Submit your post

Follow Us

जब भैय्यूजी महाराज की दूसरी शादी के दिन एक महिला की FB पोस्ट ने हंगामा खड़ा कर दिया

1.19 K
शेयर्स

उदय सिंह देशमुख. उर्फ भैय्यूजी महाराज. भागवत सुनाने वाले गुरु. जो क्रिकेट भी खेलते थे. कुश्ती भी लड़ते थे. मॉडलिंग भी करते थे. घुड़सवारी भी करते थे. तलवार भी चलाना जानते थे. जिनको देखकर कोई कहता, क्या फिल्मी हीरो वाला लुक है. गीता पढ़ने वाले इस आध्यात्मिक गुरु के बीजेपी और कांग्रेस दोनों से रिश्ते थे. बहुत अच्छे रिश्ते. इतने गहरे कि जब नरेंद्र मोदी मुख्यमंत्री रहते हुए सद्भावना उपवास किया, तो उपवास खुलवाने के लिए बुलाए गए संतों में भैय्यूजी महाराज भी शामिल थे. दुनिया ने देखा. हमेशा कैमरे की तरफ देखने वाले मोदी उस दिन नीचे ग्लास की तरफ देख रहे थे. और उन्हें जूस पिला रहे भैय्यूजी महाराज कैमरे की आंखों में आंख डालकर मुस्कुरा रहे थे. 2001 में जब अन्ना हजारे लोकपाल बिल पर अनशन कर रहे थे, तब विलासराव देशमुख ने अन्ना तक पहुंचने के लिए भैय्यूजी महाराज का दरवाजा खटखटाया. उनको दूत बनाकर अन्ना के पास भेजा. इसी के बाद सलमान खुर्शीद और संजीव दीक्षित के साथ मिलकर लोकपाल बिल का एक ड्राफ्ट तैयार कराया गया. ऐसा ड्राफ्ट, जो दोनों तरफ वालों को मंजूर था. क्या मोहन भागवत, क्या उद्धव ठाकरे, क्या राज ठाकरे, क्या शिवराज सिंह चौहान, क्या लता मंगेशकर, सबके साथ रिश्ते थे उनके. इतनी पहुंच वाले इंसान ने खुद को गोली मार ली. बस 50 बरस की उम्र में. पॉइंट ब्लैंक रेंज से.

सितंबर 2011 में नरेंद्र मोदी ने सद्भावना उपवास किया. तब वो गुजरात के मुख्यमंत्री थे. व्रत खुलवाने के लिए कई संतों को बुलाया गया. न्योता पाने वालों में भैय्यूजी भी शामिल थे.
सितंबर 2011 में नरेंद्र मोदी ने सद्भावना उपवास किया. तब वो गुजरात के मुख्यमंत्री थे. व्रत खुलवाने के लिए कई संतों को बुलाया गया. न्योता पाने वालों में भैय्यूजी भी शामिल थे.

मरने की वजह परिवार का कलह है? तो इस कलह की वजह?
पैसा भी था. पहुंच भी थी. राजनीति में भी दबदबा था. ‘होंगे राजे राजकुंवर’ टाइप कितने भी बड़े कद का नेता हो, मगर भैय्यूजी महाराज की पहुंच से बाहर नहीं होता था. उनके आश्रम में मोदी भी पधारे और प्रतिभा पाटिल भी. ढेर समर्थक थे उनके. भक्त-चेले सब थे. सब कुछ भरा-पूरा था. सबके बावजूद ऐसा अंत. क्यों? इसके जवाब में है एक सुसाइड नोट. अंग्रेजी में लिखा हुआ. स्पाइरल वाली नोटबुक की सफेद शीट पर नीली स्याही से लिखा हुआ. जिसमें दो जगह उन्होंने दस्तखत किए. लिखा कि बहुत परेशान हैं. बहुत ज्यादा तनाव में हैं. इस तनाव की एक वजह उनके परिवार में भी है.

एक हीरोइन थी, जिसने एंट्री ली और हंगामा कर दिया
नवंबर 2015 में उनकी पहली पत्नी माधवी की मौत हो गई थी. मई 2017 में उन्होंने दूसरी शादी की. दूसरी पत्नी का नाम आयूषी. भैय्यूजी महाराज का आश्रम तो था ही. ट्रस्ट भी था. कहते हैं कि इसी ट्रस्ट के सोशल मीडिया का काम देखने आयूषी उनके यहां आई थी. बाद में दोनों ने शादी कर ली. पहली पत्नी से भैय्यूजी महाराज की एक बेटी थी. नाम, कुहू. मई 2016 में कुहू ने 10वीं की परीक्षा पास की थी. मतलब बमुश्किल 16-17 साल की रही होगी. वो पुणे में पढ़ाई करती थी. खबरों के मुताबिक, आयूषी और कुहू की बेटी में पटती नहीं थी. दोनों के विवाद में भैय्यूजी महाराज परेशान रहते थे. और शायद ये तनाव उनकी आत्महत्या की बड़ी वजह बना. भैय्यूजी महाराज के कई किस्सों में एक किस्सा उनकी दूसरी शादी का है. पर ये दूसरी पत्नी के बारे में नहीं. एक हीरोइन के बारे में है. एक हीरोइन, जो कहती थी कि उसका प्रमुख पेशा लिखना है जिसने कहा था कि  भैय्यूजी महाराज ने उसे ‘मोहजाल’ में बांध लिया था. हिप्नोटाइज्ड कर लिया था. ये बातें कहने के लिए जो तारीख चुनी गई, उस दिन भैय्यूजी महाराज की दूसरी शादी थी.

मल्लिका राजपूत. यही नाम था उस हीरोइन का. मगर उसकी एंट्री यूं ही नहीं हुई. स्टाइल में हुई. 

भैय्यूजी महाराज के संघ से भी करीबी रिश्ते बताए जाते हैं. कहते हैं कि वो मोहन भागवत के भी काफी करीबी थे. तंत्र-मंत्र में काफी दिलचस्पी थी उनकी. कहते तो ये भी हैं कि वो नेताओं का भविष्य बांचा करते थे. भविष्यवाणी करते थे.
भैय्यूजी महाराज के संघ से भी करीबी रिश्ते बताए जाते हैं. कहते हैं कि वो मोहन भागवत के भी काफी करीबी थे. तंत्र-मंत्र में काफी दिलचस्पी थी उनकी. कहते तो ये भी हैं कि वो नेताओं का भविष्य बांचा करते थे. भविष्यवाणी करते थे.

पहली पत्नी मरी, फिर बोले संन्यास ले रहा हूं
21 नवंबर, 2015. भैय्यूजी महाराज की पहली पत्नी माधवी. औरंगाबाद में मायका. इंदौर में पति का घर. लेकिन अक्सर पुणे में ही रहती थीं. अपनी स्कूल जाने वाली बिटिया के साथ. बेटी के ही साथ थीं कि एकाएक दिल का दौरा आया. एकाएक तबीतय बिगड़ी. पति इंदौर में थे. खबर मिली, तो भागे गए पुणे. अस्पताल ले जाया गया, मगर जान नहीं बची. फिर हेलिकॉप्टर से लाश इंदौर लाई गई. चिता को आग दी गई. आखिरी रिश्ता निभ गया. पत्नी का शोक. अप्रैल 2016 आते-आते भैय्यूजी महाराज ने एकाएक ऐलान किया. कि सार्वजनिक जीवन से संन्यास लेता हूं. बोले, जितना काम कर सकता था वो कर दिया. अब रिटायरमेंट ले रहा हूं. मेरी ‘अंतरात्मा’ कह रही है मुझसे कि अब रिटायर हो जाओ.

ये शादी एकाएक हुई. 30 अप्रैल, 2017 को. अप्रैल 2016 में ही भैय्यूजी ने सार्वजनिक जीवन से संन्यास लेने का ऐलान किया था. उनकी इस दूसरी शादी से पहले सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें वायरल हुई थीं. आयूषी, यानी उनकी दूसरी पत्नी के साथ. जो तब उनकी पत्नी नहीं हुई थीं. कहते हैं कि आयूषी का आश्रम में अक्सर आना-जाना हुआ करते थे. उनके रिश्तों पर फुसफुसाहट होने लगी थी.
ये शादी एकाएक हुई. 30 अप्रैल, 2017 को. कहते हैं कि आयूषी, यानी उनकी दूसरी पत्नी का शादी से पहले अक्सर आश्रम में आना-जाना हुआ करता था. उनके रिश्तों पर फुसफुसाहट होने लगी थी. फिर एक दिन पता लगा कि दोनों ने शादी कर ली है. तब भैय्यूजी की तरफ से कहा गया था कि बूढ़ी मां और बेटी की देखभाल के लिए शादी की है (फोटो: फेसबुक)

संन्यास के एक साल बाद एकाएक शादी की फोटो आई
ठीक एक साल बाद. अप्रैल 2017. महीने का आखिरी दिन. 30 तारीख. खबर आई कि महाराज ने दूसरी शादी कर ली. सिल्क की चमचमाती पीली पगड़ी. चेहरे पर लाल टीका. उसके ऊपर अक्षत के टुकड़े जड़े हुए. गले में लाल और सफेद फूलों की माला. सिल्वर कलर का लिबास. बगल में पत्नी आयूषी. सिर के ऊपर महाराष्ट्र में पहनी जाने वाली मोतियों की लड़ी. जिसको ‘बाशिंग’ कहते हैं. मांगटीका. गुलाबी रंग की साड़ी. गले में सोने का हार. मालूम चला, यही है दूसरी पत्नी. ग्वालियर की रहने वाली. पीएचडी पास. दोनों तरफ के कुछ गिने-चुने, 200 के करीब लोग थे शादी में. शादी नहीं देखी लोगों ने, तस्वीरें जरूर देखीं. हालांकि आयूषी और भैय्यूजी महाराज की ये पहली तस्वीरें नहीं थीं साथ में. शादी से पहले कुछ फोटो वायरल हुई थीं. उनमें भी आयूषी के गले में मंगलसूत्र था. लगता था, शादी कर ली है दोनों ने. शायद इसके बाद ही शादी का फैसला लिया गया. जो भी हो, एकाएक की इस शादी से सब हैरान थे. टोटल शॉक. लोग सोच में. शादी क्यों की? जवाब दिया उनके PA तुषार पाटिल ने. कि बहन और मां शादी का जोर दे रहे थे. सो शादी कर ली. बीमार मां और बड़ी हो रही बेटी के लिए. खैर, ये शॉक फिर भी कम था. असली तमाशा हुआ मल्लिका राजपूत की एंट्री से.

मल्लिका ने बाद में अपना फेसबुक पोस्ट डिलीट कर दिया था.
मल्लिका ने बाद में अपना फेसबुक पोस्ट डिलीट कर दिया था.

अब हुई हीरोइन की एंट्री, जिसने कहा- हिप्नोटाइज कर लिया है
मल्लिका ने फेसबुक पर पोस्ट लिख दिया. कि भैय्यूजी महाराज ने उन्हें मोहपाश में बांध रखा है. कि वो दूसरे नंबरों से छुप-छुपकर फोन मिलाते हैं. तंग करते हैं. कि वो धोखेबाज हैं, चालबाज हैं. मल्लिका का कहना था कि उन्होंने बड़ी मेहनत से भैय्यूजी महाराज पर एक किताब लिखी. किताब की 950 कॉपीज उन्होंने महाराज को दीं. इस बात को ढाई साल हुए, लेकिन भैय्यूजी न किताब वापस करते हैं और न रिलीज ही करते हैं. मल्लिका ने भैय्यूजी महाराज के साथ अपनी कुछ तस्वीरें भी डाल दीं.

इधर से भी इल्जाम, उधर से भी इल्जाम
इस फेसबुक पोस्ट को खूब पब्लिसिटी मिलनी थी. मिली. भैय्यूजी महाराज की तरफ के लोगों ने भी जवाब दिया. उनका निजी सचिव तुषार बढ़कर मल्लिका के पोस्ट पर पहुंचा. कमेंट किया. लिखा कि ये मोहतरमा हमारे आश्रम में आती थीं. मगर हमने इनसे कभी नहीं कहा कि किताब लिखो. कोई इजाजत नहीं दी. फिर भी इन्होंने किताब लिखी. उसमें सारी काल्पनिक चीजें हैं. सो हमने उसको जारी नहीं करवाया. भैय्यूजी और मल्लिका की साथ वाली तस्वीरों पर तुषार ने कहा कि एडिटिंग हुई है. तस्वीरें फर्जी हैं.

लोग चले जाते हैं, किस्से रह जाते हैं
दोनों ने एक-दूसरे पर केस करने की बातें कीं. मल्लिका ने भी केस की धमकी दी. भैय्यूजी महाराज के लोगों ने भी यही धमकी दी. फिर वक्त गुजरा और इस बारे में कुछ सुनने को नहीं मिला. तो लगा कि शायद चीजें अदालत के बाहर ही सलटा ली गईं. जो भी हो, ये आरोप बहुत सनसनीनुमा थे. लोगों को ताज्जुब हुआ. कि जिस इंसान की इतनी पहुंच हो, उसके खिलाफ ये आवाज आई कहां से. अब भैय्यूजी महाराज नहीं हैं. उनके किस्से हैं. ऐसे किस्से कि वो महंगी-महंगी कारों में चलते थे. कुछ महीने कार इस्तेमाल करते. फिर उनके भक्त उसे महंगी कीमतों पर खरीद लेते. श्रद्धा कहिए. आस्था कहिए. या आप जो भी कहिए. हम तो किस्सा कहते हैं.


ये भी पढ़ें: 

नरेंद्र मोदी के करीबी आध्यात्मिक गुरु भैयूजी महाराज ने खुद को गोली मार ली है

उन पांच बाबाओं की कुंडली, जिन्हें मामाजी ने राज्यमंत्री का दर्जा दिया है

क्या है ‘नर्मदा घोटाला’ जिसके चलते शिवराज चौहान ने बाबाओं को मंत्री बना दिया?

अनिल दवे: वो नेता जिसकी वसीयत से हम दुनिया को बचा सकते हैं

एक और लीक: MP में सरकारी नौकरी का पर्चा 5-5 लाख में बिका है

एमपी में 19 साल पहले दिग्गी राज में पुलिस की गोलियों से मारे गए थे 24 किसान


विडियोः कौन हैं महामंडलेश्वर दाती महाराज जिनपर मंदिर में रेप का आरोप लगा है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Bhayyuji Maharaj Death: When an actress named Mallika Rajput accused the spiritual leader of cheating on her, just a day after his second marriage

कौन हो तुम

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

14 मार्च को बड्डे होता है. ये तो सब जानते हैं, और क्या जानते हो आके बताओ. अरे आओ तो.

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?

चेक करो अनुपम खेर पर अपना ज्ञान और टॉलरेंस लेवल

अनुपम खेर को ट्विटर और व्हाट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो.

Quiz: आप भोले बाबा के कितने बड़े भक्त हो

भगवान शंकर के बारे में इन सवालों का जवाब दे लिया तो समझो गंगा नहा लिया

आजादी का फायदा उठाओ, रिपब्लिक इंडिया के बारे में बताओ

रिपब्लिक डे से लेकर 15 अगस्त तक. कई सवाल हैं, क्या आपको जवाब मालूम हैं? आइए, दीजिए जरा..

जानते हो ह्रतिक रोशन की पहली कमाई कितनी थी?

सलमान ने ऐसा क्या कह दिया था, जिससे हृतिक हो गए थे नाराज़? क्विज़ खेल लो. जान लो.

राजेश खन्ना ने किस हीरो के खिलाफ चुनाव लड़ा और जीता था?

राजेश खन्ना के कितने बड़े फैन हो, ये क्विज खेलो तो पता चलेगा.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

फवाद पर ये क्विज खेलना राष्ट्रद्रोह नहीं है

फवाद खान के बर्थडे पर सपेसल.

दुनिया की सबसे खूबसूरत महिला के बारे में 9 सवाल

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.