Submit your post

Follow Us

कोरोना से लड़ाई में मिसाल पेश करने वाला केरल इस बार कहां चूक गया?

13 मई तक केरल में कोरोना वायरस (Coronavirus) के 4 लाख,  33 हज़ार, 143 केस हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक यहां पिछले 24 घंटे में 8 हज़ार से ज़्यादा एक्टिव केस बढ़े हैं. राज्य में कोविड-19 (Covid-19) की वजह से अब तक 6 हज़ार से ज़्यादा मौतें सामने आ चुकी हैं. केरल की गिनती देश के उन राज्यों में होती है, जहां साक्षरता दर काफी अच्छी है. करीब-करीब 96 फीसदी. स्वास्थ्य सेवाएं भी कमाल की हैं. इनफैक्ट दक्षिण भारत में दो राज्यों के हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर की मिसाल दी जाती है – तमिलनाडु और केरल. फिर राज्य में हालात कैसे बिगड़े? कहां चूक हुई? क्यों अचानक से केस बढ़ने लगे? और आगे क्या उपाय संभव हैं?

कभी मिसाल था केरल मॉडल

31 जनवरी 2020 को भारत में कोरोना वायरस का पहला केस केरल से ही मिला था. इसके बाद केरल से और केस आए. लेकिन मार्च आते-आते केरल ने इससे निपटने में गज़ब की मुस्तैदी दिखानी शुरू कर दी थी.

केरल ऐसा कैसे कर पाया था? दरअसल भारत में प्रति 10 हज़ार लोगों पर 9 डॉक्टर हैं. जर्मनी में ये आंकड़ा 42 है. ब्रिटेन में 28, अमेरिका में 26 और चीन में 20. यानी बड़े देशों में प्रति 10 हज़ार लोगों पर सबसे कम डॉक्टर भारत में ही हैं.

लेकिन जब बात दक्षिण भारत के राज्य केरल की आती है तो आपको जानकर हैरानी होगी कि यहां प्रति 10 हज़ार लोगों पर 25 डॉक्टर हैं. यानी भारत के रेशियो से तो बेहतर है ही, साथ ही केरल का ये आंकड़ा बड़े-बड़े विकसित देशों को भी टक्कर देता है.

मृत्यु दर कम रही

इसके अलावा केरल में पिछले साल से ही कोविड मरीज़ों को सख़्ती से 3 कैटेगरी में बांटकर इलाज किया गया. हल्के लक्षण वाले, उनसे थोड़े अधिक लक्षण वाले और फिर गंभीर मरीज़. इससे संसाधनों का वितरण करने में मदद मिली. ऑक्सीज़न की किल्लत राज्य के पास रही नहीं. बल्कि केरल अप्रैल 2020 से पहले तक तो दूसरे राज्यों को भी ऑक्सीज़न देता रहा है.

मार्च 2020 तक केरल केस फैटेलिटी रेट (CFR) यानी कोविड की वजह से हो रही मृत्यु दर को नीचे रखने में भी सफल रहा. यहां ये आंकड़ा 0.32 फीसदी था. केरल का कोविड कंट्रोल मॉडल देश से बाहर भी तारीफ़ बटोर रहा था. वहां की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा तो कोविड के ख़िलाफ लड़ाई का चेहरा बनकर उभरीं.

दूसरी वेव में बिगड़े हालात

लेकिन अप्रैल 2021 का महीना आते ही केरल की तस्वीर बदल गई. सबसे ज़्यादा साक्षरता वाला ये राज्य एक आत्मघाती ग़लती कर बैठा. ग़लती हुई केरल विधानसभा चुनाव के दौरान. ज़ाहिर तौर पर केरल ने भी बाकी चुनावी राज्यों की तरह अपने कोविड गार्ड ढीले छोड़े. इसका नतीजा देखिए.

Kerala
केरल में 6 अप्रैल को मतदान हुए थे. इसके बाद से वहां एक्टिव केसेज़ की संख्या तेजी से बढ़ी है.

इस पैटर्न से स्पष्ट है कि केरल में हर हफ्ते आने वाले एक्टिव केसेज़ की संख्या फरवरी तक नियंत्रण में थी. बल्कि मार्च में तो ये संख्या काफी नीचे भी आ गई. लेकिन अप्रैल की शुरुआत से इसमें इजाफा शुरु हुआ. ये वही समय था, जब केरल में चुनावी माहौल गरमाया. केरल में 6 अप्रैल को मतदान हुए थे. इसके बाद एक्टिव केसेज़ में हुआ बेतहाशा इजाफा आप ऊपर टेबल से देख सकते हैं.

इस बीच केरल में हालात ये हैं कि मुख्यमंत्री पी विजयन ने कह दिया है कि जिलों के स्तर पर टेस्टिंग और ट्रेसिंग तेज करने की ज़रूरत है. उन्होंने लोगों से डबल मास्क लगाने और पाबंदियों का पालन करने की अपील की है. राज्य की 72 पंचायत ऐसी हैं, जिनमें 50 फीसदी से ज़्यादा पॉज़िटिविटी रेट चल रहा है. राज्य में 12 मई की तारीख़ में 800 से अधिक कंटेनमेंट ज़ोन बन चुके हैं. पिछली बार की तुलना में ये वैरियंट ज़्यादा अग्रेसिव भी है, जल्दी फेफड़ों पर हमला कर रहा है. इसलिए भी स्थिति बिगड़ रही है.


कोरोना से बचने के लिए ‘डबल मास्किंग’ का सही तरीका क्या है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

कौन सा था वो पहला मीम जो इत्तेफाक से दुनिया में आया?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

चुनावी माहौल में क्विज़ खेलिए और बताइए कितना स्कोर हुआ.

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

राहुल के साथ यहां भी गड़बड़ हो गई.

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

14 मार्च को बड्डे होता है. ये तो सब जानते हैं, और क्या जानते हो आके बताओ. अरे आओ तो.

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

म्हारा आमिर, सारुक-सलमान से कम है के?

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?

अनुपम खेर को ट्विटर और वॉट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो

चेक करो अनुपम खेर पर अपना ज्ञान.

कहानी राहुल वैद्य की, जो हमेशा जीत से एक बिलांग पीछे रह जाते हैं

'इंडियन आइडल' से लेकर 'बिग बॉस' तक सोलह साल हो गए लेकिन किस्मत नहीं बदली.

गायों के बारे में कितना जानते हैं आप? ज़रा देखें तो...

कितने नंबर आए बताते जाइएगा.

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.