The Lallantop
Advertisement

प्लंबर, पेंटर, इलेक्ट्रीशियन सब आपके घर अब सरकार भेजेगी, यूपी वालों के लिए तो जबर व्यवस्था हो गई

Sewa Mitra ऐप Uttar Pradesh Government ने बनाया है. इससे घर बैठे कई सर्विसेज आपको मिलेंगी. ऐप में कई खूबियां हैं. लेकिन, इसको इस्तेमाल कौन कर सकता है, वो नहीं बताया. यहीं पर एक 'खेल' है.

Advertisement
Sewa Mitra App: one-stop solution for carpenters, electricians, plumbers, and everything
सेवा मित्र ऐप
29 जनवरी 2024 (Updated: 29 जनवरी 2024, 16:00 IST)
Updated: 29 जनवरी 2024 16:00 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

कारपेंटर, प्लंबर, पेंटर, इलेक्ट्रीशियन की जरूरत हम सभी को पड़ती है. आमतौर इस प्रकार की सर्विस के लिए मोहल्ले की कोने वाली दुकान या पड़ोस वाले चचा काफी होते हैं. उनके पास सभी के नंबर होते हैं. जो इससे काम नहीं चले तो आजकल कई सारे ऐप भी उपलब्ध हैं. ऐसा ही एक बढ़िया ऐप है Sewa Mitra. रोजमर्रा के तकरीबन हर छोटे-मोटे काम के लिए यहां सर्विस उपलब्ध है. इतना ही नहीं ऐप को डेवलप किया है उत्तर प्रदेश सरकार ने. तो फर्जीवाड़े की भी चिंता नहीं. सब चंगा सी, मगर एक बात गंदा सी. हर कोई इसकी सर्विस का इस्तेमाल नहीं कर सकता. पर क्यों?

वही तो हम आपको बताने वाले हैं. वजह है सोशल मीडिया पर फैला रायता. सरकार की तरफ से कोई दिक्कत नहीं और कोई तकनीकी झोल भी नहीं. ऐप एकदम मक्खन की तरह चलता है. पूरा मामला हम बताते हैं.

दरअसल, Sewa Mitra ऐप को लेकर सोशल मीडिया पर भतेरे वीडियो वायरल हो रखे हैं. हर ऐप में इसकी खूबियों के बारे में बताया जा रहा. मसलन एक कॉल पर सर्विस मिल जाएगी. फिजूल में एक्स्ट्रा पैसा नहीं देना पड़ेगा. वगैरा-वगैरा. एकदम सही बात है. ऐप वाकई में ऐसा ही है. मगर सिर्फ उत्तर प्रदेश में रहने वालों के लिए या फिर उत्तर प्रदेश की सीमा में होने पर ही आप इसका लाभ उठा सकते हैं.

सेवा मित्र ऐप

आसान भाषा में समझाते हैं. भई ऐप डेवलप किया है उत्तर प्रदेश सरकार ने. बोले तो स्टेट गवर्मेंट ने. जाहिर सी बात है कि ऐप उत्तर प्रदेश के शहरों और कस्बों को कवर करता है. ऐसा है भी. आगरा से लेकर वाराणसी तक सारे शहर और कस्बे इसमें नजर आते हैं. ऐप अगर केंद्र सरकार ने बनाया होता तो फिर अलग बात होती. इसलिए सोशल मीडिया पर दिख रहे पोस्ट के भरोसे नहीं रहें. हां, जो आप उत्तर प्रदेश में रहते हैं तो ऐप आपके बिल्कुल काम का है.

ऐप में आपको कई काम की सर्विस मिल जाएंगी. ज्यादातर सर्विस का बेस 199 रुपये से स्टार्ट होता है. मसलन कार और बाइक रिपेयर या फिर कारपेंटर. डॉक्टर का भी जुगाड़ है जिसके लिए 400 रुपये का भुगतान करना होगा. ऐप या सर्विस से जुड़ी कोई दिक्कत है तो हेल्पलाइन नंबर भी है. 15530

दिक्कत है तो बस फोन घुमा दीजिए.

वीडियो: महादेव ऐप स्कैम में डाबर ग्रुप का कनेक्शन? गौरव बरमन और मोहित की आ गई सफ़ाई

thumbnail

Advertisement