Submit your post

Follow Us

रिएलिटी शोज़ के जजों का झूठ पकड़ा गया, किशोर कुमार के बेटे अमित कुमार के बड़े खुलासे से बवाल

इंडियन आइडल (Indian Idol). सिंगिंग रिएलिटी शो. 2004 से शुरू हुए इस शो ने देश को अभिजीत सावंत, मेयांग चैंग और सौरभी देबर्मा जैसे आर्टिस्ट दिए. लेकिन ये शो सिर्फ अपने पार्टिसिपेंट्स या विनर्स की वजह से ही न्यूज़ में नहीं रहा. अपनी कंट्रोवर्सीज़ की बदौलत भी खूब सुर्खियां बटोरी. आरोप लगते रहे हैं कि इस रिएलिटी शो में कुछ भी रियल नहीं. सब स्क्रिप्ट के हिसाब से चलता है. बोले तो लाइन-बाई-लाइन. अब ऐसा ही आरोप लगाया है सिंगर अमित कुमार ने. उनके मुताबिक मेकर्स ने कहा था कि आप बस पार्टिसिपेंट की तारीफ करो. चाहे वो गा कैसा भी रहा हो. अमित कुमार के इस बयान के बाद म्यूज़िक फ्रेटर्निटी से लेकर इंटरनेट तक, जनता दो पालो में बंटी दिखी. पूरा मामला बताते हैं.

पूरा मामला आखिर है क्या?

तारीख 09 और 10 मई. इंडियन आइडल के दो स्पेशल एपिसोड टेलीकास्ट हुए. जहां मंच पर सिंगिंग लिजेंड किशोर कुमार को ट्रिब्यूट दिया गया. पार्टिसिपेंट्स ने किशोर दा के गाने गाए. वो भी पूरे 100 गाने. अपने-अपने अंदाज़ में. सामने जज करने वाले थे हिमेश रेशमिया, नेहा कक्कड़ और अनु मलिक. चूंकि एपिसोड था किशोर कुमार के नाम, इसलिए उनके बेटे और सिंगर अमित कुमार को भी बुलाया गया. बतौर स्पेशल गेस्ट. पार्टिसिपेंट्स की परफॉरमेंस के दौरान जज झूमते दिखे. खुद अमित कुमार के हाथ लहरों की भांति हिलौरे खा रहे थे. यहां तक कि शो के पार्टिसिपेंट पवनदीप को अपने पिता किशोर कुमार की घड़ी भी गिफ्ट कर डाली. ज्यों ही परफॉरमेंस खत्म होती, सब स्टैंडिंग ओवेशन देते दिखाई देते. जैसे अपनी सीट पर बैठने का अनुबंध सिर्फ परफॉरमेंस के दौरान तक का ही हो.

खैर, एपिसोड टेलीकास्ट हुआ. और उसी के साथ शुरू हुई ट्रोलिंग. जनता को किसी की भी परफॉरमेंस रास नहीं आई. इसी चक्कर में लेफ्ट-राइट एंड सेंटर सबको लपेटा. क्या जज और क्या पार्टिसिपेंट. कहने लगे कि कुछ तो शर्म करो भाई, काहे किशोर दा की लेगेसी खराब कर रहे हो. मीमबाजी भी फुल चली. किसी ने जेठालाल का ‘बंद कर, ऐ बंद कर’ फेंक के मारा. तो किसी ने बाबू भैया का, ‘उठा ले रे बाबा, उठा ले’ चिपका दिया. किसी ने अमिताभ बच्चन के सिर दर्द वाला मीम शेयर किया. कुछ बुद्धिजीवियों ने सोनू सूद से भी दरख्वास्त कर डाली. कि प्लीज़, इन पार्टिसिपेंट्स को इनके घर छोड़ आइए.

 

खैर, इंटरनेट पर शो की ट्रोलिंग तो हुई आम बात. ये मामला मेंटोस वाला बना, जब अमित कुमार का बयान आया. टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए अमित ने बताया कि वो लोगों के गुस्से से अवगत हैं. आगे बताया,

“मैंने वही किया, जो मुझसे करने को कहा गया था. मुझसे कहा गया था कि जो जैसा भी गाए, उसको अपलिफ्ट करना है क्योंकि ये किशोर दा को ट्रिब्यूट है. मुझे पहले लगा कि मेरे पिता को श्रद्धांजलि दी जाएगी. लेकिन वहां पहुंचते ही जैसा उन्होंने कहा, मैंने ठीक वैसा ही किया. मैंने उनसे कहा था कि स्क्रिप्ट के कुछ हिस्से मुझे पहले ही दे दिए जाएं, लेकिन ऐसा नहीं हुआ.”

अमित ने बताया कि उन्हें बिल्कुल भी मज़ा नहीं आया. फिर पूछा गया कि ऐसा ही था, तो आप गए ही क्यों? यहां भी उनका जवाब बड़ा साफ था. पइसा. कहा कि जितने पैसे उन्होंने मांगे, उन्हें मिल गए. ऐसा ऑफर भला क्यों छोड़ते?

म्यूज़िक फ्रेटर्निटी और मेकर्स ने क्या कहा?

इसी साल फ़रवरी में इंडियन आइडल पर लिरिसिस्ट संतोष आनंद को बुलाया गया. संतोष आनंद ने ही ‘ये प्यार का नगमा है’ जैसा अमर गीत लिखा है. शो पर उन्होंने बताया कि वो आर्थिक समस्या से जूझ रहे हैं. इसपर शो की जज नेहा कक्कड़ भावुक हो गईं. अपनी ओर से संतोष आनंद को पांच लाख रुपए देने का ऐलान कर दिया. हालांकि, अपने इस जेस्चर के बाद नेहा खूब ट्रोल हुई. वैसे भी शो की वजह से नेहा अक्सर ट्रोल होती रहती हैं. जैसे इधर पार्टिसिपेंट ने कहा कि मैं गरीब हूं. अपनी कोई दुखद कहानी सुनाई. सामने नेहा रोने लगती हैं. उधर उनके मीम बनने शुरू हो जाते हैं. लोग आरोप लगाते रहे हैं कि शो के मेकर्स किसी की ट्रेजेडी को भुनाने की कोशिश करते रहते हैं. खैर, कट टू प्रेजेंट. इंडियन आइडल सीज़न 1 के विजेता अभिजीत सावंत ने रिएलिटी शो में चलने वाले इस ड्रामे पर तीखा कमेंट किया. आज तक से बात करते हुए कहा,

आजकल मेकर्स को पार्टिसिपेंट्स के टैलेंट से ज्यादा इस बात में दिलचस्पी है कि क्या वो जूते पॉलिश कर सकता है, या वो कितना गरीब है, या उसकी कहानी कितनी ट्रेजेडी से भरी है. आप रीजनल रिएलिटी शोज़ देखिए, जहां दर्शकों को पता तक नहीं होता कि उनके फेवरेट कंटेस्टेंट का बैकग्राउंड क्या है. रीजनल वाले सिर्फ सिंगिंग पर फोकस करते हैं. लेकिन यहां पार्टिसिपेंट्स की ट्रैजिक कहानियों को भुनाया जाता है.

अभिजीत ने उन दिनों का वाकया शेयर किया, जब वो खुद एक कंटेस्टेंट थे. हुआ यूं कि अपनी परफॉरमेंस के दौरान अभिजीत बीच में गाने के बोल भूल गए. अटक गए. सामने बैठे जजेस ने उन्हें गाने का एक और मौका दिया. इसपर उन्होंने बताया,

अगर ये वाकया आज होता तो मैं गारंटी के साथ कहता हूं. बिल्कुल टीवी स्टाइल में इसे बिजली कौंधने वाले इफेक्ट के साथ परोसा जाता. हालांकि इसमें मेकर्स के साथ-साथ पब्लिक भी ज़िम्मेदार है. हिंदी भाषी पब्लिक हर वक्त मसाले की तलाश में रहती है.

इंडियन आइडल के किशोर कुमार स्पेशल एपिसोड पर चल रहे विवाद पर उन्होंने कहा,

मुझे इसकी जानकारी नहीं है. लेकिन किसी भी सिंगर की किशोर कुमार जैसे लिजेंड से तुलना करना गलत है. हर किसी का अपना स्टाइल होता है. सिंगर के तौर पर हम अपने-अपने स्टाइल में ट्रिब्यूट दे सकते हैं.

अभिजीत के बाद शो के होस्ट आदित्य नारायण ने भी शो और मेकर्स को डिफेंड किया. अमित कुमार के स्टेटमेंट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए टाइम्स ऑफ इंडिया से बात की. कहा,

ऑडियंस को समझने की जरूरत है कि किशोर कुमार एक लिजेंडरी सिंगर थे. किसी भी न्यूकमर के लिए उनकी तरह गाना असंभव है. ये बच्चे टैलेंटेड हैं और अच्छा काम कर रहे हैं. मुझे लगता है कि अगर अमित कुमार जी ने बताया होता कि उन्हें कंटेंट पसंद नहीं आ रहा, तो जरूर शो में कुछ बदलाव किए जाते. मुझे यकीन है कि इंडियन आइडल-12 की क्रिएटिव टीम उनकी बात जरूर सुनती. वो हमारे देश के जाने-माने सिंगर हैं. मुझे नहीं लगता कि एपिसोड टेलीकास्ट होने के बाद ऐसी बात कहना सही है.

अनुराधा पौडवाल ने भी शो के कंटेस्टेंट्स का बचाव किया. आज तक से बात करते हुए कहा,

मुझे तो सारे कंटेस्टेंट्स एक से बढ़कर एक लगे. इसमें कोई विवाद जैसा था नहीं. अगर लोग उनके टैलेंट पर सवाल उठा रहे हैं, तो मुझे बड़ी हैरानी हो रही है. मुझे अमित जी के विवाद का कोई आइडिया नहीं.

इंडियन आइडल ने 22 और 23 मई को दो स्पेशल एपिसोड टेलीकास्ट किए. 90 के दशक के म्यूज़िक को समर्पित करते हुए. स्पेशल गेस्ट के तौर पर कुमार सानू, रूप कुमार राठौड़ और अनुराधा पौडवाल को बुलाया गया था. सभी नौ पार्टिसिपेंट्स की परफॉरमेंस खत्म हो गई. शो रैप अप करने का समय या गया. तभी होस्ट आदित्य नारायण ने तीनों स्पेशल गेस्ट्स से एक सवाल किया. कि आपने आज जो हमारे कंटेस्टेंट्स की तारीफ की है, वो खुद से की है या हमारी टीम ने ऐसा करने को कहा था. उनके इस सवाल के पीछे का तंज सब समझ ही चुके थे. कुमार सानू ने कहा कि उन्होंने दिल से कंटेस्टेंट्स की तारीफ की है.

इंडिया में रिएलिटी शोज़ पर उंगलियां उठती आई हैं. कि सब कुछ स्क्रिप्टेड होता है. रिएलिटी शब्द बस इसके नाम में होता है और कहीं नहीं. जैसे इंडियन आइडल के इस सीज़न में ही एक स्टोरीलाइन चल रही है. कंटेस्टेंट्स पवनदीप और अरुणिता के रोमांस की. दर्शकों ने इसे भी फेक बताया था. खुद आदित्य नारायण ने ये आरोप कुबूल किया. बताया कि वो जानते हैं ये फेक है. लेकिन वो सिर्फ जनता का मनोरंजन कर रहे हैं. ऊपर से ऑडियंस को भी मज़ा आ रहा है. आदित्य की बात सही है. क्योंकि ऑडियंस को मज़ा तो आ रहा है. वरना इतने विवादों के बावजूद शो लंबे समय से टीआरपी के टॉप पांच शोज़ में कैसे होता. इससे शो या मेकर्स के बार में नहीं, बल्कि हिंदी भाषी ऑडियंस के बारे में बहुत कुछ पता चलता है. खैर!


वीडियो: गुलज़ार की ‘आंधी’ में इंदिरा गांधी के बारे में ऐसा क्या दिख गया कि फिल्म बैन हो गई?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

आज जानते हो किसका हैप्पी बड्डे है? माधुरी दीक्षित का. अपन आपका फैन मीटर जांचेंगे. ये क्विज खेलो.

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

कौन सा था वो पहला मीम जो इत्तेफाक से दुनिया में आया?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

चुनावी माहौल में क्विज़ खेलिए और बताइए कितना स्कोर हुआ.

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

राहुल के साथ यहां भी गड़बड़ हो गई.

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

14 मार्च को बड्डे होता है. ये तो सब जानते हैं, और क्या जानते हो आके बताओ. अरे आओ तो.

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

म्हारा आमिर, सारुक-सलमान से कम है के?

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?

अनुपम खेर को ट्विटर और वॉट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो

चेक करो अनुपम खेर पर अपना ज्ञान.

कहानी राहुल वैद्य की, जो हमेशा जीत से एक बिलांग पीछे रह जाते हैं

'इंडियन आइडल' से लेकर 'बिग बॉस' तक सोलह साल हो गए लेकिन किस्मत नहीं बदली.

गायों के बारे में कितना जानते हैं आप? ज़रा देखें तो...

कितने नंबर आए बताते जाइएगा.