Submit your post

Follow Us

तनिष्क के ऐड को बायकॉट करने वाले कालेकर ज्वैलर्स के इस विज्ञापन की तारीफ़ें करते नहीं रुक रहे

अरे वाह, विज्ञापन हो तो ऐसा. अरे कुछ सीखो तनिष्क वालों, ऐसा होता है ज्वैलरी का विज्ञापन.. फिलहाल ट्विटर पर ट्रेंड हो रहे एक ज्वैलरी ब्रैंड के ऐड पर कुछ ऐसी ही प्रतिक्रियाएं आ रही हैं. असल में इसे तनिष्क के कथित ‘लव जिहाद’ ऐड के मुकाबले ट्विटर पर उतारा गया है. विरोध के चलते तनिष्क को अपना वह विज्ञापन वापस लेना पड़ा था. कालेकर ज्वैलर्स के इस विज्ञापन के तारीफों के पुल वही बांध रहे हैं, जो कल तक तनिष्क के विज्ञापन को ‘लव जिहाद’ बता रहे हैं. आइए जानते हैं क्या है माजरा. देखिए वीडियो.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

इलेक्शन कवरेज

बिहार चुनाव: ओपिनियन पोल से जानिए, नीतीश और तेजस्वी में से कौन मारेगा बाजी?

बिहार में 28 अक्टूबर, 3 और 7 नवंबर को वोटिंग और 10 नवंबर को नतीजे आएंगे.

बिहार चुनाव: जानिए इन 6 कैंडिडेट्स के बारे में, जो अपनी राजनीतिक विरासत आगे बढ़ा रहे हैं

बिहार के बारे में ये नहीं पता, तो समझिए कुच्छो नहीं पता.

बिहार चुनाव: मोहनिया के एक मेडिकल स्टूडेंट ने कहा- 'यहां कोरोना नहीं है'

"नीतीश कुमार ने गरीबों के लिए कुछ नहीं किया".

बिहार चुनाव: इस आदमी ने शराबबंदी के साथ-साथ कोरोना पर भी चौंकाने वाली बात बताई

नीतीश और लालू के बीच मायावती का जिक्र क्यों किया?

बिहार चुनाव: इस क्रिकेट प्लेयर ने बताया रणजी ट्रॉफी की तैयारी में क्या-क्या पापड़ बेलने पड़ते हैं?

बिहार सरकार ने स्पोर्ट्स के लिए कुछ नहीं किया!

बिहार चुनाव: इन बच्चों की बातें सुनकर आपके चेहरे पर भी स्माइल आ जाएगी

"चुनाव जीतने वाले का काम देश की सेवा करना होता है"

बिहार चुनाव: कैमूर के लोगों ने लालू यादव की सरकार के बारे में क्या बताया?

लालू और नीतीश के किए कामों को लेकर जनता आपस में ही भिड़ गई.

बिहार चुनाव: लोगों ने बताया- क्या है नीतीश कुमार की NDA में जगह?

"जब तक नीतीश खुद की सरकार नहीं बनाएंगे, तब तक उनकी नहीं चलेगी"

दी लल्लनटॉप शो

'मालाबार युद्धाभ्यास' में अमेरिका-जापान के साथ अब ऑस्ट्रेलिया को इसलिए बुलाया गया है

क्या लद्दाख का बदला समंदर में लेने वाला है भारत?

मोदी सरकार ने माना, देश में हो रहा कोरोनावायरस का कम्यूनिटी ट्रांसमिशन

असम-मिजोरम में सीमा संघर्ष, अंतरराज्यीय सीमा पर आगज़नी

बलिया में गोली चलाने के आरोपी को क्यों बचा रहे हैं BJP विधायक सुरेंद्र सिंह?

बलिया में सरकारी अफसरों के सामने जयप्रकाश पाल की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

असम सरकार का टैक्सपेयर्स के पैसों से क़ुरान पढ़ाने से इनकार कितना सही?

धार्मिक शिक्षा पर क्या कहता है भारत का संविधान?

चिन्मयानंद पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली लॉ स्टूडेंट ने अब क्या कहा?

बिहार: परीक्षाओं और भर्तियों में गड़बड़ी की युवाओं ने खोली पोल

बजाज और पार्ले 'टॉक्सिक हेट' के खिलाफ खड़े हुए तो टाटा का तनिष्क़ हार क्यों मान गया?

पार्ले और बजाज जैसी कंपनियां क्या संदेश दे रही हैं?

मुख्यमंत्री जगनमोहन ने सुप्रीम कोर्ट के जज रमना की चीफ जस्टिस से क्या शिकायत की?

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने सुप्रीम कोर्ट के जज पर लगाए गंभीर आरोप

तबलीग़ी जमात केस में 'अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता' की बात करती मोदी सरकार का ट्रैक रिकॉर्ड कैसा है?

पत्रकारों पर क्यों नहीं रुक रही है FIR?

पॉलिटिकल किस्से

बिहार का वो मुख्यमंत्री जो बैद्यनाथ मंदिर की ओर चल पड़ा तो देवघर के पंडों में हड़कंप मच गया

पॉलिटिकल किस्सों की खास सीरीज में देखिए बिहार के पहले मुख्यमंत्री श्रीकृष्ण सिंह की कहानी.

श्रीकृष्ण सिंह: बिहार का वो मुख्यमंत्री, जिसकी कभी डॉ. राजेंद्र प्रसाद तो कभी नेहरू से ठनी

बिहार के पहले मुख्यमंत्री श्रीकृष्ण सिंह की कहानी.

अटल के मंत्री जसवंत सिंह को परवेज मुशर्रफ ने कैसे धोखा दिया?

भारत के इस विदेश मंत्री पर अमेरिका का पिट्ठू होने का आरोप क्यों लगा?

नरसिम्हा राव की सरकार में प्रणव मुखर्जी के मंत्री पद छोड़ने का असली कारण क्या था?

क्या वही अफसर, जो कहता था, ‘मैं अपने ब्रेकफास्ट में नेताओं को खाता हूं'?

लोकसभा चुनाव हारने के बाद इंदिरा गांधी ने प्रणब मुखर्जी के लिए उम्मीद से उलट काम किया था

1974 में प्रणब मुखर्जी पहली बार केन्द्रीय मंत्रिपरिषद में शामिल किए गए थे.

बैंकों के राष्ट्रीयकरण पर प्रणब मुखर्जी का वो भाषण जिसे सुनकर इंदिरा गांधी मुग्ध हो गईं

दूसरी बार वित्त मंत्री बनाए जाने की कहानी भी जान लीजिए.

प्रणब मुखर्जी ने ऐसा भी क्या कर दिया था कि उन्हें कांग्रेस से ही निकाल दिया गया?

खुद प्रणव मुखर्जी ने इस बारे में विस्तार से लिखा है.

सात साल के प्रणव मुखर्जी और उनके पिता को जब अंग्रेज अफसर ने 'टाइगर' कह दिया

सुनिए प्रणव मुखर्जी के जीवन से जुड़ा यह अनसुना किस्सा.