Submit your post

Follow Us

बारां में लहसुन मंडी में किसानों ने बताया, क्यों आत्महत्या करता है किसान?

राजस्थान में चुनावी यात्रा के दौरान हमने बारां किसान मंडी में जाकर किसानों से बात की. किसानों ने राजनीतिक पार्टी को समर्थन देने से पहले एक बहुत ही खास बात की. वो ये कि वो तो किसी को समर्थन देकर जिता देंगे लेकिन जो भी सरकार बनती है वो कभी किसानों का भला नहीं चाहती है. किसानों को विषम परिस्थितियों में आत्महत्या तक करनी पड़ती है. इस वीडियो में किसान का दर्द भी छलका है.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

झमाझम

हैदराबाद के सरकारी स्कूल में क्सालरूम के अंदर झांकती इस बच्ची की तस्वीर ने कमाल कर दिया

हमारे देश का एक प्राइमरी स्कूल. बाहर खड़ी एक मासूम बच्ची. [...टू बी कंटीन्यूड]

 

लल्लनटॉप अड्डा: तेरे नाम फिल्म के गाने लिखने वाले समीर ने अपने पूरे प्रॉसेस को समझाया

जब सौरभ द्विवेदी से समीर ने हर्जाना मांगने की बात कह दी.

सौरभ द्विवेदी ने RSS नेता सुनील अम्बेडकर से जब महात्मा गांधी की हत्या पर सवाल किया?

हिंदू और हिंदुत्व पर जो कहा, वो जरूर सुनना चाहिए.

1948 के बाय इलेक्शन में क्यों कांग्रेस नेता गोविंद बल्लभ पंत को राम नाम जपना पड़ा था?

उस चुनाव का किस्सा जब कांग्रेस ने राम मंदिर के नाम पर वोट मांग विधायक जितवाया था.

लल्लनटॉप अड्डा: हिमांशू बाजपेयी को अचकचाना पड़ा जब सौरभ द्विवेदी ने उनसे खराब शायरों के नाम पूछ लिए

जब तुर्की में जाकर दास्तान सुनाई.

लल्लनटॉप अड्डा: इरशाद कामिल जब बीच इंटरव्यू एक बात से चौंक गए

इनके स्ट्रगल के दिनों की बातें आपको कुछ सीख जरूर दे सकती हैं.

लल्लनटॉप अड्डा: वरुण ग्रोवर और बीजेपी नेता मनोज तिवारी की मुलाकात

जब 'जिया हो बिहार के लाला' लिखने और गाने वाले एक मंच पर मिले.

लल्लनटॉप अड्डा: बीजेपी के संबित पात्रा को घेरने वाले कांग्रेस प्रवक्ता गौरभ वल्लभ का इंटरव्यू

रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया पर जो कहा, वो सुनकर आप भी हंस पड़ेंगे.

दी लल्लनटॉप शो

देवेंद्र फडणवीस का महाराष्ट्र सीएम के पद से इस्तीफा, अगर बीजेपी-शिवसेना साथ नहीं आए तो राज्यपाल ये करेंगे

शिवसेना से किस बात पर सबसे ज्यादा भड़क गए फडणवीस?

दी लल्लनटॉप शो: सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या ज़मीन विवाद के बाद बारी है RTI, रफाल और सबरीमाला की

अयोध्या भूमि विवाद से इतर सुप्रीम कोर्ट के अब तक के बड़े फैसलों के बारे में जानिए.

UPPCL पीएफ स्कैम के लिए अखिलेश यादव दोषी हैं या योगी आदित्यनाथ? दी लल्लनटॉप शो|Episode-340

यूपी पीसीएल के कर्मचारियों के पीएफ का पैसा कैसे डूब गया?

दिल्ली पुलिस और वकीलों के क्लैश के बाद पुलिस हेडक्वार्टर पर प्रदर्शन लेकिन कोर्ट में 2 नवंबर को हुआ क्या था?

प्रदर्शन कर रहे पुलिस वालों को किरण बेदी की याद क्यों आई?

दिल्ली: वायु प्रदूषण के आगे नरेंद्र मोदी और केजरीवाल सरकार नाकाम । दी लल्लनटॉप शो|Episode 338

साफ हवा की अनदेखी क्यों करती हैं सरकारें?

सौरभ द्विवेदी के सवाल और संबित पात्रा के जवाब

दी लल्लनटॉप अड्डे की झलकियां - कुमार विश्वास से लेकर शेखर कपूर तक.

नरेंद्र मोदी ने जम्मू कश्मीर के आर्टिकल 370 को सरदार पटेल से जोड़ा, प्रियंका गांधी ने RSSको घेरा

साहित्य आज तक में लल्लनटॉप का बुलावा आया है.

कौन हैं मादी शर्मा नाम की बिजनेस ब्रोकर, जिन्होंने EU डेलिगेशन का कश्मीर दौरा तय किया? । दी लल्लनटॉप शो|Episode 335

अमेठी में हिरासत में मौत के बाद यूपी पुलिस फिर विवादों में फंस गई है

पॉलिटिकल किस्से

बाबरी गिरने के बाद बीजेपी नेता कल्याण सिंह के तिहाड़ जेल का किस्सा, सीबीआई उनसे पूछताछ करना चाहती है

कल्याण सिंह ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री थे.

अमित शाह के खास स्वतंत्र देव सिंह की RSS से होते हुए यूपी बीजेपी चीफ बनने की कहानी

जानिए एक पत्रकार रहे कांग्रेस सिंह कैसे बने यूपी बीजेपी चीफ स्वतंत्र देव सिंह.

अटल के मंत्री जसवंत सिंह को परवेज मुशर्रफ ने कैसे धोखा दिया?

भारत के इस विदेश मंत्री पर अमेरिका का पिट्ठू होने का आरोप क्यों लगा?

नरेंद्र मोदी ने भारत रत्न से पहले प्रणब मुखर्जी से क्या अफसोस जताया?

भारत रत्न के ऐलान से पहले प्रणब मुखर्जी और नरेंद्र मोदी में ये बात हुई.

नरेंद्र मोदी के सरकारी बंगले की सुरंग कहां जाती है?

आखिरी में सुरंग का दूसरा दरवाजा भी खुल जाएगा.

राजीव और सोनिया के करीबी बूटा सिंह, जिनके कृपाण से चीफ मिनिस्टर्स डरते थे

वो नेता जो देश का राष्ट्रपति बनते-बनते रह गए.

कहानी MQM के अल्ताफ हुसैन की, जिसे सपोर्ट करने का आरोप भारत पर लगता था

पाकिस्तान की हुकुमत का एक ऐसा दुश्मन, जिससे पड़ोसी मुल्क के हुक्मरान सख्त नफरत करते हैं.

इंदिरा गांधी का वो मंत्री जिसने संजय गांधी को कहा- मैं तुम्हारी मां का मंत्री हूं

जिसे टॉर्चर किया गया, जिसके फेफड़े गल गए और जो ज़्यादा दिन ज़िंदा न रह सकी.