The Lallantop
Advertisement

भारत ने पाकिस्तान को हराकर जीता एशिया कप टी 20

भारत ने रिकॉर्ड 6ठी बार एशिया कप जीता है

Advertisement
Img The Lallantop
सौजन्य: BCCI
4 दिसंबर 2016 (Updated: 4 दिसंबर 2016, 10:39 IST)
Updated: 4 दिसंबर 2016 10:39 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

भारत ने पाकिस्तान को 17 रन से हराकर एशिया कप टी 20 का खिताब लगातार रिकॉर्ड 6ठी बार जीत लिया है. भारत ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए पाकिस्तान को जीत के लिए 122 रन का लक्ष्य दिया. जवाब में पाकिस्तान की टीम 104 रन ही बना पाई. बैंकॉक के एआईटी ग्राउंड पर पहले बल्लेबाज़ी करते हुए धीमी पिच पर भारत ने 121-5 रन बनाए. भारत की पारी की स्टार रहीं, ओपनर मिताली राज. एक छोर पर विकेट गिरते रहे लेकिन ओपनिंग करने आईं मिताली ने 65 गेंदों पर 73 रन बनाए और आखिर तक नॉट आउट रहीं. आखिर में झूलन गोस्वामी ने 10 गेंदों में 2 छक्कों के साथ फटाफट 17 रन बनाए. इन दोनों के अलावा कोई भी खिलाड़ी 10 रन का आंकड़ा नहीं छू पाई.

लक्ष्य का पीछा करते हुए एक बार तो लगा कि ये मैच आखिर तक जाएगा. आखिरी 10 ओवरों में 7 विकेटों के साथ पाकिस्तान को 66 रनों की ज़रूरत थी लेकिन सही समय पर भारत को विकेट मिलते रहे और पाकिस्तान की टीम सिर्फ 104-6 रन तक ही पहुंच पाई. पाकिस्तानी कप्तान बिस्माह मरूफ़ ने सबसे ज़्यादा 25 रन बनाए. झूलन गोस्वामी और एकता बिष्ट ने भारत को शुरूआती कामयाबियां दिलाईं और जब लगा कि मैच भारत-पाकिस्तान लीग मैच की तरह रोमांचक होगा स्पिनर्स ने थोड़े-थोड़े समय पर विकेट लेने शुरू कर दिए. प्रीति बोस, शिखा पांडे और अंजुला पाटिल को 1-1 कामयाबी मिली. भारत की पुरूष टीम बैटिंग पर थोड़ा ज्यादा निर्भर करती है, लेकिन महिला टीम की गेंदबाज़ी बल्लेबाज़ी से थोड़ी बेहतर है. आखिर के 5 ओवरों में पाकिस्तान के लिए रनों का सूखा पड़ गया और अंतर बढ़ते-बढ़ते लक्ष्य विकेट हाथ में होने के बावजूद पहुंच से बाहर हो गया. कल ही अपना 34वां जन्मदिन मनाने वाली मिताली राज को प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट और प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया.


सौजन्य : मिताली राज ट्विटर
सौजन्य : मिताली राज ट्विटर

भारत-पाकिस्तान में कभी भी, कहीं भी, कोई भी मैच क्यों न हो रोमांचक हो जाता है. लीग मैचों में दोनों टीमों का मैच आखिरी ओवर तक गया था. पाकिस्तान ने भारत को जीत के लिए 97 रन का लक्ष्य दिया था जिसके जवाब में भारत की टीम ने 4 गेंदे शेष रहते हुए 5 विकेट खोकर हासिल किया. उस मैच में बल्ले से 26* और गेंद से 2-16 के साथ कप्तान हरमनप्रीत कौर प्लेयर ऑफ द मैच बनीं. भारत-पाकिस्तान के इन मुकाबलों से पहले आईसीसी ने भारत पर पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय टूर्नामेंट के 3 मैच न खेलने पर ज़ुर्माना लगाया था और रैंकिंग अंक पाकिस्तान को दे दिए थे. BCCI ने ICC से इस बात की शिकायत भी की थी और 'समझाया' था कि रैंकिंग पोइंट वापिस नहीं दिए गए तो अगले साल पुरूष ICC चैंपियन्स ट्रॉफी के भारत-पाकिस्तान मैच का बहिष्कार कर दिया जाएगा
. BCCI और ICC दोनों ही के प्रमुख भारतीय हैं.

इस हो-हल्ले को पीछे छोड़-छाड़ के भारत की टीम पूरे टूर्नामेंट में भारत ने शानदार खेली. नेपाल के खिलाफ भारत ने 121 रन का लक्ष्य दिया और नेपाली टीम को सिर्फ 21 रन पर ऑल आउट कर दिया. नेपाल के खिलाफ भारत मिताली राज, झूलन गोस्वामी जैसी अनुभवी खिलाड़ियों के बिना उतरा था. श्रीलंका के खिलाफ मैच में भी भारत ने 121 रन का लक्ष्य रखा था और 52 रन से जीत मिली थी. उस मैच में मिताली राज ने 56 गेंदों में 62 रन बनाए थे. मेज़बान थाई टीम के खिलाफ भारत ने पहले गेंदबाज़ी करते हुए थाई टीम को सिर्फ 69 रन बनाने दिए और फिर 9 विकेट से जीत हासिल कर ली. अपने पहले मैच में भारत ने बांग्लादेश को 64 रन से हराया था. मिताली राज ने उस मैच में 49* रन बनाए थे.

भारत एशिया कप में कभी भी कोई मैच नहीं हारा है और ये रिकॉर्ड 6ठी जीत है. 2012 चीन गुआंगझू में एशिया कप का पहला टी 20 वर्जन खेला गया था.


सना मीर (बीच में) इंजनीयरिंग की पढ़ाई बीच में छोड़ क्रिकेट खेल रही हैं. एशियन गेम्स में पाकिस्तान को एकमात्र गोल्ड दिलवाया था
सना मीर (बीच में) इंजनीयरिंग की पढ़ाई बीच में छोड़ क्रिकेट खेल रही हैं. एशियन गेम्स में पाक टीम ने सना मीर की कप्तानी में सोना जीता था. वो पाकिस्तान का एकमात्र स्वर्ण पदक रहा

पाकिस्तान की महिला टीम ने एशियन गेम्स 2014 में स्वर्ण पदक जीता था, वह मेडल पाकिस्तान का एकमात्र स्वर्ण पदक था. भारत की टीम ने उस टूर्नामेंट में भाग नहीं लिया था. BCCI को डर है कि एशियन गेम्स और ओलंपिक में क्रिकेट के जाने से क्रिकेट का नियंत्रण ओलंपिक कमिटी वालों के पास चला जाएगा. दोनों टीमें एशिया में तो सुपर पावर है लेकिन महिला क्रिकेट में अभी भी वही हाल है जो एशियन टीमों के उदय से पहले था. ICC टूर्नामेंटों में इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड का दबदबा रहता है. इस साल टी20 वर्ल्ड कप जीतकर महिला वेस्ट इंडीज़ टीम ने शुरूआत की है. अगर एशियाई टीमें लगातार खेलने लगें तो शायद वो दबदबा टूट पाए, ICC इवेंट्स में खेल बराबरी का होने लगे और महिला क्रिकेट भी लोकप्रिय हो जाए. एशियन चैंपियन भारत का अगला लक्ष्य अगले साल इंग्लैंड में होने वाला वर्ल्ड कप है.

झूलन गोस्वामी : लड़कों ने स्लो बॉलर बोल के भगा दिया तो दुनिया की सबसे तेज़ गेंदबाज बन गई

thumbnail

Advertisement