Submit your post

Follow Us

हिरण तो राम जी ने भी मारा था

5
शेयर्स

एक आदमी जो शोले लिखता है, उसका बेटा. जो आदमी गब्बर को परदे पर लेकर आता है, उसका बेटा. यानी छोटी मोटी पैदाइश नहीं. फुल भौकाल. शोले का जब प्रीमियर हुआ तो वो बच्चा स्कूल से सीधे थियेटर पहुंचा था. स्कूल की ड्रेस में उसने शोले देखी. और इसी ने उसकी बाकी की ज़िन्दगी तय कर दी. सलमान खान. देश के सिनेमा का बादशाह. वो एक्टर जो फर्क नहीं पड़ता एक्टिंग कर रहा है या नहीं, लोगों को लेकर आता है. उनसे पैसे निकलवाता है. और इंडिया में ऐसा कर पाना, फिल्म-दर-फिल्म, मायने रखता है. क्यूंकि आज जब हम अखबारों में ‘5 रुपए के लिए ली दोस्त की जान’ जैसी खबरें पढ़ते हैं तो मालूम देता है 5 रुपए की कीमत क्या होती है.

सलमान खान! यानी वो आदमी जिसने हमें दोस्ती की टोपी पहनानी सिखाई. दोस्ती की ऐसी मिसाल कि जय और वीरू, वही शोले वाले जय और वीरू जो उसके बाप ने लिखी थी, शरमा जायें. दोस्ती की नई मिसाल गढ़ने के क्रम में सलमान खान ने उस वक़्त खुद को अमर कर दिया जब उनके साथ गाड़ी में बैठे कमाल खान ने गवाही देने से साफ़ इनकार कर दिया. क्या हुआ था? अरे कुछ नहीं हुआ था. फुटपाथ पर गाडी चढ़ गयी थी. दरअसल दिक्कत सड़क बनाने वालों की थी. इधर से जब भाई जा रहे थे तो सब कुछ ठीक ठाक था. मगर उधर से जब आ रहे थे तो किसी गैर ज़िम्मेदार व्यक्ति ने सड़क के किनारे फुटपाथ बना दिया. भाई का क्या है कि मस्ती में गाड़ी चलाते हैं. और फिर रात का अंधेरा. अब ऐसे में एक आदमी अपने दोस्तों के साथ पार्टी करके फुटपाथ पर लेटेगा तो क्या होगा? गाड़ी चढ़ गयी तो चढ़ गयी. भाई घर चले आये. बाकी काम गवाहों ने कर दिया. भाई का क्या है ना, सब सिंपल है.

भाई गणपति पूजन करते हैं. भाई हिन्दू मुस्लिम में नहीं मानते. भाई का क्या है, ऐश्वर्या को भी डेट किया, कटरीना को भी. भाई ने सारे रिलीजन को बराबर देखा है. भाई ने एक दिन चाहा कि मौज मनोरंजन हो. उनके साथ उनके सखे सहेलियां भी थे. भाई आखेट को निकल पड़े. जंगल के बीच पहुंचे. भाई का क्या है, डरते भी नहीं हैं. गए और कहा आज हम साथ-साथ हैं. पहुंचे. निशाना साधा. और वही काम किया जो युगों पहले मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम ने किया था. वो भी गए थे एक हिरन को मारने. वो हिरन जो सोने का था. भाई ने तो बस काला हिरन मारा था. सोने वाला मारते तो मोदी जी टैक्स के मामल में पकड़ते सो अलग. देखा? एक तीर से दो शिकार? 😉

modi salman khan

फिर क्या है कोर्ट कचहरी तो चलता ही रहता है. कोई समस्या ही नहीं है. फैन्स क्या हैं ना, ये सब नहीं देखते. कोई कोर्ट नहीं कोई कचहरी नहीं. भाई ने फ़िल्म में कहा कमाल करते हो पांडे जि. और बस. जनता खुश. ये काम सिर्फ सलमान भाई कर सकते हैं. भाई कहें की जय हो तो सबकी जय. भाई कहें कि अहसान करना है तो अहसान करना है. नहीं करने को कहा तो नहीं होगा. सिंपल है. भाई के साथ क्या है ना, सब कुछ सिंपल ही होता है. ऐश्वर्या ने बोला कि नहीं मिलना है लेकिन भाई को मिलना था. अब मिलना था तो मिलना था. भाई का क्या है, सिंपल रहता है. मिलने पहुंच गए. थोड़ी दारू ही तो पी थी. हल्ला ही तो काटा. गाली गलौज ही तो की. बस. लेकिन निर्दयी ऐश्वर्या नहीं उतरी नीचे. हाय सलमान, हम न हुए!

Salman Angry

भाई ने क्या है, सब सिंपल रखा है. शुरू से. बच्ची ने कहा पाकिस्तान में रहती है, भाई ने कहा चल. पहलवान ने कहा कुछ कर के दिखा, भाई पहलवान बन गए. प्रोड्यूसर्स ने कहा बहुत पैसा लगा है, नाम क्लियर करवा के दिखा, भाई बाइज्ज़त बरी हो गए. अब बताइए. ऐसा प्यार. ऐसा डेडिकेशन. काम के लिए ऐसा पैशन देखा है किसी का?

मेरा क्या है, एक सपना है. मुझे भी भाई बनना है. वो भाई जो ऐसे मकान के छज्जे पर खड़े होकर हाथ हिला दे तो नीचे खड़े फैन्स चरम सुख की प्राप्ति कर लें. ऐसा भाई जो पुलिस वाला बन के रिश्वतखोरी करे और कोई चूं ना बोले. वरना एक बाप ने अपनी बेटियों को कुश्ती सिखाई तो उसपर अपने सपनों को उनपर थोपने के आरोप लग रहे हैं. सलमान खान यानी सुपरस्टार. ट्विंकल ट्विंकल वाल नहीं हाउ आई वंडर वाला. सलमान खान जिसके अपने कपड़े का ब्रांड है. ये होता है भौकाल. माने, भाई कपड़े पहनेंगे तो अपने ही ब्रांड के. भाई का इतना सिंपल है सब कुछ. कोई नाटक नहीं. कोई प्यूमा, एडिडास का कन्फ्यूज़न नहीं. कोई यूनाइटेड कलर्स ऑफ़ बेनेट्टन नहीं. सीधे बींग ह्यूमन.

सलमान खान. यानी वो भाई जिसके जैसा मुझे बनना है. जिसके भयानक फॉलोवर्स हों. जिसके हेयरस्टाइल पर एक ट्रेंड बन जाए. तेरे नाम के राधे भइय्या, नज़र कटीली लेज़र जैसे गाने के बोल हो जायें. जो चाहे जो कर गुज़रे, कानून उसकी ही साइड पर मिले. बाइज्ज़त बरी. घर के बाहर फैन्स, शोर कर रहे हैं. शांत नहीं हो रहे. भाई एक गुस्से वाला चेहरा बनाते हैं. सब शांत. सन्नाटा. दबंग और दबंग 2. एक साथ. बागी भी वही और प्रेम भी वही. सलमान खान यानी सुल्तान! रे सुल्तान कर दे चढाई! नहीं, एक मिनट. मेरा वो मतलब नहीं था. अरे रुकिए…

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

चाचा शरद पवार ने ये बातें समझी होती तो शायद भतीजे अजित पवार धोखा नहीं देते

शुरुआत 2004 से हुई थी, 2019 आते-आते बात यहां तक पहुंच गई.

रिव्यू पिटीशन क्या होता है? कौन, क्यों, कब दाखिल कर सकता है?

अयोध्या पर फैसले के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड रिव्यू पिटीशन दायर करने जा रहा है.

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.

अमिताभ बच्चन तो ठीक हैं, दादा साहेब फाल्के के बारे में कितना जानते हो?

खुद पर है विश्वास तो आ जाओ मैदान में.

‘ताई तो कहती है, ऐसी लंबी-लंबी अंगुलियां चुडै़ल की होती हैं’

एक कहानी रोज़ में आज पढ़िए शिवानी की चन्नी.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो कितना जानते हो उनको

मितरों! अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?