज लेता है, तो उसे हम क्या कहकर बुलाते हैं? हम उसे कपिल देव कहना शुरू कर देते हैं. कभी जहीर खान को कपिल देव कहा गया तो कभी इरफान पठान को. अब हार्दिक पंड्या टीम इंडिया के नए कपिल देव हैं. कारण साफ है कि इस मुल्क ने कपिल देव से पहले और उनके बाद कोई फास्ट बॉलिंग ऑलराउंडर नहीं देखा है. कपिल ने अपने 16 साल के इंटरनेशनल क्रिकेट करियर में 131 टेस्ट मैच खेले जिनमें 5248 रन बनाए साथ में 434 विकेट लिए. वहीं 225 वनडे इंटरनेशनल मैचों में कपिल के बल्ले से 3783 रन निकले और इतने मैचों में 235 विकेट भी लिए. तो दी लल्लनटॉप ने भी सोचा क्यों न ये सवाल खुद कपिल देव से पूछा जाए कि क्या उन्हें भारत में अपने बाद कोई दूसरा कपिल देव दिखा है?

Kapil old
ऑलराउंडर्स के मामले में  कपिल देव इंडिया में एक अपवाद रहे हैं.

क्या आप भी हार्दिक पंड्या में एक कपिल देव देखते हैं?

कपिल- पहले तो कहना चाहता हूं कि मीडिया को ये नहीं कहना चाहिए. ये कहकर हम हार्दिक पर एक गैरजरूरी दबाव बनाते हैं. हमें ये देखना चाहिए कि क्या हार्दिक या किसी भी प्लेयर में टैलंट या क्षमता है या नहीं. और मेरा जवाब है कि उस खिलाड़ी में माद्दा है. हमें किसी भी खिलाड़ी को समय देना होता है. हमारे देश में उम्मीदें रातोंरात आसमान पर चढ़ जाती हैं. कोई अच्छा प्लेयर आता है तो हम उसे सचिन से कंपेयर करने लगते हैं, कोई अच्छा ओपनर आता है तो हम उसे गावस्कर कहने लगते हैं. हमें युवा क्रिकेटरों पर ये प्रेशर नहीं बनाना चाहिए. माइकल होल्डिंग ने हार्दिक के बारे में जो भी कहा था, वो उनका निजी विचार था. (होल्डिंग ने इंग्लैंड में दूसरे टेस्ट के बाद कहा था कि हार्दिंक पंड्या ऑलराउंडर बनने के करीब भी नहीं है और उनके आसपास सिर्फ हाइप क्रिएट की गई है.) मेरा ये मानना है कि किसी भी प्लेयर को एक फेज या एक परफॉर्मेंस से नहीं आंकना चाहिए. खिलाड़ी समय के साथ अपने खेल में सुधार लाते हैं और यही क्रिकेट है. अभी हार्दिक ने सिर्फ 10 टेस्ट खेले हैं. उनको 25-30 टेस्ट खेलने दीजिए, फिर जज करना. कपिल देव भी कोई रातोंरात नहीं बन गया था. मुझे भी 15 साल लगे थे लोगों को ये बताने में कि मैं अच्छा क्रिकेट खेल सकता हूं.

क्या इंडिया में ऑलराउंडर्स का कल्चर ही नहीं है?

कपिल- ऐसा नहीं है. इसका मतलब तो आप आर अश्विन को ऑलराउंडर नहीं मानते. उसने 324 विकेट ले लिए हैं, 4 शतक भी लगाए हैं. ये बात सच है कि अपने देश के क्रिकेट कल्चर में बचपन में हर कोई बल्लेबाज बनना चाहता है. वहीं पाकिस्तान में बच्चे बॉलर बनना पसंद करते हैं. तो हर देश के क्रिकेट का एक बेसिक नेचर होता है और हमारे यहां पिछले 50 साल से सिर्फ बल्लेबाजों का क्रेज है. इसलिए आप रिकॉर्ड उठाकर भी देख लीजिए, हमारे बल्लेबाजों का रिकॉर्ड गेंदबाजों से कहीं बढ़िया मिलेगा. टीम इंडिया में जो इस वक्त हेड कोच हैं रवि शास्त्री, वो भी तो ऑलराउंडर रहे हैं. तो जब भी मेरा नाम हार्दिक के साथ आता है तो मैं यही कहना चाहता हूं कि मैं उस प्लेयर को पसंद करता हूं और जब भी किसी ऑलराउंडर को कपिल देव कहा जाता है तो मुझे अच्छा लगता है. मैं हार्दिक को हार्दिक पंड्या के रूप में ही उभरते देखना चाहता हूं.

Pandya
हार्दिक पंड्या इन दिनों इंग्लैंड में अपने ऑलराउंडर खेल के लिए तारीफ पा रहे हैं.

कपिल देव ने किसे देखकर ऑलराउंडर बनने का सपना देखा था?

कपिल- मेरे लिए इस दुनिया में सर गैरफील्ड सोबर्स के अलावा और कोई बड़ा ऑलराउंडर नहीं हुआ है. ऑलराउंडर ही क्यों, मेरा मानना है कि गैरी सोबर्स क्रिकेट की दुनिया में पैदा हुए सबसे महान क्रिकेटर हुए हैं. उन्हीं को देख देख कर सब सीखा है. कमरे में उन्हीं के पोस्टर्स थे. ( वेस्टइंडीज के गैरी सोबर्स ने 93 टेस्ट मैचों में 57.78 के औसत से 8032 रन बनाए और 235 विकेट लिए हैं.)

इंग्लिश कंडीशन्स का ऑलराउंडर बनाने में कितना बड़ा हाथ है?

कपिल- बिल्कुल है. वहां की पिचें ही ऐसी होती हैं कि बॉलरों के हेल्प करती हैं. इसलिए शुरू से चाहे काउंटी क्रिकेट हो या और फिर यूनिवर्सिटी क्रिकेट, बॉलरों को स्विंग मिलता है. तो धीरे धीरे हर प्लेयर आकर बॉलिंग करता है और इस तरह ऑलराउंडर्स का कल्चर बन गया है.

क्या हमारे प्लेयर्स को भी काउंटी में जाकर खेलना चाहिए ताकि उनमें भी ये स्किल मजबूत हो सके?

कपिल- इस पर तो मैं कुछ नहीं कह सकता. ये किसी भी क्रिकेटर का निजी फैसला होता है. इंडिया में हमारे क्रिकेटर्स साल के 10 महीने क्रिकेट खेल रहे हैं तो ये तो उन्हें ही देखना होगा कि उनके गेम में किस स्किल की कमी है जिसे काउंटी जाकर सुधारा जा सकता है. हमारे वक्त में ये जोर रहता था कि काउंटी जाकर इसलिए खेलना है क्योंकि उसके बिना आप संपूर्ण क्रिकेटर नहीं बन पाते थे. मैंने खुद काउंटी क्रिकेट में काफी कुछ सीखा है. (कपिल नॉर्थैम्पटशायर और वॉरसेस्टरशायर के लिए खेले थे.)


Also Read

हमारा वो स्पिनर जो 22 गज की पट्टी पर क्रिकेट नहीं, शतरंज खेलता था

Interview: सरफराज नवाज़ – “इमरान ख़ान, वसीम अकरम और वक़ार यूनुस ने पाकिस्तान की बदनामी की”

क्रिकेट की दुनिया के वो दो बॉलिंग स्पेल जिन्हें देख अाज भी रोंगटे खड़े होते हैं

एक इनिंग्स में 9 विकेट लेने वाले इंडियन ने छेड़खानी के आरोप पर देश छोड़ दिया था

वीडियो भी देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Interview of India’s all time best allrounder Kapil Dev

कौन हो तुम

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

14 मार्च को बड्डे होता है. ये तो सब जानते हैं, और क्या जानते हो आके बताओ. अरे आओ तो.

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?

चेक करो अनुपम खेर पर अपना ज्ञान और टॉलरेंस लेवल

अनुपम खेर को ट्विटर और व्हाट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो.

Quiz: आप भोले बाबा के कितने बड़े भक्त हो

भगवान शंकर के बारे में इन सवालों का जवाब दे लिया तो समझो गंगा नहा लिया

आजादी का फायदा उठाओ, रिपब्लिक इंडिया के बारे में बताओ

रिपब्लिक डे से लेकर 15 अगस्त तक. कई सवाल हैं, क्या आपको जवाब मालूम हैं? आइए, दीजिए जरा..

जानते हो ह्रतिक रोशन की पहली कमाई कितनी थी?

सलमान ने ऐसा क्या कह दिया था, जिससे हृतिक हो गए थे नाराज़? क्विज़ खेल लो. जान लो.

राजेश खन्ना ने किस हीरो के खिलाफ चुनाव लड़ा और जीता था?

राजेश खन्ना के कितने बड़े फैन हो, ये क्विज खेलो तो पता चलेगा.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

फवाद पर ये क्विज खेलना राष्ट्रद्रोह नहीं है

फवाद खान के बर्थडे पर सपेसल.

दुनिया की सबसे खूबसूरत महिला के बारे में 9 सवाल

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.