Submit your post

Follow Us

सुप्रीम कोर्ट ने मूर्तियां लगाने पर क्या फैसला दिया था, जिसमें योगी सरकार छूट मांग रही?

2013 में सुप्रीम कोर्ट ने अपने एक फैसले में इस पर रोक लगा दी. उसने राज्यों से कहा था कि वे सार्वजनिक जगहों पर मूर्तियां लगाने की अनुमति ना दें. लेकिन 8 साल बाद इस रोक में छूट की मांग की जा रही है. उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार की तरफ से. उसका कहना है कि वो प्रदेश की सड़कों पर संतों, धार्मिक नेताओं, स्वतंत्रता सेनानियों, राजनीतिक हस्तियों, शहीदों आदि की मूर्तियां लगाना चाहती है. ऐसा करने के पीछे सरकार के अपने तर्क हैं. लेकिन पहले सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बारे में जानते हैं. देखिए वीडियो.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

इलेक्शन कवरेज

UP चुनाव: एटा में हिंदू-मुस्लिम बहस के बीच इस कवि ने अपनी कविता से माहौल लूट लिया

यहां लोग अखिलेश या चचा शिवपाल में से किसे अच्छा लीडर मानते हैं.

UP चुनाव: हाईटेंशन बिजली का तार झूल रहा था, कारण पूछने पर गांव वालों ने चुनावी पंचायत समझा दी

एटा में क्या है विधानसभा चुनाव को लेकर लोगों का मूड?

UP चुनाव: फिरोजाबाद में बढ़ते डेंगू के केस देख गुस्साए लड़के ने सौरभ द्विवेदी से क्या शिकायत की?

महंगाई, रोजगार और बाल श्रम जैसे मुद्दों पर भी खुलकर बात हुई.

UP चुनाव: मैनपुरी की इन महिलाओं ने CM योगी और PM मोदी की तारीफ कर ये सब मांग लिया!

महंगाई को लेकर महिलाओं ने मोदी सरकार पर क्या बोला?

UP चुनाव: मुलायम के गढ़ में किसानों ने बताया, योगी और अखिलेश में से किसकी सरकार बनेगी?

CM योगी के कामकाज से कितने संतुष्ट हैं यहां के लोग?

UP चुनाव: फिरोजाबाद में गांव की इन लड़कियों ने योगी और अखिलेश में से अपनी पसंद बता दी

रोजगार, शिक्षा और सामाजिक पाबंदियों जैसे मुद्दों पर खुलकर बातें हुईं.

UP चुनाव: इन लड़कियों ने बताया, पढ़ाई छोड़ चुके भाई अपनी बहनों को चूल्हा चौका करने की नसीहत दे रहे हैं

लड़कियों ने बताया उन्हें हर रोज किन चुनौतियों का सामना करना पड़ता है?

UP चुनाव: आगरा में जाट वोटों का गणित बताते-बताते आपस में ही क्यों भिड़ गए लोग?

योगी सरकार के कामकाज से यहां लोग कितनी संतुष्ट?

दी लल्लनटॉप शो

दी लल्लनटॉप शो: असम पुलिस के बचाव में मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा सरमा क्या तर्क देने लगे?

ट्वीटर पर आज 'आई स्टैंड विद असम पुलिस' वाले ट्रेंड चलाए गए.

दी लल्लनटॉप शो: दिल्ली हाईकोर्ट के इस आदेश के बाद सरकारी नौकरी वाले सचेत हो जाएं!

'सरकारी कर्मचारी रिटायरमेंट प्रूफ नहीं हो सकता'.

दी लल्लनटॉप शो: अवैध धार्मिक स्थलों को लेकर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ कर्नाटक में बिल क्यों?

मंदिर और मस्जिद ढहाने में कर्नाटक सरकार पक्षपात कर रही है?

दी लल्लनटॉप शो: महंत नरेंद्र गिरि और शिष्य आनंद गिरी के बीच किस बात पर विवाद था?

नरेंद्र गिरी 20 सितंबर की शाम को प्रयागराज के बाघंबरी मठ में मृत मिले थे.

दी लल्लनटॉप शो: चरणजीत सिंह चन्नी के दलित चेहरे के सहारे कांग्रेस विधानसभा चुनाव जीत पाएगी?

कैप्टन के इस्तीफे के बाद कांग्रेस के कई बड़े नेता CM पद की दौड़ में थे.

दी लल्लनटॉप शो: तालिबान से लेकर चीन तक भारत की विदेश नीति उलझ गई है?

मोदी सरकार में भारत का झुकाव रूस के बजाय अमेरिका की तरफ बढ़ा है.

दी लल्लनटॉप शो: हिमाचल में सेब की कीमत को लेकर अडानी के खिलाफ प्रदर्शन क्यों हो रहा है?

किसानों ने मांगें नहीं मानने पर बड़े प्रदर्शन की चेतावनी सरकार को दी है.

दी लल्लनटॉप शो: चुनाव से पहले योगी सरकार को महेंद्र प्रताप की विरासत सहेजने की याद क्यों आई?

राजा महेंद्र प्रताप जाट समुदाय से थे.

पॉलिटिकल किस्से

एंटी CAA-NRC प्रोटेस्ट में गोली चलाने वाले गोपाल की महापंचायत में बोली बातें क्यों वायरल हुईं?

हरियाणा के पटौदी में हुई जनसभा में उसके भाषण का एक वीडियो वायरल हो रहा है.

उत्तर प्रदेश के नेता जितिन प्रसाद, जो दो दशक से कांग्रेसी रहे और अब BJP में शामिल हो गए

2019 के बाद से ही जितिन प्रसाद की भाजपा से नजदीकियां बढ़ रही थीं.

असम का वो नेता, जिसके साथ हुई ग़लती को ख़ुद अमित शाह ने सुधारा था

अब वो राज्य का मुख्यमंत्री बन गया है.

कैसे मुलायम सिंह ने अजित सिंह से यूपी के मुख्यमंत्री की कुर्सी छीन ली?

अजित सिंह के लोकदल अध्यक्ष बनने की प्रक्रिया काफी विवादित रही थी.

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री बनने जा रहे एमके स्टालिन की कहानी फिल्म से कम नहीं

मद्रास शहर की थाउजेंड लाइट्स विधानसभा सीट से स्टालिन पहली बार चुनाव में उतरे.

केरल चुनाव में जीत के साथ पी विजयन ने 64 बरस पुराना कौन सा मिथक तोड़ दिया?

विजयन महज़ 26 साल की उम्र में पहली बार विधायक बने थे.

अखिल गोगोई की कहानी, जिन्हें हाईकोर्ट ने जमानत देते वक्त कहा- सिविल नाफरमानी अपराध नहीं

नेतागिरी से दूर भागने वाले अखिल गोगोई जेल से ही चुनाव लड़ने पर मजबूर हुए.

गुलाम नबी आज़ाद के जाबड़ किस्से, जिनके दोस्त हर पार्टी में हैं!

जब वाजपेयी पर हमले कर रहे संजय गांधी का कुर्ता खींच दिया था.