Submit your post

Follow Us

जनता को क्यों न पता चले कि उनका नेता सदन में क्या आपत्तिजनक बातें करता है?

दिल्ली विधानसभा का मॉनसून सेशन चल रहा है. सोमवार का दिन और हाउस में दिल्ली में पानी और सीवर की समस्या पर चर्चा हो रही थी. इतने में अचानक हाउस में हल्ला होने लगा. दिल्ली के विश्वास नगर से बीजेपी विधायक ओमप्रकाश शर्मा को स्पीकर ने अपनी बात रखने को कहा. पानी और सीवर का डिपार्टमेंट मुख्यमंत्री के पास है. मगर इससे पहले कि वो इस मुद्दे पर कुछ कहते, उनके मुंह से सामने बैठे आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्ला के लिए अभद्र शब्द बरसने लगे. भाषा अमर्यादित और लहज़ा बेहद खराब. मगर सबसे ज्यादा अखरा अमानतुल्ला खान को आंतकी कहना. शर्मा ने खान को कई बार आंतकी कहा.

अमानतुल्ला खान सदन में बैठे हुए शर्मा के इस बयान पर कहते दिख रहे थे कि दिल्ली में पानी का संकट बाबुओं की लेटलतीफी की वजह आया है. इसी पर शर्मा ने अमानतुल्ला को चुप रहने को कहा. सदन के बाहर भी शर्मा ने कहा कि वो दोबारा यही कहेंगे.

इस पर खूब हंगामा हुआ. इतना हंगामा कि स्पीकर को हाउस को कार्यवाही 30 मिनट के लिए रोकनी पड़ी. इस पर उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने तीखी प्रतिक्रिया दी. मुख्यमंत्री केजरीवाल ने भी शर्मा की भाषा पर आपत्ति जताई. मगर हाउस में शर्मा के इस बयान को रिकॉर्ड में नहीं लिखा गया. यानी जनता के लिए उनके इस नेता की बदजुबानी का कोई रिकॉर्ड नहीं. न तो ये ब्रॉडकास्ट होगा और न ही ऑफिशियली छपेगा. देश की संसद में भी ऐसा ही होता है. मगर सवाल ये उठता है कि जनता को इस बात से क्यों दूर रखा जाए कि उनके नेता जिसे चुनकर उन्होंने अपना प्रतिनिधि बनाया है.

इस पर स्पीकर ने हाउस की विशेषाधिकार कमेटी को इस पर रिपोर्ट देने को कहा. यही कमेटी सदस्यों पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने से जुड़े मसलों में सजा तय करती है. लोकतांत्रिक सिस्टम में जनता के प्रतिनिधि को सदन में अपनी बात बिना किसी भय और दबाव से कहने की आजादी है. सदन के अंदर सदस्यों पर किसी भी तरह की कानूनी कार्यवाही पर भी रोक होती है. इसी को उनका विशेषाधिकार कहते हैं. अगर कोई गलत बात भी कहता है या असंवैधानिक बात करता है तो हाउस ही उस मैंबर पर कार्यवाही करता है.

शर्मा जी को इतना गुस्सा क्यों आता है?

Untitled design (82)
पटियाला हाउस कोर्ट के बाहर मारपीट करते दिखे थे ओम प्रकाश शर्मा.

साल 2015 के दिल्ली विधानसभा चुनावों में आम आदमी पार्टी के 70 में से 67 सीटें मिलीं. बीजेपी को तीन. उन्हीं तीन में से एक हैं ओम प्रकाश शर्मा. अन्य दो हैं विजेद्र गुप्ता और जगदीश प्रधान. शर्मा 2008 से राजनीति में हैं और अरुण जेटली के खास माने जाते हैं. 2008 में पहली बार चुनाव लड़ा और हार गए. 2015 में विश्वास नगर से जीते.

यही नहीं शर्मा पटियाला हाउस कोर्ट के बाहर पत्रकारों और कन्हैया कुमार पर हमले के लिए भी गिरफ्तार हुए थे. उस वक्त शर्मा ने ये बयान दिया था कि ‘मैं गोली भी मार देता अगल बंदूक होती. कोई हमारी मां को गाली देगा तो क्या उसे मारोगे नहीं.” दिल्ली के कश्मीरी गेट में दिल्ली नगर निगम के स्टाफ क्वाटर्स में उनका जन्म हुआ क्योंकि पिता एमसीडी में ड्राइवर थे. तीन भाइयों में से एक ओपी शर्मा ने दिल्ली यूनिवर्सिटी के सत्यावती कॉलेज से ग्रेजुएशन किया और यहीं से स्टूडेंट पॉलिटिक्स में एंट्री हुई. जब अरुण जेटली एबीवीपी के अध्यक्ष थे, उनकी टीम में ओपी शर्मा भी थे.

दिल्ली में जिंदगी बिताने वाले शर्मा खुद एमसीडी के कर्मचारी रह चुके हैं. इसके बाद परिवार की पुश्तैनी मिठाई की दुकान भी चलाई जो अभी भी चलती है. इसी दुकान पर 2016 में जब आम आदमी पार्टी विधायक अल्का लांबा ने रेड की तो दिल्ली विधानसभा में शर्मा ने आपत्तिजनक बयान दिए थे जिसके चलते वो दो सेशन के लिए हाउस से सस्पेंड रहे थे.

विवादों के बादशाह हैं अमानतुल्ला खान?

Untitled design (83)
अमानतुल्ला भी आए दिन विवादों में फंसे दिखते हैं.

दिल्ली के ओखला से विधायक अमानतुल्ला खान अपने इलाके पर काफी पकड़ रखते हैं. 44 साल के इस विधायक पर आरोप है कि मुख्यमंत्री केजरीवाल की उपस्थिति में अमानतुल्ला ने चीफ सेक्रेट्री अंशु प्रकाश को थप्पड़ मारा था. आए दिन विवादों में रहने वाले इस विधायक की अरविंद केजरीवाल से काफी नजदीकी देखी जाती है. 2015 विधानसभा चुनावों में अपने इलाके से 38.7 प्रतिशत मतों से जीत हासिल करने वाले अमानतुल्ला ने बीजेपी के बह्म सिंह को हराया था. मगर जुलाई 2016 में अमानतुल्ला को एक महिला को धमकाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था.

अमानतुल्ला खान का नाम तब भी खबरों में घूमा जब मई 2017 में इन्होंने आम आदमी पार्टी की पीएसी यानी पॉलिटिकल अफेयर्स कमेटी से इस्तीफा ये कहते हुए दे दिया कि कुमार विश्वास केजरीवाल को हटाना चाह रहे हैं. फिर पार्टी ने इन आरोपों पर सस्पेंड किया और फिर सस्पेंशन खत्म भी कर दिया. मेरठ में पैदा हुए अमानतुल्ला ने दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लामिया में एडमिशन लिया मगर बीच में ही पढ़ाई छोड़ दी. इस तरह अमानतुल्ला की एजूकेशन 12वीं पास की है. वहीं अमानतुल्ला खान, ओखला से विधायक हैं. मुख्यमंत्री केजरीवाल के चीफ सेक्रेट्री अंशु प्रकाश से हाथापाई के मामले में गिरफ्तार हो चुके हैं.


Also Read

450 करोड़ रुपए के जिस पुल को बनाने में केजरीवाल ने ‘250 करोड़’ बचाए थे, क्या वो धंस गया?

मुजफ्फरपुर जैसा देवरिया का केस, कार आती थी, 15 साल से बड़ी लड़कियों को कहीं ले जाती थी

यूपी में किसी का भी पुलिस से एनकाउंटर करवाएं, रेट आठ लाख रुपये है

हरियाणा में BJP विधायक को काले झंडे दिखाए, फिर झंडों के डंडे निकाल के पीट दिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

'द्रविड़ ने बहुत नाजुक शब्दों से मुझे धराशायी कर दिया था'

'द्रविड़ ने बहुत नाजुक शब्दों से मुझे धराशायी कर दिया था'

रामचंद्र गुहा की किताब 'क्रिकेट का कॉमनवेल्थ' के कुछ अंश.

पहले स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर की कहानी, जिनका सबसे हिट रोल उनके लिए शाप बन गया

पहले स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर की कहानी, जिनका सबसे हिट रोल उनके लिए शाप बन गया

शुद्ध और असली स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर करियर ग्राफ़ बाद में गिरता ही चला गया.

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

जगह थी मुंबई एयरपोर्ट. अब दस साल बाद फिर से दोनों का नाम एक साथ सुर्ख़ियों में है.

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

अली का रोल करने वाले इंडियन एक्टर अनुपम त्रिपाठी का सलमान-शाहरुख़ कनेक्शन क्या है?

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.