Submit your post

Follow Us

कश्मीरियों तुम्हारी रोल मॉडल ज़ायरा नहीं तो क्या बंदूकची बुरहान है?

उसके हाथ ख़ून से नहीं सने थे
उसने कहीं बम नही फोड़ा था
उसकी किसी दंगे में शिरकत नहीं थी
उसने किसी धर्म के ख़िलाफ़ न कुछ कहा, न किया
उसने तो कपडे भी वल्गर नहीं पहने थे
फिर भी उसने माफ़ी मांग ली है

ज़ायरा वसीम ने माफ़ी मांग ली है. एक सोलह साल की बच्ची के पीछे तमाम मज़हबी शेर इस तरह पड़ गए कि घबरा कर उसे माफ़ी मांगनी ही पड़ी. शमी की बीवी के कपड़ों से निकले तो इस बात का फैसला करने लगे कि किसको किससे मिलना चाहिए. कल को ये भी बता देना कि 24 घंटों में कितनी ऑक्सीजन लेनी है.

ज़ायरा वसीम ने जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती से मुलाक़ात क्या कर ली मज़हब की धरती कंपकंपाने लगी. ज़ायरा को रोल-मॉडल मानने से इंकार करने लगी. ज़ायरा अगर आपकी रोल मॉडल नहीं है कश्मीर वालों, तो कौन है? वो आतंकवादी जो राइफलों की तस्वीर के साथ फ़ोटो डालते हैं सोशल मीडिया पर? वो अलगाववादी नेता जिन्होंने आपको बरसों-बरस महज़ दिलासे दिए हैं, किया कुछ नहीं? या फिर वो मौलवी जो अपनी तक़रीर में ही इतना ज़हर लिए होते हैं कि कोबरा भी शर्मा जाए. कौन है आपका रोल मॉडल?

1

आपको कश्मीर की आज़ादी चाहिए लेकिन कश्मीर में आज़ादी नहीं. इससे पहले भी ‘प्रगाश’ बैंड की लड़कियों से आपने उनके सपने छीन लिए थे. किसी और की आज़ादी को छीन कर अपनी आज़ादी की बात करना न सिर्फ हास्यास्पद है बल्कि बेशर्मी भी है.

pragaash

आप लोग शिकायत करते नहीं थकते कि भारत आपको वो हक़-हुक़ूक़ नहीं देता जिनपर आप अपना अधिकार समझते हैं. एक औसत कश्मीरी को भारत की मुख्यधारा में कम ही जगह मिलती है. इस आरोप की सच्चाई को फिलहाल एक तरफ किनारे रखते हैं. आप बताइये आपने क्या किया भारत की मुख्यधारा में शामिल होने के लिए? जिस ज़ायरा वसीम के फ़ोटो घर-घर होने चाहिए उसे तो आप धमका रहे हो. बुरहान वानी के जनाज़े में भारी भीड़ उमड़ती है. और ज़ायरा को मिलती हैं धमकियां.

पता है जब परवेज़ रसूल का सिलेक्शन हुआ था भारत की क्रिकेट टीम में तो मुझे इंतज़ार था कि कश्मीर की वादियों में जश्न मनाया जाएगा. वो इंतज़ार, इंतज़ार ही रहा. मैं इस वक़्त आपकी आज़ादी की मांग और उससे जुड़े संजीदा मसलों को नहीं छेड़ रहा हूं. उसकी बातें फिर कभी. फिलहाल तो मैं बस आपके इस अहमकाना रवैये की बात करूंगा जिससे आपने फिर एक बार अपने और बाकी के भारत के बीच की लकीर को गहरा किया है.

ज़ायरा सिर्फ एक कलाकार है. और उसने कुछ भी गलत नहीं किया है. झुंड बनाकर उस बच्ची के पीछे पड़ने से आपकी ही छीछालेदर हुई है. इस ग्रैंड लेवल की मूर्खता ज़्यादातर एक ही मज़हब में क्यों पाई जाती है ये सवाल पूरी दुनिया पूछ रही है. डरिये उस सूरत-ए-हाल से कि आपका नाम सुनते ही लोग आपसे दो हाथ दूर छिटकने लगें. हर एक बात में मज़हब घुसेड़ने से ये अंजाम ज़रूर होगा, हो के रहेगा.

z

ज़ायरा के आगे अभी पूरा आसमान है परवाज़ के लिए. उसके पर ना कतरिए. उसके सेल्फ-कॉन्फिडेंस में पलीता ना लगाइए. आप जैसे मज़हबी लड़ाकों को नहीं होगी परवाह, लेकिन हमें है. पूरे देश को है.

अब इन लड़ाकों से उलट उन लोगों की बातें सुन लो जो ज़ायरा के साथ हैं.

आमिर खान का ट्वीट

aam

अनुपम खेर का ट्वीट

2

बबीता फोगाट का ट्वीट

bb

जावेद अख्तर का ट्वीट

javed

दुनिया ज़ायरा के साथ है, आतंकियों के साथ नहीं.


ये भी पढ़ें:

‘दंगल’ बनाने वालों ने आंखें जूम करके 400 करोड़ पर टिका ली हैं

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

YES Bank शुरू करने वाले राणा कपूर कौन हैं, जिन्होंने नोटबंदी को 'मास्टरस्ट्रोक' बताया था

यस बैंक डूब रहा है.

सात साल पहले केजरीवाल ने वो बात कही थी जो आज वो ख़ुद नहीं सुनना चाहते

बरसों पुरानी इस बात की वजह से सोशल मीडिया पर घेर लिए गए हैं.

क्या भारत सरकार से पूछे बिना पाकिस्तान चली गई इंडियन कबड्डी टीम?

अब ढेरों खेल-तमाशा हो रहा है.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.

चाचा शरद पवार ने ये बातें समझी होती तो शायद भतीजे अजित पवार धोखा नहीं देते

शुरुआत 2004 से हुई थी, 2019 आते-आते बात यहां तक पहुंच गई.

रिव्यू पिटीशन क्या होता है? कौन, क्यों, कब दाखिल कर सकता है?

अयोध्या पर फैसले के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड रिव्यू पिटीशन दायर करने जा रहा है.