Submit your post

Follow Us

निर्मला सीतारमण ने बजट में क्या महंगा किया और क्या सस्ता?

बहनों-भाइयों बजट आ गया है. विद्वान लोग अपने-अपने हिसाब से इसका आकलन करने में जुटे हैं. पर आम आदमी को तो बजट से बस इतना ही लेना-देना होता है कि क्या सस्ता हुआ और क्या महंगा. वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने 5 जुलाई के दिन बजट पेश किया. बजट में कई ऐसे ऐलान हुए, जिससे कुछ चीजें महंगी हो जाएंगी और कुछ सस्ती. तो आइए जान लेते हैं क्या महंगा होगा और किस प्रोडक्ट पर मिलेगी राहत. देखिए वीडियो.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

इलेक्शन कवरेज

गुप्तेश्वर पांडेय ने JDU में एंट्री कर कहा- मुझे खुद सीएम ने बुलाया और शामिल होने के लिए कहा

पुलिस सेवा से VRS लेने के बाद उनके राजनीति में आने के संकेत स्पष्ट थे.

बिहार चुनाव: बीजेपी की तैयारी और उसकी रणनीति टिकी है इन तीन N 'पर', जानिए ये कौन हैं?

दो को तो जानते हैं, लेकिन तीसरा N कौन है?

उपेंद्र कुशवाहा, जिन्होंने पार्टी लाइन से इतर जाकर वोट किया, तो नीतीश का मूड खराब हो गया था

बिहार चुनाव की घंटी बजते ही सियासी गुणा-गणित तेज हो गए हैं.

बिहार के किन-किन नेताओं पर चुनाव के नतीजे आने तक पूरे देश की नज़र रहेगी?

चुनाव की घोषणा कर दी गई है, 10 नवंबर को नतीजे आएंगे.

बिहार विधानसभा चुनाव: नीतीश कुमार, चिराग पासवान से जुड़े इन सवालों के जवाब आपको मिलने वाले हैं!

इनके जवाब से ही तय होगा, अबकी बार किसकी सरकार.

गुप्तेश्वर पांडेय से पहले राजनीति में आने वाले 13 अधिकारी, जिसमें कुछ मंत्री और CM भी बन गए

खबर है कि गुप्तेश्वर पांडे भी चुनाव मैदान में उतरने वाले हैं.

बिहार के DGP ने बताया, कैसे-कैसे अपराधियों से भरा पड़ा था राज्य

राजनीतिक पारी शुरू करने पर भी खूब बात की.

दिल्ली: 2015 के मुकाबले दोगुने हो गए अपराधिक मामलों वाले विधायक

सीएम अरविंद केजरीवाल पर सबसे ज्यादा 13 मामले दर्ज हैं.

झमाझम

सावधान रहें! बेबी डायपर में बेहद ख़तरनाक और जहरीले केमिकल्स के अंश मिले हैं

ये 'टॉक्सिक' सच जानकर दिमाग चकरा जाएगा.

शाओमी ने 6 गैजेट लॉन्च किए हैं, जूता, स्पीकर से लेकर स्मार्टवॉच तक सब मिलेगा

कीमत 499 रुपए से 10,999 रुपए के बीच है.

खून के कितने रंग होते हैं? नीले वाले की क़ीमत जान कर डर सकते हैं आप!

खून के रंगों की असली वजह क्या होती है, विस्तार से समझ लीजिए.

बहरूपिया ढूंढने वाले गेम 'अमंग अस' के पीछे लोग पागल क्यों हुए पड़े हैं?

पॉलिटिक्स और डिप्लोमेसी वाला खेल है ये!

पिता ने लूडो में चीटिंग की, तो बेटी उनके खिलाफ केस करने फैमली कोर्ट पहुंच गई!

लड़की का कहना है कि वो पिता पर बहुत भरोसा करती थी, लेकिन उन्होंने चीटिंग की.

किस्सागो हिमांशु बाजपेई से सुनिए भगत सिंह और अन्य क्रांतिकारियों के दिलचस्प किस्से

भगत सिंह के फिल्मों से इस लगाव के बारे में जानते हैं आप?

टाइटैनिक के जानकारों, उसके बड़े भाई के बारे में जानकर दंग रह जाओगे!

कहानी RMS ओलिम्पिक की, जिसने समुद्र के सीने में लहरें उठवा दीं.

स्मार्टफोन कंपनियों ने आपके फोन में चार-चार कैमरे लगाए हैं, लेकिन काम का सिर्फ एक ही है!

तीन-तीन कैमरों का बोझ बेचारे एक ही कैमरे के कंधों पर होता है.

दी लल्लनटॉप शो

हाथरस: किस झूठ के चलते यूपी पुलिस को अंधेरे में पीड़िता की लाश जलानी पड़ी?

बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में CBI की विशेष अदालत ने सभी आरोपियों को किया बरी.

हाथरस: UP पुलिस ने केस की सबसे भयानक बातों पर दो बड़े दावे किए हैं

इलाज के दौरान पीड़िता की मौत, दिल्ली से लेकर हाथरस तक हंगामा

Covid19 से भी घातक बीमारी जो सिर्फ भारत में है

क्या आप किसी से 'पूरा नाम' पूछते हैं?

COVID-19 की वजह से बिहार विधानसभा चुनाव के लिए चुनाव आयोग ने बनाए ये नियम

भारत बंद: जानिए आज कहां-कहां किसानों ने किया प्रदर्शन?

ऑफसेट पॉलिसी में गड़बड़ दिखाती CAG रिपोर्ट में राफेल डील का उदाहरण क्यों दिया गया?

आसान भाषा में समझिए किसान बिल में MSP का क्या झगड़ा है?

मोदी सरकार ने मानसून सत्र में संसद से क्या बिल पास कराए?

जानिए लोकसभा से पास हुए तीनों लेबर बिल की खास बातें

किन 10 सवालों पर मोदी सरकार ने कहा, नो डेटा अवेलेबल

किसानों की आत्महत्या और प्रवासी मजदूरों की मौत के आंकड़े क्यों नहीं दे रही है मोदी सरकार?

कृषि बिल: राज्यसभा में आज किस बात का हंगामा?

क्या राज्यसभा में सही तरीके से नहीं हुई वोटिंग?

पॉलिटिकल किस्से

अटल के मंत्री जसवंत सिंह को परवेज मुशर्रफ ने कैसे धोखा दिया?

भारत के इस विदेश मंत्री पर अमेरिका का पिट्ठू होने का आरोप क्यों लगा?

नरसिम्हा राव की सरकार में प्रणव मुखर्जी के मंत्री पद छोड़ने का असली कारण क्या था?

क्या वही अफसर, जो कहता था, ‘मैं अपने ब्रेकफास्ट में नेताओं को खाता हूं'?

लोकसभा चुनाव हारने के बाद इंदिरा गांधी ने प्रणब मुखर्जी के लिए उम्मीद से उलट काम किया था

1974 में प्रणब मुखर्जी पहली बार केन्द्रीय मंत्रिपरिषद में शामिल किए गए थे.

बैंकों के राष्ट्रीयकरण पर प्रणब मुखर्जी का वो भाषण जिसे सुनकर इंदिरा गांधी मुग्ध हो गईं

दूसरी बार वित्त मंत्री बनाए जाने की कहानी भी जान लीजिए.

प्रणब मुखर्जी ने ऐसा भी क्या कर दिया था कि उन्हें कांग्रेस से ही निकाल दिया गया?

खुद प्रणव मुखर्जी ने इस बारे में विस्तार से लिखा है.

सात साल के प्रणव मुखर्जी और उनके पिता को जब अंग्रेज अफसर ने 'टाइगर' कह दिया

सुनिए प्रणव मुखर्जी के जीवन से जुड़ा यह अनसुना किस्सा.

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में पहली बार नेतृत्व चयन की दिलचस्प कहानी

डॉ. हेडगेवार के बाद इस तरह सरसंघचालक चुने गए थे माधव राव सदाशिव राव गोलवलकर.

जब मायावती के इस दांव ने अटल बिहारी बाजपेयी को चारों खाने चित्त कर दिया था

संजय गांधी, जो यूपी के सीएम होते होते रह गए.