Submit your post

Follow Us

टॉयलेट पेपर की कमी पूरी करने के लिए अख़बार ने आठ पेज खाली छोड़ दिए

कउआ कान ले गया और कउए के पीछे भग लिए. भइया मेरे..पहिले अपना कान तो चेक कर लो.

देसी कहावत है. माने कुछ भी सुनी-सुनाई बातों पर ओवररिएक्ट करने से पहले रियलिटी चेक तो कर लो. अब ये बात हम अटक से कटक तक तो समझा लें, लेकिन ऑस्ट्रेलिया को कौन जाए समझाने!

कोरोना वायरस फैला हुआ है. करेक्ट. दुनियाभर में फैला है. ये भी करेक्ट. लेकिन ऑस्ट्रेलिया में अलग खेला चल रहा है. वहां कुछ भले जानकारों ने भलमनसाहत में बोल दिया कि भई, बीमारी है, लगातार फैल रही है. जाने कब मामला ज्यादा बिगड़ जाए. बेहतर है कि लोग वेरी अर्जेंट कैटेगरी वाला सामान जैसे- खाना, राशन वगैरह थोड़ा-थोड़ा स्टॉक में लेकर रख लें.

स्टॉक करना है..लेकिन क्या?

अब ऑस्ट्रेलिया में लोगों को खाना-राशन ना समझ आया, समझ ये आया कि स्टॉक करना है और स्टॉक क्या किया? टॉयलेट पेपर. जमकर किया, बंडलों-बंडल किया. सुपर मार्केट से इतना टॉयलेट पेपर उठाया गया कि शेल्फें खाली हो गईं. देशभर में टॉयलेट पेपर की किल्लत हो गई. अब उन्हें भी नहीं मिल रहा, जिन्हें स्टॉक नहीं, इस्तेमाल के लिए चाहिए. सिडनी, मेलबर्न और बैंक्सटाउन जैसे शहरों में ये सब दिक्कतें आ रही हैं. मेलबर्न में तो एक सुपर स्टोर में टॉयलेट पेपर के बंडल के लिए दो महिलाएं लड़ तक लीं.

ऑस्ट्रेलिया में #ToiletPaperGate #ToiletPaperCrisis #ToiletPaperEmergency जैसे हैशटैग्स ट्रेंड हो रहे हैं.

फिर अख़बार क्या चाहे- पाठक का भला

वहां के अख़बार NT News ने इसमें भी ‘पाठक का भला’ सोच लिया. आठ पन्ने खाली छाप दिए और कहा- यूज़ कर लो. अख़बार का कहना है कि हमारा तो काम ही है ये सोचना कि पाठक को क्या चाहिए? पाठक को अभी चाहिए टॉयलेट पेपर, तो खाली पन्ने छाप दिए. वही ज़रूरत पूरी हो जाए.

टॉयलेट पेपर का ज़िक्र आया कहां से?

दो जगह से. पहला तो वही ‘स्टॉक कर लो’ वाली बात से, जो अभी ऊपर बताई.

दूसरा- हाईजीन की अत्ति कर देने वालों लोगों से. कोरोना वायरस से बचने के लिए हाईजीन का अच्छा ख्याल रखना है. ठीक बात है. कहा गया कि सैनेटाइज़र, टॉयलेट पेपर जैसी चीज़ों का अच्छे से इस्तेमाल करें. टॉयलेट सीट पर सबसे ज्यादा बैक्टीरिया होते हैं, इसलिए फ्लश करने, सीट छूने जैसे काम भी सीधे हाथ से ना करें. पेपर हाथ में लेकर ही सीट छुएं.

फिर क्या था…सौ से हजार, हजार से लाख और देखते-देखते पूरा देश जुट गया टॉयलेट पेपर खरीदने में. आलम ये है कि अब हेल्थ सेक्टर के जानकार ये समझाने में जुट गए हैं कि यार, इतना भी स्टॉक थोड़े ना करना था.

टॉयलेट पेपर की सेल करीब 15% बढ़ी

ऑस्ट्रेलिया में पिछले एक महीने से भी कम वक्त में टॉयलेट पेपर की सेल करीब 15% बढ़ गई है. प्रोडक्शन भी बढ़ा दिया गया है. फिर भी इतनी मारा-मारी मची है कि टॉयलेट पेपर बनाने वाली बड़ी कंपनी वूलवर्थ्स ने तो पर कस्टमर चार बंडल की लिमिट लगा दी है. इससे ज्यादा टॉयलेट पेपर एक बार में किसी को नहीं मिलेगा.

अब वो स्टॉक कर रहे हैं, करने दीजिए. लेकिन हमें ध्यान रखना है कि पैनिक करना इलाज थोड़े ना है. हेल्थ मिनिस्ट्री की तरफ से, WHO की तरफ से बेसिक एडवाइज़री जारी की जा रही है. उस पर नज़र रखिए और उसी को फॉलो करिए. किसी अफवाह को नहीं. माने वो ‘कौआ कान ले गया’ नहीं करना है.


क्या कोरोना वायरस की वजह से IPL कैंसिल हो जाएगा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

मधुबाला को खटका लगा हुआ था इस हीरोइन को दिलीप कुमार के साथ देखकर

एक्ट्रेस निम्मी के गुज़र जाने पर उनको याद करते हुए उनकी ज़िंदगी के कुछ किस्से

90000 डॉलर का कर्ज़ा उतारकर प्राइवेट जेट खरीद लिया था इस 'गैंबलर' ने

उस अमेरिकी सिंगर की अजीब दास्तां, जो बात करने के बजाए गाने में ज़्यादा कंफर्टेबल महसूस करता था

YES Bank शुरू करने वाले राणा कपूर कौन हैं, जिन्होंने नोटबंदी को 'मास्टरस्ट्रोक' बताया था

यस बैंक डूब रहा है.

सात साल पहले केजरीवाल ने वो बात कही थी जो आज वो ख़ुद नहीं सुनना चाहते

बरसों पुरानी इस बात की वजह से सोशल मीडिया पर घेर लिए गए हैं.

क्या भारत सरकार से पूछे बिना पाकिस्तान चली गई इंडियन कबड्डी टीम?

अब ढेरों खेल-तमाशा हो रहा है.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.