Submit your post

Follow Us

फैक्टरी डेटा रीसेट करने पर क्या होता है और डेटा को हमेशा के लिए कैसे हटाएं?

आज सुबह मॉर्निंग वॉक करते समय दोस्त ने नया एंड्रॉयड फोन दिखाया. बोला- कितना आसान हो गया है आजकल नया फोन लेना. मैंने भी कुलबुलाहट में पूछा- कैसे भई? दोस्त बोला करना ही क्या था, नए फोन में पुराने फोन से बैकअप ट्रांसफर किया और फिर पुराने फोन को फैक्टरी रीसेट करके छोटे भाई को पकड़ा दिया. मैंने अपने दोस्त से कहा कि काश ऐसा होता, कि ट्रांसफर भर से आपके फोन का पूरा डेटा हमेशा के लिए खत्म हो जाता तो कितना सही रहता. आप भी जान लीजिए कि ये जानकारी सही नहीं है, क्योंकि फैक्टरी रीसेट के बाद भी आपके फोन का डेटा रिकवर किया जा सकता है. ऐसे में क्या करना चाहिए कि पुराने फोन से डेटा हमेशा हमेशा के लिए डिलीट हो जाए? देखें वीडियो.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

इलेक्शन कवरेज

UP चुनाव: लखीमपुर खीरी कांड का वो दिन, किसानों ने एक-एक कर सबकुछ बता दिया

लखीमपुर खीरी में किसानों को कौन रौंदते हुए गुजरा था?

UP चुनाव: अजय मिश्रा टेनी के गांव वालों ने लखीमपुर खीरी कांड पर किसानों को यह क्या कहा?

लखीमपुर खीरी कांड को लेकर बनबीरपुर ने कई अहम बातें बताई हैं.

UP चुनाव: श्रावस्ती के इस गांव के घर में ऐसी-ऐसी चीज़ें मिलीं कि देखकर सोच में पड़ जाएंगे

इस गांव में मुख्य रूप से थारू जनजाति के लोग रहते हैं.

UP चुनाव: PM मोदी पर कॉन्ट्रोवर्शियल टिप्पणी करने वाले भाजपा नेता ने लल्लनटॉप को क्या सफाई दी?

एक दोहे पर की गई विवादास्पद टिप्पणी को लेकर भी वे चर्चा में रहे हैं.

UP चुनाव: UPTET कैंसल होने पर भी छात्रों को श्रावस्ती के इस सेंटर पर सच क्यों नहीं बताया गया?

परीक्षा रद्द होने पर योगी सरकार और प्रशासन पर फूटा छात्रों का गुस्सा.

UP चुनाव: सीतापुर के पास बसे नैमिषारण्य की कहानी जानकर सोच में पड़ जाएंगे

नैमिषारण्य का हिंदुओं के लिए क्या महत्व है?

UP चुनाव: सीतापुर के नेता ज़ुबान से लट्ठ चला रहे थे, तभी ये लड़की बीच में आ बोली

युवाओं ने बताया कि चुनाव में उनकी क्या मांगें हैं?

UP चुनाव: सीतापुर के गांव में मिले बच्चों ने स्कूल के राज़ खोले, फिर आपस में भिड़ गए

गांव आकर पता लगा क्या है यूपी के स्कूलों की हकीकत.

दी लल्लनटॉप शो

दी लल्लनटॉप शो: कृषि कानून वापस हुए, अब NRC और CAA को लेकर मोदी सरकार ने ये संकेत दिया

MSP पर कमेटी बनाने के लिए भी सरकार ने संयुक्त किसान मोर्चा से 5 नाम मांगे हैं.

दी लल्लनटॉप शो: जो ट्रॉमा सेंटर 6 लाख लोगों की जान बचा सकते थे, कब बनाएगी मोदी सरकार?

सड़कों हादसों को कैसे टाला जा सकता है?

दी लल्लनटॉप शो: कोरोना के नए वेरिएंट को अब तक का सबसे खतरनाक क्यों कहा जा रहा है?

भारत में तीसरी लहर आ सकती है?

दी लल्लनटॉप शो: भारत में आबादी अब बढ़ने के बजाय घटने लगेगी?

मुसलमानों पर आबादी बढ़ाने के आरोप कितने सही?

दी लल्लनटॉप शो: मोदी सरकार संसद में बिल लाकर क्रिप्टोकरेंसी को बैन करने वाली है?

इंदिरा गांधी पर क्या बोले यहां के लोग?

दी लल्लनटॉप शो: मनीष तिवारी ने 26/11 के बाद पाक पर कार्रवाई न करने पर UPA को घेरा, तो सवाल उठे

क्या मोदी सरकार के पहले कभी भी सर्जिकल स्ट्राइक नहीं हुई?

दी लल्लनटॉप शो: किसानों ने 6 मांगों के साथ मोदी सरकार को फिर फंसा दिया?

MSP का लीगल राइट देने में क्या अड़चन?

दी लल्लनटॉप शो: PM मोदी के कृषि कानूनों पर फैसले का पूरा विश्लेषण

माफी और यू टर्न की असली वजह ये हैं.

पॉलिटिकल किस्से

अरूसा आलम और कैप्टन अमरिंदर सिंह के संबंधों पर सियासत क्यों हो रही है?

अरूसा को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI से भी जोड़ा जा रहा है.

एंटी CAA-NRC प्रोटेस्ट में गोली चलाने वाले गोपाल की महापंचायत में बोली बातें क्यों वायरल हुईं?

हरियाणा के पटौदी में हुई जनसभा में उसके भाषण का एक वीडियो वायरल हो रहा है.

उत्तर प्रदेश के नेता जितिन प्रसाद, जो दो दशक से कांग्रेसी रहे और अब BJP में शामिल हो गए

2019 के बाद से ही जितिन प्रसाद की भाजपा से नजदीकियां बढ़ रही थीं.

असम का वो नेता, जिसके साथ हुई ग़लती को ख़ुद अमित शाह ने सुधारा था

अब वो राज्य का मुख्यमंत्री बन गया है.

कैसे मुलायम सिंह ने अजित सिंह से यूपी के मुख्यमंत्री की कुर्सी छीन ली?

अजित सिंह के लोकदल अध्यक्ष बनने की प्रक्रिया काफी विवादित रही थी.

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री बनने जा रहे एमके स्टालिन की कहानी फिल्म से कम नहीं

मद्रास शहर की थाउजेंड लाइट्स विधानसभा सीट से स्टालिन पहली बार चुनाव में उतरे.

केरल चुनाव में जीत के साथ पी विजयन ने 64 बरस पुराना कौन सा मिथक तोड़ दिया?

विजयन महज़ 26 साल की उम्र में पहली बार विधायक बने थे.

अखिल गोगोई की कहानी, जिन्हें हाईकोर्ट ने जमानत देते वक्त कहा- सिविल नाफरमानी अपराध नहीं

नेतागिरी से दूर भागने वाले अखिल गोगोई जेल से ही चुनाव लड़ने पर मजबूर हुए.